महाधिवक्ता विवाद: पूर्व और वर्तमान मुख्यमंत्री आमने-सामने, बघेल ने कहा, ‘रमन सिंह को पीड़ा क्यों हो रही है’

रायपुर (एजेंसी) | राज्य में महाधिवक्त पद का मामला और गहराता जा रहा है। सोमवार को प्रदेश के पूर्व और वर्तमान मुख्यमंत्री मुद्दे पर आमने-सामने हो गए। डॉ. रमन सिंह ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को संविधान के तहत लिए गए शपथ का पालन की बात कही। वहीं बघेल ने सवाल उठाया कि इस मुद्दे पर डॉ. सिंह को इतना दर्द क्यों हो रहा है।

देश का संविधान सर्वोपरि है – रमन सिंह 

पूर्व सीएम और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह ने ट्विट कर कहा, “मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी राजनैतिक पद की समय सीमा होती है परन्तु देश का संविधान सर्वोपरि है। आपके शासनकाल में राज्य के महाधिवक्ता को अपने पद पर कर्तव्य निर्वहन करने के लिए राज्यपाल की शरण लेनी पड़ रही है। आपने जनादेश प्राप्ति के बाद जिस संविधान के अंतर्गत शपथ ली थी उसका पालन करें।”

अब इनको पीड़ा क्यों हो रही है – भूपेश बघेल

इधर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सरगुजा रवाना होने से पहले पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री ने कहा कि महाधिवक्ता के मुद्दे पर विधि विभाग ने कार्रवाई की है। इस मुद्दे पर उन्हें (डॉ. सिंह) क्यों पीड़ा क्यों हो रही है। जहांं तक कनक तिवारी की बात है, तो वो मेरे ससुर के साथ पढ़े हैं। उनके क्लासमेट रहे हैं। 80 साल के बुजुर्ग हैं। मैं उनका सम्मान करता हूं, पैर छूता हूं। जहां तक प्रशासनिक कार्य की बात है, तो ये विधि विभाग ने कार्यवाही की है। सीएम ने डाॅ. रमन सिंह के ट्वीट पर कहा कि अब इनको पीड़ा क्यों हो रही है।

सतीशचंद्र वर्मा की नियुक्ति से विवाद  

पूर्व महाधिवक्ता कनक तिवारी ने राज्यपाल से मुलाकात कर उनके सामने अपना पक्ष रखा है। इस पूरे मुद्दे पर राजनीति गरमायी हुई है। महाधिवक्ता के पद से कनक तिवारी को हटाए जाने और सतीशचंद्र वर्मा को नया महाधिवक्ता बनाए जाने को लेकर पिछले कुछ दिनों से विवाद चल रहा है। डॉ. सिंह ने दो बार इस पर ट्वीट कर इस प्रकरण में सरकार पर निशाना साधा है।

Leave a Reply