Politics

कोरोना वायरस: स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव के प्रस्ताव पर विधानसभा 25 मार्च तक स्थगित, मास्क लगाकर विधानसभा में पहुंचे थे मुख्यमंत्री

रायपुर | कोरोनावायरस के संक्रमण से बचने को लेकर सोमवार को विधानसभा में जमकर हंगामा हुआ। स्पीकर डाॅ. चरण दास महंत ने 25 मार्च तक विधानसभा स्थगित करने की घोषणा कर दी है। इसके बावजूद विपक्ष का विरोध रुक नहीं रहा। विपक्ष के विधायक सदन के अंदर बैठ गए। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव सदन के स्थगन का प्रस्ताव लेकर आए थे।

इसके बाद विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया था। हालांकि इस बीच विधानसभा अध्यक्ष ने प्रश्नकाल को स्थगित कर दोपहर 12 बजे फिर से सदन की कार्यवाही शुरू की और सदन स्थगित करने की घोषणा कर दी। इससे पहले सदन की कार्यवाही स्थगित किए जाने के विरोध में विपक्ष ने कार्यसूची फाड़कर स्पीकर की ओर फेंकी। भाजपा विधायक कार्यवाही स्थगित किए जाने के विरोध में गर्भगृह में धरने पर बैठ गए।


उनके समर्थन में जेसीसीजे के सदस्य भी सदन में मौजूद रहे। पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह, नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, भाजपा विधायक बृजमोहन अग्रवाल, अजय चंद्राकर, पुन्नूलाल मोहले, शिवरतन शर्मा, कृष्णमूर्ति बांधी, सौरभ सिंह, रंजना साहू, रजनीश सिंह, जोगी कांग्रेस के धरमजीत सिंह, डॉ रेणु जोगी, ननकी राम कंवर, प्रमोद शर्मा, नारायण चंदेल सदन के अंदर धरना दे रहे।

प्रश्नकाल चलाने को लेकर भी हुआ था हंगामा

सोमवार को विधानसभा का सत्र बुलाया गया था। इसके पहले सदन की कार्यवाही शुरू होती, जनता कांग्रेस विधायक धर्मजीत सिंह ने कहा कि अफसरों में से किसी ने मास्क नहीं लगाया है, इससे साबित होता है वे कोरोना को लेकर कितना गंभीर हैं। भाजपा सदस्यों ने कहा प्रश्नकाल होना चाहिए।

उसके बाद कोरोना को लेकर चर्चा हो। इसके बाद प्रश्नकाल चलने देने की मांग को लेकर हंगामा होने लगा। भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने कहा कि सदन में गलत परंपरा की शुरुआत हो रही है। शिवरतन शर्मा ने कहा कि संसदीय कार्य मंत्री रहते हुए सारी परंपराओं को तोड़ा जा रहा है।

विपक्ष ने सत्तापक्ष के प्रस्ताव पर प्रश्नकाल स्थगित किए जाने को संसदीय इतिहास का काला दिन बताया। उन्होंने कहा कि अध्यक्ष की सहभागिता उसमें शामिल है, इसका विपक्ष को खेद है। वहीं संसदीय कार्य मंत्री रविंद्र चौबे ने कहा कि प्रधानमंत्री ने कल ही सार्क देशों के प्रमुखों से कोरोना को लेकर बात की है।

सदन की कार्यवाही में भाग लेने के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, स्पीकर डॉ. चरणदास महंत सहित मंत्रिमंडल के सभी सदस्य मास्क लगाकर विधानसभा पहुंचे थे। सरकार ने तीन दिन पहले ही 25 मार्च तक विधानसभा स्थगित करने की घोषणा कर दी थी।

Leave a Reply