Chhattisgarh

गृह मंत्री ने ज्वेलर्स चोरी का तत्परता से पता लगाने पर पुलिस टीम का मनोबल बढ़ाने की पांच लाख रूपये इनाम की घोषणा

रायपुर | गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने भिलाई के पारख ज्वेलर्स में करोड़ों की चोरी का तत्परता से पता लगाने पर पुलिस टीम का मनोबल बढ़ाने के लिए पांच लाख रूपये इनाम की घोषणा की है। उन्होंने चोरों के खिलाफ त्वरित कार्रवाई करते हुए चोरी का खुलासा करने पर दुर्ग रेंज के पुलिस महानिरीक्षक विवेकानंद सिन्हा एवं पुलिस अधीक्षक अजय यादव सहित पूरी टीम को बधाई और शुभकामनाएं दी।

बता दे भिलाई स्थित पारख ज्वेलर्स में करोड़ों की चोरी करने वाले आरोपी को पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। मामले में कवर्धा निवासी लोकेश को पकड़ा गया है। लोकेश पेशेवर चोर है, उसने इससे पहले 20 चोरियां की हैं। फिल्म धूम के अंदाज में इस घटना को अंजाम दिया था। चोर शोरूम में रात में दाखिल हुआ। वह अंदर दीवार तोड़ता रहा, थकने पर किचन से पानी पीया और सो गया।

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी लोकेश

कुछ देर बाद उठा और 2.67 करोड़ के जेवर और नकदी ले गया। घटना मंगलवार-बुधवार की दरम्यानी रात में हुई थी। करीब 36 घंटों तक चली छानबीन के बाद आखिरकार आरोपी पकड़ा गया। पुलिस को चोरी के पैटर्न की वजह से एक व्यक्ति के ही शामिल होने का शक था। लोकेश के पुराने रिकॉर्ड की वजह से उससे पूछताछ की गई और खुलासा हो गया।

5 किलो के जेवर बरामद

पुलिस ने चोर के पास से उसके कवर्धा स्थित घर से 5.558 किग्रा चोरी के जेवर और नकदी बरामद कर ली है। खास बात यह है कि शोरूम में करीब 100 सीसीटीवी कैमरे और 10 गार्ड की निगरानी के बाद भी लोकेश वारदात करने में सफल रहा। सीसीटीवी की डीवीआर मशीन को बंद करने के बाद सेफ की ग्रिल काटकर चोरी की।आरोपी डक्ट एरिया में लिफ्ट की रस्सी के जरिए वह सरकते हुए थर्ड फ्लोर तक पहुंच गया। पेचकस से लिफ्ट का डोर खोलकर दोनों दरवाजे के बीच जगह बना ली।

डक्ट एरिया से निकलकर तीसरे फ्लोर पर पहुंचा और पैर दान को दरवाजे के बीच फंसा दिया। दरवाजा खुलने के बाद वह फ्लोर पर पहुंच गया था। शोरूम में 6 घंटे तक लगातार दीवार तोड़ने का वह थक गया था। तीसरे फ्लोर पर आते ही उसे प्यास लग गई। वह पानी की तलाश में किचन में पहुंच गया। पानी पीने के बाद वह डीवीआर रुम में पहुंचा और बिजली के तार तोड़ दिए।

इससे लाइट बंद हो गई और सीसीटीवी कैमरे की रिकार्डिंग भी बंद हो गई। सीढ़ियों से वह ग्राउंड फ्लोर तक पहुंच गया। जेवर और पैसे से भरा बैग लेकर लोकेश सुपेला चौराहे पर पहुंच गया। यहां से ऑटो के जरिए वह दुर्ग बस स्टैंड स्थित रैन बसेरा पहुंच गया। बैग लॉकर में रखने के बाद होटल में खाना खाने गया। लौटकर सो गया और सुबह उठकर रायपुर चला गया था।

पहले से बनाया प्लान

घटना से करीब 20 दिन पहले वह आकाश गंगा इलाके में कपड़े खरीदने आया था। जींस खरीदने के दौरान उसने निर्माणाधीन इमारत दिख गई थी। शोरुम और इमारत को आगे पीछे से देखने के बाद उसे कंफर्म हो गया था कि चोरी करना आसान होगा। रैकी के लिए लोकेश दुर्ग से बस से भिलाई आता था। एक हफ्ते पहले उसे पता चला कि पूरा मार्केट मंगलवार को बंद रहता है। उसने सोमवार रात शोरुम तक पहुंचने की योजना बना ली। वह रात को ही शोरूम में घुस गया था। इससे पहले वह टू वीलर शोरुम से 9 लाख कैश चोरी करने की वारदात के बाद पकड़ चुका था। चोरी का पैटर्न देख पुलिस को लोकेश पर शक हुआ।

Leave a Reply