Chhattisgarh

रायपुर शहर के सात स्थानों पर पीलिया परीक्षण सत्र : 13 मरीज आज डिस्चार्ज हुए

रायपुर. शहर में पीलिया प्रभावितों की जांच के लिए आज कबीर नगर, शिव नगर, चंगोरभांठा, सड्डू, भैरव नगर, मंगल नगर स्वीपर कालोनी में परीक्षण सत्र आयोजित होगा, जहां शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सक पीलिया से प्रभावितों की जांच करेंगे। परीक्षण सत्र के दौरान ही पीलिया प्रभावितों के ब्लड सैंपल भी लिए जाएंगे ताकि हेपेटाइटिस और बिलिरुबिन की जांच की जा सके।

पीलिया संक्रमण की रोकथाम के स्टेट नोडल अधिकारी और संयुक्त संचालक डॉ. सुभाष पाण्डेय ने बताया कि रायपुर शहर के विभिन्न इलाकों में दूषित पानी के सेवन की वजह से फैले पीलिया की स्थिति अब कंट्रोल में है। इन इलाकों में स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगातार परीक्षण सत्र का आयोजन कर मरीजों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है। लोंगों को स्वच्छ पेयजल के सेवन के साथ ही खान-पान में विशेष सावधानी बरतने की सलाह दी जा रही है। डॉ. पांडेय ने बताया कि पीलिया से प्रभावित मरीजों में से आज 13 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद जिला चिकित्सालय से डिस्चार्ज कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि भर्ती मरीजों के इलाज का बेहतर प्रबंध जिला चिकित्सालय में किया गया है। यहां हेपेटाइटिस की जांच के लिए अत्याधुनिक मशीन मंगा ली गयी है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ रविन्द्र तिवारी के निर्देशन में मरीजों को आवश्यक दवाओं के साथ निशुल्क भोजन तथा विटामिन बी कांपलेक्स और ग्लूकोज डी भी उपलब्ध कराया जा रहा है। डॉ. पाण्डेय ने जिला चिकित्सालय सहित काशीराम नगर एवं शिव नगर का दौरा कर स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने इस दौरान मरीजों से भी चर्चा की और उनके इलाज के बारे में जाना। डॉ. पाण्डेय ने बताया कि बताया कि शहर के कबीर नगर ,सड्डू, त्रिमूर्ति नगर, हीरापुर जरवाय में पीलिया के कुछ नए केस सामने आए हैं। इसको देखते हुए यहां पर भी परीक्षण सत्र का आयोजन किया जाएगा। मितानिनों को डोर-टू-डोर सर्वे करने की जिम्मेदारी देने के साथ ही प्रत्येक मरीजों की विस्तृत रिपोर्ट संधारित करने तथा मरीजों के स्वस्थ होने के बाद भी फॉलोअप करने के निर्देश दिए गए हैं।

मितानिनों के माध्यम से इन इलाकों के जल स्रोतों का वायल टेस्ट भी कराया जा रहा है और दूषित जल स्रोतों के बारे में जन समुदाय को जानकारी भी दी जा रही है। पीलिया के अधिकांश मरीजों में हेपेटाइटिस ए और हेपेटाइटिस इ से प्रभावित मरीजन मिले हैं। हीरापुर इलाके में पीलिया प्रभावित नए मामलों को देखते हुए कल से यहां भी परीक्षण सत्र आयोजित कर ब्लड सैंपल लिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि पीलिया प्रभावित पांच गर्भवती माताओं के बेहतर इलाज के लिए उन्हें कालीबाड़ी स्थित प्रसूति हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है उनके स्वास्थ्य पर लगातार निगरानी रखी जा रही है। स्वास्थ्य कर्मियों को सुरक्षित प्रसव के उपरांत भी इन महिलाओं का फॉलोअप चेकअप करने के निर्देश दिए गए हैं।

Leave a Reply