अगले ही दिन ख़राब हुई 3.70 लाख रु. में खरीदी हुई सेकंड हैंड कार, पैसे नहीं लौटने पर जवान ने कारोबारी की कर दी हत्या - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

अगले ही दिन ख़राब हुई 3.70 लाख रु. में खरीदी हुई सेकंड हैंड कार, पैसे नहीं लौटने पर जवान ने कारोबारी की कर दी हत्या

रायपुर (एजेंसी) | राजधानी रायपुर में एक दिल दहला देने वाली वारदात हुई है जिसमे छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल (सीएएफ) के  जवान मनोज सेन ने मंगलवार दाेपहर 12.15 बजे पुरानी गाड़ियों की खरीदी-बिक्री करने वाले सांई मोटर्स के संचालक संजय अग्रवाल की उनके दफ्तर में घुसकर गोली मार दी। जवान इंसास राइफल लेकर कारोबारी को पचपेड़ी नाका स्थित दफ्तर पहुंचा।

गोली मारने की वजह 3 लाख 70 हजार का लेन-देन बताया जा रहा है। गोली मारने के बाद जवान ने एसपी ऑफिस जाकर सरेंडर कर दिया। उससे राइफल भी जब्त कर ली गई है। घटना की सूचना मिलने पर एसएसपी शेख आरिफ हुसैन समेत आला अफसर मौके पर पहुंचे। गोली मारने की पूरी घटना काराेबारी के दफ्तर में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई।

जवान ने कारोबारी के केबिन के बाहर से गोली मार दी

कारोबारी अपने केबिन में बैठा था। जवान ने केबिन के बाहर से ही शीशे से कारोबारी को देखा और वहीं से दो फायर किए। दोनों गोली शीशे को चीरती हुई कारोबारी को लगी। एक गोली छाती में और दूसरी कंधे में लगी। फायर करने के बाद जवान वहां से भाग निकला। ऑफिस में गोली चलने से हड़कंप मच गया। वहां काम कर रहे कर्मचारी दौड़कर आए और कारोबारी को नजदीक के अस्पताल ले गए। जहां इलाज के दौरान कारोबारी की मौत हो गई।

हत्या की वजह 3 लाख 70 हजार का लेन-देन है

सीएसपी कृष्णा पटेल ने बताया कि टाटीबंध के संजय अग्रवाल पुरानी चार पहिया गाड़ियों की खरीदी-बिक्री का काम करते थे। तीन मार्च को मनोज ने उनसे काले रंग की कार का सौदा किया। 3.70 लाख में सौदा हुआ। 4 मार्च को तीन लाख नगद देखकर मनोज कार ले गया। दूसरे दिन कार खराब हो गई। कार में पिकअप नहीं था और केबल शॉर्ट हो रहा था। उसने संजय से शिकायत की और 6 तारीख को कार लेकर शो रूम गया।

कार को उसने बनाने के लिए छोड़ दिया। कारोबारी ने दो दिन में कार बनाकर देने का वादा किया। लेकिन चार दिन बाद भी नहीं दिया। कारोबारी 20 दिनों से जवान को पैसों के लिए आजकल कहकर घुमा रहा था। मंगलवार को भी जवान ने फोन किया तो कारोबारी दूसरी कार देने या पैसा लौटाने से यह कहते हुए इनकार कर दिया कि जो करना है सो करो।

तैश में आकर जवान ने कारोबारी को गोली मार दी

इसके बाद जवान तैश में आ गया इंसास राइफल लेकर कारोबारी के दफ्तर पहुंचा और गोली मार दी। गौरतलब है कि जवान ने कर्ज लेकर कार खरीदी थी। इस वजह से पैसों काे लेकर परेशान था। चर्चा है कि उसने आला अफसरों को भी इस बारे में मदद मांगी थी। लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया। हत्या के बाद जवान ने एसपी दफ्तर में समर्पण कर दिया, उसने साढू के इंसास राइफल से गोली मारी थी।

डीजीपी ने जवान को बर्खास्त किया, आरआई भी सस्पेंड

कारोबारी की गोली मारकर हत्या के आरोपी सीएएफ के जवान मनोज सेन को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है। डीजीपी डीएम अवस्थी ने मंगलवार की रात जवान की बर्खास्तगी के अलावा मातहतों पर नियंत्रण नहीं रख पाने के आरोप में पुलिस लाइन के आरआई सीपी तिवारी को भी निलंबित करने का आदेश दिया।

Leave a Reply