dial-112-raipur
Chhattisgarh

रायपुर में आज शाम 6 बजे से 10 दिनों का लॉकडाउन, राज्य में लगातार दूसरे दिन 10 हजार से अधिक केस मिले

छत्तीसगढ़ के रायपुर जिले में आज शाम 6 बजे से 19 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक टोटल लॉकडाउन रहेगा। कोरोना संक्रमण को कम कर पाने में नाकाम जिला प्रशासन ने दो दिन पहले यह फैसला लिया था। अब 10 दिन के लिये जरूरी सामान खरीदने के लिए बाजारों में भारी भीड़ उमड़ी है। जिला प्रशासन की ओर से बनाई गई 9 टीमों ने कई थोक और चिल्लर व्यापारियों के यहां जाकर जांच की है। आलू-प्याज और दूसरे सामानों को अधिकतम मूल्य तय कर दिया है। इसके बावजूद भी कालाबाजारी जारी है।

आलू के दाम 20 रुपए किलो तय

पांच जांच दलों ने आलू के प्रमुख विक्रय केंद्र भनपुरी, डूमरतराई, गुढ़ियारी, गोलबाजार, सन्तोषीनगर और शास्त्री बाजार में दबिश दी। आलू के थोक व्यापारियों को 50 किलो आलू का विक्रय मूल्य 600 रुपए निर्धारित किया गया। इसकी सूची लगवाई गई। प्रशासन ने कहा, खुल्ले में आलू 20 रुपए किलो से ज्यादा न बिके, नहीं तो कार्रवाई की जाएगी।

शादी, अन्त्येष्टि और दशगात्र में 10 लोगों को ही अनुमति

रायपुर कलेक्टर ने लॉकडाउन की शर्तों में परिवर्तन कर दिया है। अब विवाह, अन्त्येष्टि और दशगात्र जैसे आयोजनों में भी 10 से अधिक लोगों को अनुमति नहीं दी जाएगी। पहले ऐसे आयोजनों में 50 लोगों को शामिल होने की अनुमति थी। शादी को वर अथवा वधु के घर में संपन्न कराने को कहा गया है। यानी इसके लिये मैरेज हॉल या होटल-धर्मशाला से आयोजन की अनुमति नहीं मिलेगी।

कल से राजनांदगांव, बेमेतरा और बालोद में बंद

छत्तीसगढ़ में कोरोना के भारी संक्रमण को देखते हुए दुर्ग जिले में 6 अप्रैल से ही लॉकडाउन चल रहा है। रायपुर में आज शाम से शुरू होगा। राज्य के राजनांदगांव, बेमेतरा और बालोद जिले में शनिवार शाम से लॉकडाउन लगाया जाना है। इस लॉकडाउन की अवधि 19 अप्रैल के सुबह 6 बजे तक निर्धारित है। प्रशासन को उम्मीद है कि इस बंदी से वे संक्रमण की शृंखला को तोड़ पाने में सफल हो जाएंगे।

पंचायत चुनाव की तैयारी भी टाली गई

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर से छत्तीसगढ़ में पंचायतों और नगरीय निकाय के चुनावों पर ब्रेक लगा दिया है। राज्य निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनावों की मतदाता सूची तैयार करने का कार्यक्रम फिलहाल के लिये स्थगित कर दिया है। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की मतदाता सूची के लिये अब बाद में आदेश जारी होगा।

लगातार दूसरे दिन 10 हजार से अधिक नए मरीज मिले

महामारी की वजह से प्रदेश की हालत गंभीर है। पिछले दो दिनों से 10 हजार से अधिक मरीज मिल रहे हैं। गुरुवार को 10,652 नए मरीज मिले। इनको मिलाकर प्रदेश भर में एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 68,125 हो गई है। सबसे अधिक 2330 मरीज रायपुर में मिले। दुर्ग जिले में भी एक दिन में मिले मरीजों की संख्या 2132 हो गई। राजनांदगांव यहां का तीसरा सबसे संक्रमित जिला है। यहां कल 1047 नये मरीज मिले।

एक दिन में रिकॉर्ड 72 मरीजों की मौत

प्रदेश अब भयावह हालत में है। बुधवार-गुरुवार को मिलाकर प्रदेश में 72 मरीजों की मौत इलाज के दौरान या अस्पताल पहुंचने से पहले हो गई। मरने वालों में 37 लोगों को कोरोना के अलावा कोई दूसरी गंभीर बीमारी अथवा चोट नहीं थी। सबको फेफड़ों में संक्रमण, सांस लेने में तकलीफ जैसे लक्षणों के चलते इलाज किया जा रहा था। मरने वालों में सबसे अधिक 34 लोग अकेले रायपुर जिले के ही थे। दुर्ग जिले के 19 लोगों की मौत हुई।

Leave a Reply