Chhattisgarh

पीजीआई चंडीगढ़ की तर्ज पर पांच मंजिला बनेगा एसीआई, 550 से ज्यादा पदों पर भर्ती की तैयारी

रायपुर | अंबेडकर अस्पताल के एडवांस कार्डियक इंस्टीट्यूट (एसीआई) को पीजीआई चंडीगढ़ की तर्ज पर विकसित किया जाएगा। वर्तमान बिल्डिंग के अलावा पांच मंजिला नई बिल्डिंग तैयार की जाएगी। इसमें ओपीडी, वार्ड से लेकर पेइंग वार्ड, वीआईपी लांज, परीक्षा हाॅल भी होगा। प्रबंधन ने प्रस्ताव को अंतिम रूप से दिया है। जल्द ही इसे शासन के पास  भेजा जाएगा।

यही नहीं कार्डियोलॉजी व कार्डियो थोरेसिक सर्जरी विभाग (सीटीवीएस) में डॉक्टर समेत 550 नर्सिंग व पैरामेडिकल स्टाफ की भर्ती की जाएगी। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव पहले ही सीटीवीएस में भर्ती के लिए जल्द विज्ञापन जारी करने के निर्देश दे चुके हैं।

पेइंग वार्ड, वीआईपी लांज, लाइब्रेरी व परीक्षा हाॅल भी होगा

एसीआई को हार्ट सेंटर के रूप में विकसित किया जाएगा। एंजियोग्राफी से लेकर एंजियोप्लास्टी व बायपास सर्जरी एक ही छत के नीचे होगी। इससे मरीजों को भटकना नहीं पड़ेगा। बिल्डिंग जी प्लस पांच यानी ग्राउंड के अलावा पांच फ्लोर होगा। इसमें ओपीडी से लेकर कैथलैब यूनिट, वार्ड, ऑपरेशन थिएटर, पेइंग वार्ड, वीआईपी लांज, लाइब्रेरी व परीक्षा हाॅल होगा। एक अनुमान के अनुसार इसमें 50 से 55 करोड़ खर्च होने की संभावना है। कार्डियोलॉजी विभाग के ही आठ विंग होंगे। वहीं सीटीवीएस विभाग के लिए दो से तीन ओटी बनाए जाएंगे। इसमें एक में रूटीन व दूसरे में इमरजेंसी केस किया जाएगा। एक ओटी स्टेंड बाई की तरह रहेगा।

15 फरवरी तक अपग्रेड मशीन स्थापित होने की संभावना

नवंबर 2018 में एस्कार्ट हार्ट सेंटर बंद होने के बाद वहां एसीआई शुरू हुआ है। हालांकि अभी तक वहांं कैथलैब यूनिट शिफ्ट नहीं हो पाई है। 15 फरवरी तक अपग्रेड मशीन स्थापित होने की संभावना है। वहीं जरूरी उपकरण व स्टाफ की भर्ती नहीं होने से बायपास सर्जरी शुरू नहीं हो सकी है। हालांकि सीटीवीएस विभाग के एचओडी डॉ. कृष्णकांत साहू की टीम ने 14 साल के मासूम की सर्जरी के लिए पहली बार हार्ट लंग मशीन का उपयोग किया। मासूम स्वस्थ होकर घर चली गई है। प्रस्तावित बिल्डिंग का लेआउट तैयार कर लिया गया है। इसे अंतिम रूप देने के लिए पीडब्ल्यूडी ने एक इंजीनियर को हायर किया है। लेआउट फाइनल होने में उनकी ओर से ही देरी हो रही है।

कार्डियोलॉजी में 350 नए पद लेकिन मंजूरी नहीं

कार्डियोलॉजी विभाग ने नए सेटअप में डॉक्टर समेत नर्सिंग व पैरामेडिकल स्टाफ के 350 पदों को स्वीकृति के लिए भेजा था, लेकिन इसे मंजूरी नहीं मिली है। दूसरी आेर सीटीवीएस विभाग को 195 से ज्यादा नए पदों के लिए मंजूरी मिल चुकी है। इन पदों पर भर्ती की जानी है

फ्लोर वाइज प्रस्तावित विभाग

  • फर्स्ट फ्लोर- ओपीडी ब्लॉक
  • सेकंड फ्लोर- वार्ड व लाइब्रेरी
  • थर्ड फ्लोर- कैथलैब व ओटी
  • फोर्थ फ्लोर- पेइंग वार्ड व एक्जाम हॉल
  • फिफ्थ फ्लोर- वीआईपी लांज व गेस्ट रूम

Leave a Reply