Chhattisgarh

नक्सल ऑपरेशन के लिए फील्ड प्लान तैयार: सीएम ने कहा- तालमेल बढ़ाएं, इंटेलिजेंस इनपुट को मजबूत करें

बारिश के बाद नक्सलियों के खिलाफ आपरेशन शुरू करने से पहले रविवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य पुलिस और सेंट्रल फोर्स के साथ रिव्यू मीटिंग कर फील्ड प्लान का जायजा लिया। बघेल ने कहा कि आपरेशन इस प्रकार चलाएं कि फोर्स को कम से कम कैज्युएल्टी हो। उन्होंने राज्य पुलिस के अफसरों से कहा कि पड़ोसी राज्य और केंद्रीय बलों के साथ तालमेल बढ़ाएं।

इसके अलावा इंटेलिजेंस इनपुट को भी मजबूत करें। बता दें कि बीजापुर और सुकमा के इलाकों में नक्सली वारदातों में तेजी आई है। खासतौर पर जन अदालत लगाकर लोगों को मारने की कई घटनाएं हुई हैं। बैठक के दौरान मंत्री कवासी लखमा और उस क्षेत्र के बड़े नेताओं ने इन घटनाओं की विस्तार से जानकारी दी।

सीएम ने प्रदेश के नक्सल प्रभावित जिलों में सुरक्षा, कानून और व्यवस्था के साथ ही विकास कार्यों और जनकल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन की भी समीक्षा की। इसके अलावा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य पुलिस महानिदेशक और सीआरपीएफ के आईजी से कहा कि केंद्र ने जो सात बटालियन राज्य को दी है इसके लिए गृह मंत्री से लगातार फॉलो अप करते रहें। इस संबंध में सीएम बघेल ने पिछले दिनों शाह को पत्र भी भेजा था। इन बटालियन के कैंप एरिया में जनता के विरोध करने के संबंध में भी सीएम ने पुलिस अफसरों से जानकारी ली। ग्रामीण कैंप एरिया का विरोध कर रहे हैं।

बैठक में गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, उद्योग मंत्री कवासी लखमा, मुख्य सचिव आर.पी. मंडल, एसीएस सुब्रत साहू, पुलिस महानिदेशक डी.एम. अवस्थी, स्पेशल डीजी अशोक जुनेजा, सीएम सेक्रेट्री सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी, विशेष पुलिस महानिदेशक सी.आर.पी.एफ. कुलदीप सिंह, एआईजीबी.एस.एफ. थाऊजेन्ट, आईजी बस्तर पी. सुन्दरराज, दुर्ग विवेकानंद सिन्हा, आईजी सी.आर.पी.एफ. प्रकाश, डीआईजी आई.टी.बी.पी. छोटेराम जाट उपस्थित थे।

केंद्रीय बल मिलना फिलहाल मुश्किल

इधर खबर है कि अगले महीने होने वाले बिहार विस और 65 विस उपचुनावों को देखते हुए छत्तीसगढ़ के लिए मंजूर 7 बटालियनों की तैनाती मुश्किल लग रही है। केंद्र इसे कुछ दिन और टालना चाहेगा। राज्य में इस समय कुल 47 केंद्रीय बटालियनें तैनात हैं।

Leave a Reply