प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री रमन सिंह ने अटल जी के निधन पर ट्वीट कर जताया शोक

दिल्ली | देश के पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी का 93 साल की उम्र में निधन हो गया है। उन्होंने दिल्ली के AIIMS हॉस्पिटल में आज शाम 5 बजकर 5 मिनट में अंतिम सास ली। पूर्व पीएम को 9 हफ्ते पहले 11 जून को एम्स में भर्ती कराया गया था। वाजपाई जी 16 मई, 1996 से 31 मई, 1996 तथा 1998 – 99 और 13 अक्तूबर, 1990 से मई, 2004 तक तीन बार भारत के प्रधानमंत्री रहे।

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया,
अटल जी आज हमारे बीच में नहीं रहे, लेकिन उनकी प्रेरणा, उनका मार्गदर्शन, हर भारतीय को, हर भाजपा कार्यकर्ता को हमेशा मिलता रहेगा। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे और उनके हर स्नेही को ये दुःख सहन करने की शक्ति दे। ओम शांति !

अटल जी आज हमारे बीच में नहीं रहे, लेकिन उनकी प्रेरणा, उनका मार्गदर्शन, हर भारतीय को, हर भाजपा कार्यकर्ता को हमेशा मिलता रहेगा। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे और उनके हर स्नेही को ये दुःख सहन करने की शक्ति दे। ओम शांति !

— Narendra Modi (@narendramodi) August 16, 2018

लेकिन वो हमें कहकर गए हैं-
“मौत की उमर क्या है? दो पल भी नहीं,
ज़िन्दगी सिलसिला, आज कल की नहीं
मैं जी भर जिया, मैं मन से मरूं,
लौटकर आऊँगा, कूच से क्यों डरूं?”

— Narendra Modi (@narendramodi) August 16, 2018





मुख्यमंत्री श्री रमन सिंह ने ट्वीट किया,
भारत रत्न श्री #AtalBihariVaajpayee जी के देहांत से आज एक युग का अंत हो गया। मृत्यु भले ही अटल सत्य है किंतु आप सदैव हर भारतीय के दिल में अमर रहेंगे। आज का खुशहाल छत्तीसगढ़ आपकी देन है। ढाई करोड़ प्रदेशवासियों की ओर से श्री वाजपेयी जी को सादर श्रद्धांजलि।

भारत रत्न श्री #AtalBihariVaajpayee जी के देहांत से आज एक युग का अंत हो गया। मृत्यु भले ही अटल सत्य है किंतु आप सदैव हर भारतीय के दिल में अमर रहेंगे। आज का खुशहाल छत्तीसगढ़ आपकी देन है। ढाई करोड़ प्रदेशवासियों की ओर से श्री वाजपेयी जी को सादर श्रद्धांजलि। pic.twitter.com/cqisALYRfu

— Dr Raman Singh (@drramansingh) August 16, 2018

आज किन शब्दों से श्री #AtalBihariVaajpayee जी को विदा करूँ यह समझ नहीं आ रहा, मैंने तो शब्दों की परिभाषा ही उनसे सीखी थी। वे मेरे गुरु, आदर्श एवं पितातुल्य थे। मैं परमेश्वर से उनकी आत्मा को शांति एवं इस दुःख की घड़ी में समस्त देशवासियों को धैर्य प्रदान करने की प्रार्थना करता हूँ। pic.twitter.com/ShhufPE5Wn

— Dr Raman Singh (@drramansingh) August 16, 2018




Leave a Reply