घरों-मंदिरों से शुरू हुआ जन्माष्टमी उत्सव का उत्साह आज छलकेगा सड़कों पर, दही लूटने निकलेंगे ग्वाले

रायपुर (एजेंसी) | रविवार और सोमवार को लगातार 2 दिन पड़ने वाली कृष्ण जन्माष्टमी की तिथियों ने इस बार श्रद्धालुओं को उलझाया भी और उत्साह भी बढ़ाया। कई घरों में रविवार रात ही नंद उत्सव मनाया गया तो शहर के ज्यादातर मंदिरों में सोमवार की रात जन्मोत्सव मनाया जाएगा। हालांकि रविवार को सप्तमी युक्त अष्टमी होने की वजह से उपवास नहीं रखा गया। व्रत सोमवार को ही रखा जाएगा। घरों-मंदिरों से शुरू हुआ कृष्ण जन्मोत्सव का उत्साह सोमवार को दूसरे दिन चरम पर होगा, जब सड़कों पर दही लूटने के लिए ग्वालों की टोलियां निकलेंगी। शहर के अलग-अलग सामाजिक संगठनों ने 2 दिन पहले से ही जन्माष्टमी आयोजन की तैयारियां शुरू कर दी हैं।




शहर के सभी मंदिरों में जन्माष्टमी मनाने की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। किसी मंदिर में सजावट के लिए अलग-अलग राज्यों से फूल और शृंगार सामग्रियां मंगवाई गईं तो किसी मंदिर काे पूरी तरह फलों से सजाया गया है। शहर में 2 सौ से ज्यादा जगहों पर दही लूट और सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन भी किए गए हैं। इसके अगले दिन यानी मंगलवार को भी शहर में कई जगहों पर दही लूट प्रतियोगिताएं होंगी। जन्मोत्सव को लेकर कुछ मंदिरों में ऐसी तैयारियां भी की गई हैं कि रात 12 बजते ही मंदिर परिसर के अंदर हल्की बारिश, बिजली चमकने और बादल गरजने आदि माहौल को महसूस किया जा सके। एडवांस तकनीकों के जरिए मंदिरों में जन्माष्टमी को वैसा ही रूप देने का प्रयास किया गया है जैसे श्रीकृष्ण के जन्म के वक्त धर्म ग्रंथों और कथाओं में होना बताया गया है।



Leave a Reply