India

हाईकोर्ट ने एजेएल की याचिका खारिज की, खाली करना होगा हेराल्ड हाउस

नई दिल्ली (एजेंसी) | आदेश दिया था कि वह दो सप्ताह के भीतर हेराल्ड हाउस खाली कर दे। इसमें जज ने कहा था कि एजेएल के 99 फीसदी शेयर यंग इंडिया (वाईआई) को ट्रांसफर करने पर उसकी 400 करोड़ से अधिक की संपत्ति भी गोपनीय तरीके से ट्रांसफर हो जाती है। इस निर्णय को एजेएल ने बेंच में चुनौती दी थी। वाईआई में सोनिया, राहुल गांधी शेयरधारक हैं।

केंद्र सरकार ने यह दी थी दलील

केंद्र सरकार की ओर से सॉलीसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा था कि नेशनल हेराल्ड का प्रकाशन एजेएल 2008 में बंद कर चुकी है और कर्मचारियों को स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति दे चुकी है। कंपनी ने लीज की शर्तों का उल्लंघन कर हेराल्ड हाउस को किराए पर दिया था। इसके अतिरिक्त चालाकी से कंपनी के शेयर यंग इंडियन कंपनी को ट्रांसफर कर दिए गए। यह समाचार पत्र प्रकाशन और प्रिंटिंग के लिए एजेएल को दिया गया था, लेकिन यह काम बंद कर दिया गया। यंग इंडियन का निर्माण एजेएल के स्वामित्व वाले नेशनल हेराल्ड की संपत्ति हड़पने के मकसद से किया गया था।

एजेएल की ओर से यह दी गई थी दलील

एजेएल की ओर से वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा था कि कंपनी के बहुसंख्यक शेयर यंग इंडिया को ट्रांसफर होने से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी मां सोनिया गांधी यहां स्थित हेराल्ड इमारत के मालिक नहीं बन जाएंगे। कंपनी के शेयर ट्रांसफर होने का मतलब उसकी संपत्ति शेयरधारकों के नाम करना नहीं होता है।

Advertisement
Rahul Gandhi Ji Birthday 19 June

Leave a Reply