Chhattisgarh

दर्दनाक हादसा: कवर्धा में सांप के डसने से एक ही परिवार के 10 साल के बच्चे समेत 2 की मौत

कवर्धा | छत्तीसगढ़ के कवर्धा में शनिवार देर रात दंपति सहित 10 वर्षीय बेटे को सांप ने डस लिया। तीनों घर में ही जमीन पर सो रहे थे। देर रात महिला की नींद खुली तो बेटा बेहोश था। इसके बाद बेटे को लेकर दंपति अस्पताल पहुंचे, लेकिन रविवार सुबह इलाज के दौरान बेटे की मौत हो गई। इसके दो घंटे बाद दंपति ने भी अस्पताल में दम तोड़ दिया। पोस्टामार्टम के बाद तीनों का शव गांव पहुंचा तो माहौल गमगीन हो गया। घटना कुकदूर थाना क्षेत्र की है।

जानकारी के मुताबिक, कुकदूर के ग्राम मुनमुना निवासी समय लाल (40), उसकी पत्नी गंगा बाई (35) व पुत्र संदीप (10) के साथ शनिवार रात घर में जमीन पर सो रहे थे। इसी दौरान रात करीब 12 बजे तीनों को सांप ने काट लिया। सर्पदंश से गंगाबाई की नींद खुली तो उसको सांप दिया। इस पर उसने पति समय लाल को जगाया। वहीं संदीप बेहोश पड़ा हुआ था। समय लाल ने शोर मचाया तो गांव वाले एकत्र हो गए।

इसके बाद रात करीब 3 बजे गाड़ी की व्यवस्था हो पाई। दंपति अपने बेटे को लेकर पंडरिया अस्पताल पहुंचे। यहां दंपति की हालत भी बिगड़ने लगी। सभी को प्राथमिक उपचार दिया गया, लेकिन स्थिति गंभीर देख उन्हें जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। रविवार सुबह करीब 5 बजे एंबुलेंस से कवर्धा पहुंचे, जहां इलाज के दौरान 20 मिनट बाद संदीप की मौत हो गई। इसके दो घंटे बाद पति-पत्नी ने भी दम तोड़ दिया।

महज 1 मिनट में अंतराल में पति-पत्नी ने दम तोड़ा

सर्पदंश से समयलाल और उसकी पत्नी गंगाबाई की स्थिति गंभीर थी, इसलिए उन्हें बच्चे के मौत की खबर नहीं दी गई । रविवार सुबह 7.08 बजे समयलाल और उसके 1 मिनट बाद यानी सुबह 7.09 बजे गंगाबाई की भी मौत हो गई । शवों को मर्च्यूरी लाया गया, जहां पोस्टमार्टम के बाद दोपहर 12 बजे अंतिम संस्कार के लिए शवों को परिजन के सुपुर्द कर दिए।

मृतक की 3 संतान थी, दो बच्चे दूसरे कमरे में सोए थे, तो बच गए

कुकदूर थाना प्रभारी सुमित नेताम ने बताया कि समय लाल धुर्वे पेशे से किसान था। उसकी 3 संतान थी। बड़ा बेटा संदीप, जो कक्षा 5वीं में पढ़ता था। सर्पदंश से माता-पिता के साथ उसकी भी मौत हो गई। जबकि दूसरा बेटा कक्षा तीसरी  में पढ़ता हैं। उनकी एक साल की बेटी भी है। ये दोनों दूसरे कमरे में सो रहे थे।

Advertisement
Rahul Gandhi Ji Birthday 19 June

Leave a Reply