दिनांक : 05-Dec-2022 07:52 PM   रायपुर, छत्तीसगढ़ से प्रकाशन   संस्थापक : पूज्य श्री स्व. भरत दुदानी जी
Follow us : Youtube | Facebook | Twitter English English Hindi Hindi
Shadow

छत्तीसगढ़ के जिन शहरों में मतदान वहां सामान्य अवकाश घोषित, नगरीय निकाय के होने हैं चुनाव

08/12/2021 posted by Priyanka (Media Desk) Politics    

छत्तीसगढ़ के जिन शहरों में चुनाव हो रहे हैं वहां मतदान के दिन स्कूल, कॉलेज, कार्यालय और सरकारी संस्थान बंद रहेंगे। राज्य सरकार ने 20 दिसम्बर को इन शहरों में छुट्‌टी की घोषणा कर दी है। यह सामान्य अवकाश होगा।

प्रदेश के 10 जिलों के 15 शहरों में नगरीय निकाय के आम चुनाव हो रहे हैं। वहीं 15 शहरों के 17 वार्डों में उपचुनाव हो रहे हैं। इसकी प्रक्रिया 27 नवम्बर से शुरू है। इन शहरों में 20 दिसम्बर को मतदान होगा। मतदान का समय सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक निर्धारित किया गया है। 23 दिसम्बर को सुबह 9 बजे से मतगणना शुरू हो जाएगी। उसी दिन परिणामों की घोषणा भी हो जाएगी। यह चुनाव बैलट पेपर से कराया जाएगा। हांलाकि नामांकन आदि की प्रक्रिया ऑनलाइन भी पूरी कराई गई है। आम चुनाव के लिए 1000 और उप चुनाव के लिए 37 मतदान केंद्र बनाये गये हैं।

370 वार्डों में 7.78 लाख मतदाता

राज्य निर्वाचन आयुक्त ठाकुर राम सिंह ने बताया, 15 नगरीय निकायों के 370 वार्डों में आम चुनाव होना है। वहीं 15 नगरीय निकायों के 17 वार्डों में उपचुनाव होगा। आम चुनाव में 7 लाख 78 हजार 420 मतदाता प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला करने वाले हैं। इसमें 3 लाख 90 हजार 843 महिलाएं हैं। उप चुनाव में 26 हजार 896 मतदाताओं को वोट डालना है।

इन शहरों में होना है आम चुनाव

प्रदेश के 15 शहरों में आम चुनाव कराया जाएगा। इनमें नगर पालिक निगम बिरगांव, भिलाई, रिसाली और भिलाई-चरोदा का चुनाव मुख्य है। उसके अलावा नगर पालिका सारंगढ़, बैकुंठपुर, शिवपुर चरचा, जामुल और खैरागढ़ में नई शहरी सरकार चुना जाना है। प्रेमनगर, मारो, नरहरपुर, कोंटा, भैरमगढ़ और भोपालपट्टनम नगर पंचायतों में भी आम चुनाव होगा।

Author Profile

Priyanka (Media Desk)
Priyanka (Media Desk)प्रियंका (Media Desk)
"जय जोहार" आशा करती हूँ हमारा प्रयास "गोंडवाना एक्सप्रेस" आदिवासी समाज के विकास और विश्व प्रचार-प्रसार में क्रांति लाएगा, इंटरनेट के माध्यम से अमेरिका, यूरोप आदि देशो के लोग और हमारे भारत की नवनीतम खबरे, हमारे खान-पान, लोक नृत्य-गीत, कला और संस्कृति आदि के बारे में जानेगे और भारत की विभन्न जगहों के साथ साथ आदिवासी अंचलो का भी प्रवास करने अवश्य आएंगे।