Chhattisgarh Politics

IT Raid: आयकर छापों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन, एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने पीएम मोदी का पुतला फुंका, बुझाने पहुंचे जवान को भी पीटा

रायगढ़ | छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला जला रहे एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने पुलिसकर्मियों की पिटाई कर दी। आरोप है कि पुलिसकर्मियों ने पुतला बुझाने का प्रयास किया तो एनएसयूआई प्रदेश उपाध्यक्ष राकेश पांडेय ने पहले पुलिकर्मियों को धक्का मारकर गिरा दिया, फिर साथियों के साथ पिटाई कर दी।

कार्यकर्ता प्रदेशभर में आयकर छापों के विरोध में प्रदर्शन कर रहे थे। कोतवाली पुलिस ने देर शाम केस दर्ज कर लिया। कांग्रेस पूर्व सीएस, आईएएस अफसर, कारोबारी और मुख्यमंत्री की उप सचिव के घर आयकर के छापों का विरोध कर रही है। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत कार्यकर्ताओं को प्रधानमंत्री का पुतला फूंकना था। विरोध-प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ता स्टेशन चौक से पुतला लेकर पोस्ट ऑफिस की ओर आ रहे थे।

कांग्रेस कार्यालय के सामने बेटी बचाओ चौक पर एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री के पुतले में आग लगा दी। आग लगते ही पास मौजूद पुलिस कर्मियों ने पुतला छीन कर आग बुझा दी। इससे नाराज प्रदेश उपाध्यक्ष पांडेय ने आरक्षक विजय ध्रुव, फैड्रिक कुजूर की पिटाई कर दी। अन्य कार्यकर्ताओं ने भी पुलिस कर्मियों के साथ मारपीट की। कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची, तब तक आरोपी कार्यकर्ता फरार हो चुके थे।

सोशल मीडिया पर दिखी कार्यकर्ताओं की गुंडई

घटना का वीडियो वायरल होने पर उच्चाधिकारियों ने कार्रवाई के निर्देश दिए। वीडियो में कार्यकर्ता पुलिस कर्मियों को एक बाद एक लात-घूंसों से पीटते देखे गए। वीडियो में प्रदेश उपाध्यक्ष पुलिस कर्मी द्वारा एनएसयूआई कार्यकर्ताओं की पिटाई की बात कहते दिख रहे हैं।

हमलावरों पर दर्ज हो सकता है एट्रोसिटी का मामला

मामले में प्रदेश उपाध्यक्ष और अन्य आरोपियों पर पुलिस एससी, एसटी एक्ट की कार्रवाई करने जा रही है। सरकारी कार्य में बाधा डालने और सरेआम पुलिस कर्मियों की पिटाई कर दहशत का माहौल बनाने वालों पर एसपी ने भी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। कोतवाली पुलिस ने पीड़ित पुलिस कर्मियों की शिकायत पर एससी-एसटी एक्ट के तहत कार्रवाई का मन बना लिया है।

Leave a Reply