Chhattisgarh India

खाद्य मंत्री भगत ने की रायपुर और सरगुजा में घरेलू गैस के लिए पाइपलाइन की मांग,धान से ईंधन बनाने पर भी चर्चा

रायपुर | छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर और सरगुजा में घरेलू गैस की सप्लाई पाइपलाइन के जरिए हो सकती है। इसकी मांग प्रदेश के खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने केंद्र सरकार से की है। गुरुवार को मंत्री भगत भारत सरकार के पेट्रोलियम मंत्रालय और इण्डियन ऑयल कार्पोरेशन द्वारा नई दिल्ली में सिटी गैस वितरण विषय पर आयोजित कार्यशाला में शामिल हुए। इस बैठक में  केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद थे। खाद्य मंत्री भगत ने बताया कि भारत सरकार के पेट्रोलियम और गैस मंत्रालय द्वारा छत्तीसगढ़ में प्रारंभिक तौर पर पाइप लाईन के माध्यम से गैस वितरण के लिए बिलासपुर और कोरबा जिले को चयन किया गया है।

उन्होंने इस कार्यशाला में छत्तीगढ़ में धान से एथेनाल (ईंधन का एक प्रकार)  बनाने की कार्ययोजना और प्रस्ताव पर भी चर्चा की। जल्द ही प्रदेश में इस पर काम शुरू किया जा सकता है। पाइप प्राकृतिक गैस (पीएनजी) से घरेलू क्षेत्र में खाना पकाने और हीटिंग, कूलिंग के लिए प्राकृतिक गैस का निरंतर सप्लाई पाइप लाईन के माध्यम से किया जाएगा। पाइप लाईन नेटवर्क में दबाव को नियंत्रण रखने के लिए सेफ्टी वाल्ब लगाए जाएंगे। इससे किसी प्रकार की गैस रिसाव आदि संबंधी खतरा नहीं रहेगा।

मंत्री अमरजीत भगत के मुताबिक पीएनजी के अलावा सीएनजी का प्रयोग परिवहन क्षेत्र में ईंधन के तौर पर किया जाएगा। ताकि शहरी इलाकों में प्रदूर्षण कम हो सके। कार्यशाला में बताया गया कि प्राकृतिक गैस आधुनिक युग का ईंधन है। इसके एक अणु में कार्बन का केवल एक और हाइड्रोजन के चार परमाणु है। प्राकृतिक गैस में कार्बन और हाइड्रोजन का सबसे न्यूनतम अनुपात है और यह पूरी तरह जल जाती है। इस कारण इसे स्वच्छतम जीवाश्म ईंधन के तौर पर जाना जाता है। प्राकृतिक गैस कम कीमत पर मिल सकने वाला ईंधन है। दुनिया के कई देश अब इसकी ओर अग्रसर हैं।

Leave a Reply