Chhattisgarh

बलरामपुर दुष्कर्म मामला: विधायक ने सदन में अपनी ही सरकार पर उठाए सवाल, मुख्यमंत्री ने 7 पुलिसकर्मियों को निलंबित करने के दिए निर्देश

रायपुर | गुरुवार को विधानसभा में बलरामपुर जिले में हुए बच्ची के दुष्कर्म का मामला उठाया गया। क्षेत्र के विधायक बृहस्पति सिंह ने कहा कि इस मामले में पुलिस ने कार्रवाई नहीं की। बच्ची के परिजन जब रिपोर्ट लिखवाने थाने गए तो इनकी बात नहीं सुनी गई। विपक्ष भी इस मुद्दे पर हंगामा करने लगा।

मामले को संवेदनशील बताते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस मामले से जुड़े सात पुलिसकर्मियों को निलंबित करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि इस मामले की सात दिनों में रिपोर्ट लेकर पूरी कार्रवाई की जाएगी। पुलिसकर्मी उमेश बघेल, अखिलेश सिंह, के पी सिंह, जोहान, सुधीर, अजय, शशि तिर्की को निलंबित किया गया।

कुछ दिनों पहले जिले में हुई इस घटना में करीब 12 घंटे तक बच्ची के परिजन थाने में बैठे रहे। इसके बाद शिकायत विधायक से की गई थी। विधायक ने तब मामले को संज्ञान में लेते हुए आईजी से बात की और रिपोर्ट दर्ज कराई तब आईजी ने टीआई सहित सात पुलिसकर्मियों को लाइन अटैच किया गया था।

इस मामले में पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार किया, जबकि अन्य आरोपी अभी भी फरार हैं। बच्ची को अगवा कर आरोपियों ने सामूहिक दुष्कर्म किया था। इस मामले में सीएम बघेल ने कहा कि इस तरह के गंभीर अपराधों की जांच में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दास्त नहीं की जाएगी। पुलिस का काम लोगों को सुरक्षा देना और उनके हितों की रक्षा करना है।

Leave a Reply