farmer-cg
Chhattisgarh

बिलासपुर के खूंटाघाट डैम से पानी नहीं छोड़ने से फसलों को भारी नुकसान, सूख रहे खेत, फसल हो रही चौपट

बिलासपुर में रबी फसल के लिए खूंटाघाट से पानी नहीं छोड़ने के कारण किसानों के खेत सूखने लगे हैं और जमीन में दरारें आ रही हैं। इसके चलते फसल चौपट हो रही है। किसानों की मांग के बाद भी जल संसाधन विभाग के अफसर सिंचाई के लिए पानी छोड़ने कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं। दरअसल, यहां सिंचित एरिया में आने वाले किसान हर साल गर्मी के दिनों में भी धान की फसल उगाते हैं। लेकिन, इस बार सिंचाई के लिए पानी नहीं देने से उन्हें परेशानी होने लगी है।

रतनपुर स्थित खूंटाघाट डैम से हर साल रबी फसल के लिए किसानों को सिंचाई के लिए पानी मुहैया कराया जाता है। पानी मिलने की उम्मीद से इस बार भी सीपत क्षेत्र के साथ ही मस्तूरी के किसानों ने रबी फसल लगाया है। खासकर ज्यादातर किसानों ने फिर से यहां धान लगा रखा है। लेकिन, इस बार अभी तक जल संसाधन विभाग ने डैम से पानी नहीं छोड़ा है।

सप्ताह भर में पानी मिल जाए, तो बच सकती है फसल
किसानों का कहना है कि उन्होंने जल संसाधन विभाग के अफसरों से डैम से पानी छोड़ने की मांग की थी, जिस पर उन्हें पानी देने का आश्वासन दिया गया था। इसी उम्मीद में आकर उन्होंने फसल लगाया है। किसान अभी भी उम्मीद लगाए बैठे हैं कि उन्हें पानी मिल जाएगा। उनका कहना है कि एक सप्ताह के भीतर पानी मिलने पर फसल बच सकती है।

अफसर बोले- किसानों को पहले ही किया गया था मना

जल संसाधन विभाग के खारंग डिवीजन के कार्यपालन अभियंता आरपी शुक्ला का कहना है कि किसानों को इस बार पहले से ही आगाह किया गया था कि हम पानी नहीं दे पाएंगे। इसलिए उन्हें धान का फसल नहीं लगाने कहा गया था। उन्होंने बताया कि इस बार बांध में मेंटेनेंस का काम होगा और इसके लिए टेंडर भी जारी कर दिया गया है। ऐसे में डैम से पानी छोड़ना संभव नहीं है।

Leave a Reply