bhupesh-baghel-tribal-dance-27-dec
Chhattisgarh Politics Video

राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य 2019: सीएम भूपेश बघेल ने दंतेवाडा जिले को पिछड़े जिले के अभिशाप से मुक्ति दिलाने का लिया संकल्प

रायपुर (एजेंसी) | मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस अवसर पर कहा कि हम आदिवासियों की कला संस्कृति, परम्परा और धरोहर को संरक्षित करने का प्रयास कर रहे हैं। अनेकता में एकता हमारी पहचान है और ताकत भी। उन्होंने कहा कि लोक सभा सांसद राहुल गांधी ने उनसे कहा था कि ऐसा कार्य होना चाहिए कि सब लोगों को लगे कि हमारी सरकार है।

आदरणीय सोनिया गांधी और राहुल जी के मार्गदर्शन में हमारी सरकार हर वर्ग के आंसू पोछने का काम कर रही है। हमने किसानों का विश्वास जीता, आदिवासियों की लोहण्डीगुड़ा में उनकी जमीन वापस की। बस्तर अंचल में सुपोषण अभियान की शुरूआत की। उनके स्वास्थ्य के लिए हाट बाजार में क्लिनिक योजना की शुरूआत की। आज हमारी सरकार के कार्यों से छत्तीसगढ़ में सर्वत्र शांति व्याप्त है।

मुख्यमंत्री बघेल ने लोक सभा सांसद श्री राहुल गांधी की उपस्थिति में दंतेवाड़ा जिले में गरीबी रेखा का प्रतिशत राष्ट्रीय औसत से कम करने का संकल्प लिया। वर्तमान में दंतेवाड़ा जिले में 60 प्रतिशत लोग गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करते हैं जबकि राष्ट्रीय औसत 22 प्रतिशत है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और मंत्रिमण्डल के सभी सदस्यों ने आने वाले 4 वर्षों में इसे राष्ट्रीय औसत से कम करने का संकल्प लिया, ताकि दंतेवाडा जिले को सार्वधिक पिछड़ा जिला होने के कलंक से मुक्ति मिल सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आदिवासियों की देवगुड़ी, घोटुल परम्परा सहित उनकी समृृद्ध संस्कृति के संरक्षण के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। हम संविधान में विश्वास करने वाले लोग हैं। हम अदिवासियों, पिछड़ों, गरीबों और महिलाओं को उनके संविधान प्रदत्त अधिकार दिलाने के लिए कृत संकल्पित हैं। संस्कृति मंत्री श्री अमरजीत भगत ने आभार व्यक्त किया।

Leave a Reply