नि:शर्त रिहाई के लिए राजधानी में 12 सौ से ज्यादा गिरफ्तारी, ट्रेन भी रोकी लेकिन बघेल का जमानत लेने से इंकार - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

नि:शर्त रिहाई के लिए राजधानी में 12 सौ से ज्यादा गिरफ्तारी, ट्रेन भी रोकी लेकिन बघेल का जमानत लेने से इंकार

रायपुर (एजेंसी) | अश्लील सीडी कांड में जेल में बंद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल की नि:शर्त रिहाई की मांग को लेकर कांग्रेस ने दूसरे दिन भी पूरे प्रदेश में प्रदर्शन किया। राजधानी रायपुर के पांचों ब्लॉकों में लगभग 12 सौ से ज्यादा नेताआें ने प्रदर्शन कर गिरफ्तारियां दीं। ये गिरफ्तारियां  सदर बाजार, गुढ़ियारी, टाटीबंध, पुरानीबस्ती आैर सिविल लाइन ब्लाॅक में हुईं। वही सरोना में कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता शाम 5 बजे सरोना रेलवे स्टेशन पहुँच गए और झारसुगड़ा पैसेंजर ट्रेन को रोक पटरियों में बैठ सरकार विरोधी नारा लगाने लगे। पुलिस ने प्रर्दशन कर रहे सभी 44 कार्यकर्ताओ को गिरफ्तार करके डी डी नगर थाने ले गयी।




रायपुर शहर अध्यक्ष गिरीश दुबे ने कहा की भाजपा सरकार कांग्रेस का दमन कर रही है। भाजपा नेता द्वारा बनाई गई अश्लील सीडी मामले में बेगुनाह कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल को जेल भेजा गया है। उन्होंने कहा कि इस मामले का मुख्य आरोपी कैलाश मुरारका के बयानों के बाद साफ हो गया है कि बघेल पाक साफ हैं, इसके बाद उन्हे जेल से नि:शर्त रिहा किया जाना चाहिए।

वही कांग्रेस के संयुक्त महासचिव विकास उपाध्याय ने कहा कि भाजपा सरकार ने बदले की भावना से भूपेश बघेल को सीडी कांड में फंसाया गया है। उन्होंने कहा कि जिसने सीडी बनाई उसके पास सीडी के लिए 75 लाख रुपये कहां से आये यदि इन सबके बाद भी बघेल को जल्द से जल्द नही छोड़ा गया तो कांग्रेस हर बूथ में इसी तरह प्रदर्शन करेंगे। रायपुर के पांचों ब्लॉकों में धरना देकर संबंधित थाना क्षेत्र में गिरफ्तारियां दी गई। गिरफ्तारी देने वालों में छाया वर्मा महापौर प्रमोद दुबे, किरणमयी नायक, करुणा शुक्ला, कुलदीप जुनेजा, महेंद्र छाबड़ा, घनश्याम राजू तिवारी, ब्लॉक अध्यक्ष अरुण जंघेल सहदेव व्यवहार दाऊलाल साहू ,सुनीता शर्मा, सुमित दास आदि मौजूद थे।

सामाजिक नेताओं को जेल में बघेल से मिलने से रोका

भूपेश बघेल से जेल में मिलने पहुंचे प्रमुख सामाजिक नेताओं को मिलने से रोक दिया गया। इसके पहले सांसद ताम्रध्वज साहू, सत्यनारायण शर्मा समेत कई नेताओं को भी बिना मिले ही वापस लौटना पड़ा। इसमें सर्व आदिवासी समाज के सोहन पोटाई, साहू समाज के अध्यक्ष विपिन साहू आर रमेश यदु शामिल थे। जेल प्रशासन ने शाम में मुलाकात का नियम न होने के कारण अनुमित नहीं दी। दूसरी आेर एनएसयूआई नेताआे ने सरोना के पास लोकल ट्रेन को रोक दिया। पुलिस के आने के बाद ट्रेन को रवाना किया गया।



Leave a Reply