Chhattisgarh Politics

राजिम माघी पुन्नी मेला में पंच-सरपंच, किसान, युवा, आदिवासी, सम्मेलन सहित आदर्श सामुहिक विवाह, मितानिन सम्मेलन समेत पारम्परिक छत्तीसगढ़ी खेल-कूद का होगा आयोजन 

गरियाबंद | राजिम माघी पुन्नी मेला आस्था, आध्यात्म और संस्कृति का संगम है। मेले में हजारों की संख्या में दर्शनार्थी आकर भगवान कुलेश्वरनाथ और राजीव लोचन का दर्शन करते है। शासन द्वारा मेले के आयोजन और सफलता के लिए हर संभव प्रयास किया जाता है। इसी कड़ी में लोगों को शासकीय योजनाओं से अवगत कराने और उसका लाभ दिलाने के प्रयास भी किये जाते हैं। माघी पुन्नी मेला में इस बार विभिन्न सम्मेलनो और आयोजनों के माध्यम से शासकीय योजनाओं से लोगों को परिचित कराया जायेगा।

वही राजिम माघी पुन्नी मेला में इस बार भी छत्तीसगढ़ी पारम्परिक खेल-कूल आकर्षण के केन्द्र रहेंगे। छत्तीसगढ़ के पारम्परिक और प्राचीन खेल, भांवरा, बाटी, बिल्लस, फुगड़ी, तिरी-पासा, पौसम पा, लंगड़ी, गोंटा, पित्तुल, फल्ली और नून जैसे खेलों की खनक गुजेंगी। ज्ञात है कि इस वर्ष राजिम माघी पुन्नी मेला का आयोजन 9 फरवरी से 21 फरवरी तक किया जा रहा है।

शासन की मंशा के अनुरूप मेला स्थल में प्रतिदिन दोपहर 3 बजे से शाम 4 बजे तक बच्चों द्वारा पारम्परिक खेल-कूद का प्रदर्शन किया जायेगा। इस संबंध में तैयारी कर ली गई है एवं जिम्मेदारी भी तय किया गया है। प्रतिदिन 30 से 40 बच्चे इस खेल के माध्यम से छत्तीसगढ़ की प्रचीन खेलों से लोगों को अवगत करायेंगे।

धर्मस्व मंत्री ताम्रध्वज साहू एवं स्थानीय समिति द्वारा लिये गये निर्णय के अनुसार गृहमंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री ताम्रध्वज साहू की अध्यक्षता में 9 फरवरी को पंच सरपंच सम्मेलन का आयोजन किया जायेगा। इसी तरह कृषि मंत्री के मुख्य आतिथ्य में 10 फरवरी को किसान सम्मेलन, वनमंत्री के मुख्य आतिथ्य में 12 फरवरी को वन समिति का सम्मेलन, खेल मंत्री के मुख्य आतिथ्य में 14 फरवरी को युवा सम्मेलन, महिला एवं बाल विकास मंत्री के मुख्य आतिथ्य में 16 फरवरी को आदर्श सामुहिक विवाह सम्मेलन, पंचायत एवं स्वास्थ्य मंत्री के मुख्य आतिथ्य में 18 फरवरी को बिहान एवं मितानिन सम्मेलन तथा आदिवासी एवं शिक्षा मंत्री के मुख्य आतिथ्य में 19 फरवरी को आदिवासी सम्मेलन आयोजित किया जायेगा। विभिन्न सम्मेलन में विधायक राजिम अमितेश शुक्ल, विधायक अभनपुर धनेन्द्र साहू, विधायक सिहावा डॉ. लक्ष्मी ध्रुव एवं विधायक कोण्डागांव मोहन मरकाम अध्यक्षता करेंगे।

राजिम माघी पुन्नी मेला के दाल-भात केन्द्र में लगी अधिकारियों की ड्यूटी

आगामी 09 फरवरी से 21 फरवरी तक राजिम माघी पुन्नी मेला का आयोजन किया जा रहा है। यहां दूर-दराज से आए श्रद्धालु, तीर्थ यात्रियों के लिए दाल-भात केन्द्र संचालित किया जाएगा। आबंटित दालभात केन्द्रों को प्रतिदिन चावल प्रदाय करने, दाल-भात वितरित कराने, दाल-भात केन्द्र का प्रतिदिन के संचालन पर निगाह रखने एवं निगरानी के लिए कलेक्टर श्री रजत बंसल ने तीन पालियों में अधिकारियों की ड्यूटी लगाया है। खाद्य विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक सुबह 10 से शाम पांच बजे तक सहायक खाद्य अधिकारी कुरूद श्री भेलेन्द्र ध्रुव और खाद्य निरीक्षक मगरलोड श्री राकेश कुमार खत्री तथा शाम पांच से रात्रि 12 बजे तक खाद्य निरीक्षक कुरूद श्री आशिष चन्द्राकर की ड्यूटी लगाई गई है।

Leave a Reply