Chhattisgarh

कोण्डागांव : राज्य स्थापना दिवस पर कोण्डागांव में फोर्टिफाईड राईस वितरण की अभिनव योजना का मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किया ई-शुभारंभ

आज राज्य के 20वें स्थापना दिवस के अवसर पर कोण्डागांव  में जिले के सभी राशन कार्डधारियों को आयरन एवं विटामिन से युक्त फोर्टिफाईड राईस वितरण की अभिनव योजना का ई-शुभारंभ राज्य के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के द्वारा राज्य अलंकरण समारोह के दौरान किया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री द्वारा फोर्टिफाईड राईस वितरण के शुभारंभ के साथ राईस प्राप्त करने वाले हितग्राहियों से बात की एवं उन्हें चावल के अधिक से अधिक प्रयोग के लिए प्रेरित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि पूरे राज्य में केवल कोण्डागांव जिले को इस योजनांतर्गत पायलेट प्रोजेक्ट के तहत् चुना गया है। इस चावल में विभिन्न विधियों द्वारा विटामिन बी-12, बी-6, आयरन, फोलिक एसिड जैसे विटामिन एवं पोषक तत्वों को जोड़ा गया है जिससे महिलाएं एवं बच्चों में होने वाले कुपोषण को दूर कर उन्हें स्वस्थ रखने में मदद मिलेगी। हितग्राही लक्ष्मी नेताम से बात करते हुए उन्होंने इस चावल के उचित प्रयोग की विधि के संबंध में पूछा जिसपर लक्ष्मी ने कहा कि इस चावल को कूकर में कम पानी के साथ पकाकर प्रयोग करेंगे।
मुख्यमंत्री ने जिले के निवासियों से इस योजना का अधिक से अधिक प्रचार के साथ सभी को योजना का लाभ लेने को प्रेरित किया, ताकि जिले में पायलेट परियोजना को वृहद् सफलता प्राप्त हो और पूरे राज्य में इस योजना को प्रारंभ किया जा सके। मौके पर जनपद पंचायत कोण्डागांव अध्यक्ष शिवलाल मण्डावी, उपाध्यक्ष मनोज सेठिया, कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा, पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी द्वारा हितग्राहियों को फोर्टिफाईड चावल का वितरण किया गया।
बजट 2020-21 में मुख्यमंत्री ने की थी घोषणा
उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री श्री बघेल ने वर्ष 2020-21 के अपने बजट भाषण में इस योजना को प्रारंभ करने की घोषणा की थी। इसके लिए राज्य सरकार द्वारा 5 करोड़ 80 लाख रूपए का बजट प्रावधान भी किया गया है। फोर्टिफाईड चावल का वितरण सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत उचित मूल्य के दुकानों से किया जाएगा। फोर्टिफाईड राईस में आयरन, विटामिन बी-12 तथा फोलिक एसिड युक्त फोर्टिफाईड राईस करनेल (एफआरके) का मिश्रण होता है। जो लोगों को खुराक में आवश्यक पोष्टिक तत्वों की पूर्ति के साथ ही कुपोषण और एनिमिया के नियंत्रण में काफी मददगार साबित होगा। इसके सेवन से शरीर में खून की कमी दूर होगी और भू्रण विकास तथा नर्वस सिस्टम को सामान्य बनाने में मदद मिलेगी। इस राईस का वितरण कोण्डागांव जिले में सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) और अन्य कल्याणकारी योजनाओं के तहत किया जाएगा। इस राईस का भारतीय खाद्य सुरक्षा मानक प्राधिकरण (एफएसएसआई) द्वारा निर्धारित मापदण्ड अनुसार वितरण किया जाएगा।
जिले के दो राईस मिलों में होगा राईस फोर्टिफिकेशन का कार्य
कोण्डागांव जिले मेें पीडीएस एवं अन्य कल्याणकारी योजनाओं के तहत समस्त चावल को फोर्टिफाईड कर वितरित किया जाएगा। फोर्टिफाईड राईस तैयार करने लिए दो राईस मिल को राईस ब्लेडिंग कार्य सौंपा गया है। कोण्डागंाव जिले में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत एक लाख 11 हजार 217 राशनकार्ड तथा राज्य योजना के तहत 23 हजार 204 राशनकार्ड इस तरह कुल एक लाख 34 हजार 421 राशनकार्ड प्रचलित है। इस जिले में चांवल का कुल वार्षिक आबंटन 60 हजार 188 टन है जिसमें पीडीएस चांवल का 55 हजार 68 टन है और कल्याणकारी योजना, मध्यान्ह भोजन, पूरक पोषण आहार आदि योजनाओं का वार्षिक आबंटन 5 हजार 120 टन है। इस योजना को अगले चरण में राज्य के अन्य जिलों में भी लागू किया जाएगा।
इस अवसर पर विधायक प्रतिनिधि बुधराम नेताम, जिला पंचायत सीईओ डीएन कश्यप, डीएफओ उत्तम गुप्ता, एसडीएम बीआर ध्रुव, डिप्टी कलेक्टर गौतम चंद पाटिल, पवन कुमार प्रेमी, नेता प्रतिपक्ष तरूण गोलछा, नॉन प्रबंधक बीएम जगत, सदस्य हेमा देवांगन, शिवकुमार साहा, पार्षद ललिता नेताम, गोलू पोयाम, सरिता देवांगन, तबस्सुम बानो, शिल्पा देवांगन सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारी एवं आम नागरिक उपस्थित रहे।

Advertisement
Rahul Gandhi Ji Birthday 19 June

Leave a Reply