देउरगाव में शिव मंदिर के पास हुआ धमाका, जबरदस्त विस्फोट से दीवारों में हुए छेद, एक बच्चे की मौत - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo
Republic Day 2020

देउरगाव में शिव मंदिर के पास हुआ धमाका, जबरदस्त विस्फोट से दीवारों में हुए छेद, एक बच्चे की मौत

जगदलपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ के जगदलपुर जिला मुख्यालय के समीप स्थित देऊरगांव में आज उस वक्त हड़कंप मच गया, जब रविवार दोपहर एक शिव मंदिर के पास विस्फोट हो गया। जिले के चित्रकोट मार्ग स्थित शिव मंदिर के पास हुए इस धमाके में 10 साल के एक बच्चे की मौत हो गई। जबकि उसी परिवार के तीन अन्य लोग घायल हो गए। हालत गंभीर हाेने पर घायलों को रायपुर रेफर कर दिया गया है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, देउरागांव में शिव मंदिर के पास रविवार दोपहर करीब 1 बजे तेज धमाका हुआ। बताया जा रहा है कि घटना स्थल पर 10 वर्षीय ज्योति कुमार खेल रहा था। उसने ही किसी चीज को हाथ से उठा लिया और तेज धमाका हुआ। इस धमाके में ज्योति की मौत हो गई। जबकि उसी दौरान वहां मौजूद परिवार के तीन अन्य सदस्य रामेश्वर, विद्याधर और त्रिलोचन उसकी चपेट में आकर घायल हो गए। धमाके की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई और घायलों को अस्पताल पहुंचाया, जहां से उनकी हालत गंभीर देख रायपुर रेफर कर दिया गया।

शादी और शिवरात्रि की खुशी मातम में बदली

इधर जो लोग बम की चपेट में आए हैं वे और उनका परिवार शिवरात्रि और परिवार में होने वाली शादी की खुशियां मना रहा था। अचानक हुए ब्लास्ट के बाद अब खुशियों का माहौल मातम में बदल गया है।

इधर दूसरे बच्चे के दोनों पैर बुरी तरह चोटिल बेहोशी में कहता रहा- मुझे पेपर देने जाना है 

इधर धमाके में 16 वर्षीय त्रिलोचन भी गंभीर रूप से घायल हुआ है। उसके दोनों पैरों की हडि्डयां टूट गईं और ऊपर की चमड़ी भी खराब हो गई है। उसके शरीर से ज्यादा खून बह जाने के कारण उसकी स्थिति गंभीर हो गई है और उसे निजी हास्पिटल के आईसीयू में भर्ती करवाया गया है। यहां दोपहर बाद जब उसे हल्का होश आया तो उसके मुंह से पहले शब्द यही थे कि मेरा पेपर है मुझे पेपर देने जाना है।

ग्रामीण दहशत में, अफवाहों का बाजार गर्म इधर पुलिस बोली- निम्न क्वालिटी के सुअर बम से विस्फोट

इधर घटना के बाद स्थानीय ग्रामीण दहशत में है। ग्रामीणों ने विधायक दीपक बैज से मांग की कि वे पुलिस से कहें कि पूरे इलाके में बम डिस्पोजल टीम से सर्चिंग करवाई जाए और यदि कहीं और बम है तो उसे ढूंढ़कर निकाला जाए। धमाके के बाद से अफवाहों का बाजार भी गर्म है कोई इसे नक्सली वारदात बताने लगा तो कोई कहने लगा कि चांदमारी के लिए उपयोग किया जाने वाला हैंडग्रेनेड यहां था जो फट गया।

इधर दोपहर बाद पुलिस ने अपनी ओर से स्थिति को स्पष्ट करने की कोशिश की और लोगों के लिए तथ्यात्मक जानकारी देने का दावा करते हुए एसडीओपी यूलैंडन यार्क ने कहा कि विस्फोट दुर्घटनावश हुआ है और घटना में निम्न क्वालिटी के सुअर बम (स्थानीय भाषा में) या किसी इलेक्ट्रानिक सामान के उपकरण में विस्फोट की संभावना होने की गुंजाइश है। इसके अलावा किसी भी प्रकार के परंपरागत हैंडग्रेनेड या आईईडी विस्फोट नहीं होने की जानकारी दी।

विधायक पहुंचे घटनास्थल, घायलों के इलाज के लिए भी करवाई सरकारी व्यवस्था

इधर घटना के तुरंत बाद चित्रकोट विधायक दीपक बैज भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने अफसरों से विस्फोट की जानकारी ली इसके बाद मौके पर ही मामले की बारीकी से जांच के निर्देश पुलिस वालों को दिए। यहां से वे निजी हास्पिटल भी पहुंचे और घायलों का हालचाल जाना। इसके बाद घायलों की आर्थिक स्थिति को देखते हुए उन्होंने हास्पिटल प्रबंधन से घायलों का इलाज सरकारी खर्च पर करने कहा। उन्होंने तत्काल कलेक्टर और एसपी को घायलों की मदद के लिए फोन भी किया।

Leave a Reply