ganesha-chaturthi-22-aug-2020
Chhattisgarh

कोरोना वायरस का असर गणेश चतुर्थी पर, प्रतिमाओं की खरीदारी घटी, सार्वजानिक कार्यक्रम भी रद्द

रायपुर में 11 दिनों तक धूमधाम से मनाया जाने वाला एक मात्र उत्सव इस बार फीका है। शहर में बनने वाले करीब 150 पूजा पंडाल इस बार नजर नहीं आएंगे। कोरोना का असर गणेशोत्सव के बाजार के साथ इससे जुड़े आयोजनों पर पड़ा है। शनिवार को गणेश चतुर्थी के दिन सुबह से ही बाजार की आधी प्रतिमाएं बिक जाया करती थीं। मगर दोपहर तक दुकानदार ग्राहकों के इंतजार में रहे। घरों में भी हर साल आयोजन करने वाले लोग भी इस बार प्रतिमाएं कम ही स्थापित कर रहे हैं। पहला मौका है जब शहर में एक भी बड़ा गणपति पंडाल नहीं मनाया गया है।

लगभग शहर के हर घर में मनाया जाने वाले इस उत्सव में कोरोना संकट की वजह से लोगों में उत्साह कम है। सदर बाजार में प्रतिमाओं की दुकान लगाने वाले अनिल प्रजापति ने बताया कि पिछले दो दिनों में जो उम्मीद थी उससे बेहद कम प्रतिमाएं बिकीं। कीमतों पर भी असर पड़ा है बीते साल 1 हजार रुपए में बिकने वाली प्रतिमाओं को अब 600 रुपए तक बेच रहें हैं। पूरे बाजार में गणेश चतुर्थी के दिन दोपहर तक 80 प्रतिशत प्रतिमाएं बिक जाती थीं, इस बार इसी तादाद में मूर्तियां बची हुई हैं।

जिला प्रशासन की तरफ से इस बार झांकी की भी अनुमति नहीं दी गई है। पंडाल में मूर्ति का साइज 4 फीट और पंडाल का साइज 15 फीट से ज्यादा नहीं, दर्शन के लिए आने वाले लोगों का भी नाम पता और मोबाइल नंबर लिखना होगा, पंडाल में सीसीटीवी लगाना होगा, सैनिटाइजर, थर्मल स्क्रीनिंग, ऑक्सीमीटर, हैंडवॉश, क्यू मैनेजमेंट की व्यवस्था, अगर पंडाल में दर्शन के लिए आया व्यक्ति संक्रमित होता है तो आयोजकों को पूरा खर्च उठाना होगा।

Leave a Reply