रमन की अंतिम केबिनेट की बैठक में बड़ा फैसला, आदर्श पुनर्वास नीति का संशोधन अब विवाहित पुत्री भी होगी परिवार की सदस्य - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

रमन की अंतिम केबिनेट की बैठक में बड़ा फैसला, आदर्श पुनर्वास नीति का संशोधन अब विवाहित पुत्री भी होगी परिवार की सदस्य

रायपुर (एजेंसी)। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की अध्यक्षता में शनिवार को कैबिनेट की अंतिम बैठक हुई। इस बैठक में कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की गई और कई फैसले भी लिए गए। आदर्श पुनर्वास नीति 2007 का संशोधन करते हुए परिवार को नए तरीके से परिभाषित करते हुए कहा कि यदि अविवाहित पुत्री नहीं है तो विवाहित पुत्री को परिवार का सदस्य माना  जाएगा।




आज हुए अंतिम केबिनेट बैठक में इन मुद्दों पर हुई चर्चा

छत्तीसगढ़ राज्य की आदर्श पुनर्वास नीति 2007 में उल्लेखित प्रभावित परिवारों की परिभाषा को विलोपित करते हुए परिवार को नई तरह से परिभाषित किया गया। अब इसके अंतर्गत प्रभावित परिवार अर्थात परिवार का कोई प्रभावित व्यक्ति, उसकी पत्नी या पति तथा अव्यस्क संतान और प्रभावित व्यक्ति पर आश्रित माता- पिता, विधवा बहन या अविवाहित पुत्री, अविवाहित पुत्री नहीं होने की स्थिति में विवाहित पुत्री शामिल होगी। उल्लेखनीय है कि पूर्व में परिवार की परिभाषा में विवाहित पुत्री शामिल नहीं थी।

छत्तीसगढ़ नि:शक्तजन वित्त एवं विकास निगम को राज्य शासन के द्वारा स्वीकृत 36 करोड़ प्रत्याभूति राशि पर लगने वाले 0.5 प्रतिशत प्रत्याभूति शुल्क की छूट प्रदान करने की निर्णय लिया गया है। साथ ही डीजल पेट्रोल में वैट की दर में कमी किए जाने की अधिसूचना का अनुमोदन किया गया है।

अटल दृष्टि पत्र का अनुमोदन किया गया

इसके अलावा कैबिनेट की बैठक में नवा छत्तीसगढ़ 2025 अटल दृष्टि पत्र का अनुमोदन किया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि दृटि पत्र किसी पार्टी या किसी ऐसे व्यक्ति की विचारधारा नहीं है। बल्कि इस पत्र में छत्तीसगढ़ के निवासियों की आकांक्षाओं और सपनों को दर्ज किया गया है। यह दृष्टि पत्र हमें याद दिलाता रहेगा कि हमारे कर्तव्यों और वचनों को पूरा करने के लिए हम सब कृत संकल्प्ति हैं।



Leave a Reply