India

सरकार दे रही है मुद्रा लोन: अपना बिजनेस प्लान बताकर ले सकते है 10 लाख तक का लोन वो भी बिना किसी गारेंटर के

कोरोना महामारी के कारण देश को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है। इसके चलते कई लोगों से उनका रोजगार भी छीन लिया है। अगर कोरोना काल में आपका रोजगार भी छिन गया और आप खुद का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं लेकिन आपके पास इसके लिए पैसा नहीं है तो सरकार की मुद्रा योजना आपका काम आसान कर सकते है। इस योजना के तहत आप अपना खुद का बिजनेस शुरू करने के लिए सरकार से 10 लाख रुपए तक का लोन ले सकते हैं। हम आपको इस योजना के बारे में बता रहे हैं।

बिना गारंटी मिलेगी 10 लाख तक की सहायता

मुद्रा लोन को 3 श्रेणियों में वर्गीकृत किया गया है- शिशु ऋण, जिसमें अधिकतम सीमा 50 हजार रुपए है, किशोर ऋण, जिसमें 50 हजार से 5 लाख रुपए तक की सीमा है और तरुण ऋण, जिसमें अधिकतम 10 लाख रुपए तक की सीमा रखी गई है। यानी आप के काम के हिसाब से आपको लोन दिया जाएगा। कोई भी व्यक्ति जो अपना स्वयं का व्यवसाय शुरु करना चाहता है, वह इस योजना के तहत लोन ले सकता है। इसके साथ ही अगर कोई अपने मौजूदा व्यवसाय को आगे बढ़ाना चाहता है, तो भी उसे इस योजना के माध्यम से लोन मिल सकता है।

बिजनेस प्लान पर मिलता है लोन

इस योजना के तहत आपको आपके बिजनेस प्लान पर लोन मिलता है इसीलिए सबसे पहले आवेदक को एक बिजनेस प्लान तैयार करना होता है। साथ ही लोन के लिए सभी आवश्यक दस्तावेज भी तैयार करने होते हैं। सामान्य दस्तावेजों के साथ बैंक आपसे आपका बिज़नेस प्लान, प्रोजेक्ट रिपोर्ट, भविष्य की आय के अनुमान संबंधी दस्तावेज भी मांगेगा, ताकि उसे आपकी आवश्यकता की जानकारी हो, साथ ही यह भी अंदाजा लग सके कि आपको लाभ कैसे होगा या लाभ कैसे बढ़ेगा।

कितना देना होगा ब्याज?

मुद्रा लोन की खास बात यह है कि इसमें कोई निश्चित ब्याज दर नहीं है। अलग-अलग बैंक लोन पर अलग-अलग दर से ब्याज वसूल सकते हैं। दर का निर्धारण कारोबार की प्रकृति और उससे जुड़े जोखिम के आधार पर तय होता है। वैसे आमतौर पर 10 से 12 प्रतिशत सालाना ब्याज दर रहती है।

2 फीसदी ब्याज की छूट का मिलेगा लाभ

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 20 लाख करोड़ रुपए के आर्थिक पैकेज के तहत मुद्रा स्कीम को लेकर बड़ी घोषणा की थी। इसके तहत वित्त मंत्री ने शिशु मुद्रा लोन पर दो फीसदी की ब्याज छूट देने का ऐलान किया। सरकार द्वारा यह छूट 12 महीने के लिए दी जाएगी।

नहीं देनी होगी प्रोसेसिंग फीस

इसके लिए किसी भी तरह की प्रोसेसिंग फीस नहीं चुकानी पड़ती। लोन भुगतान अवधि को 5 साल तक बढ़ाया जा सकता है। लोन लेने वाले को मुद्रा कार्ड दिया जाता है, जिस का उपयोग कारोबारी जरूरत पर आने वाले खर्च के लिए कर सकता है। योजना से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

इस साल अब तक दिया 51 हजार करोड़ का लोन

मुद्रा लोन की आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार वित्त वर्ष 2020-21 में अब तक (7 सितंबर) 79 लाख ज्यादा लोगों को 51 हजार करोड़ रुपए का लोन दिया चुका है। वित्त वर्ष 2019-20 में 6.22 करोड़ से ज्यादा लोगों को 3.29 लाख करोड़ रुपए का लोन दिया गया था।

इसके लिए कैसे कर सकते हैं अप्लाई

  • सबसे पहले आपको आधिकारिक वेबसाइट mudra.org.in से लोन एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड करना होगा। वेबसाइट पर तीनों तरह के लोन का ऑप्शन है। आप जो भी लोन लेना चाहते हैं उस पर क्लिक करके फॉर्म डाउनलोड करें।
  • इसके बाद लोन एप्लीकेशन फॉर्म में सारी जानकारियों को भरें। इस फॉर्म में आम जानकारियों के अलावा आपको बिजनेस शुरू करने की जगह के बारे में भी बताना होगा।
  • मुद्रा लोन आवेदन, बिज़नेस प्लान या प्रोजेक्ट रिपोर्ट, पहचान संबंधी दस्तावेज़ जैसे पैन कार्ड , आधार कार्ड , मतदाता पहचान पत्र आदि ।
  • एक से ज्यादा आवेदकों की स्थिति में पार्टनरशिप संबंधी दस्तावेज़ (डीड), टैक्स रजिस्ट्रेशन, बिज़नेस लाइसेंस आदि।
    फॉर्म भरने की प्रक्रिया के बाद अपने बैंक या किसी भी बैंक में जाकर सारे डॉक्यूमेंट जमा करें। इस दौरान बैंक का ब्रांच मैनेजर आपसे आपके कारोबार और काम की जानकारी ले सकता है।
  • लोन के लिए आवेदन के कुछ ही दिनों में आपको एक मुद्रा डेबिट कार्ड मिलेगा और इस कार्ड में आपके लोन की राशि जमा कर दी जाएगी। जिसका इस्तेमाल आप अपने कारोबार को शुरू करने लिए कर सकेंगे।

Leave a Reply