'20 रुपए लीटर पानी की बोतलें और दूध 22 रुपए प्रति लीटर' कहकर, नाले में बहा दिया सारा दूध - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

’20 रुपए लीटर पानी की बोतलें और दूध 22 रुपए प्रति लीटर’ कहकर, नाले में बहा दिया सारा दूध

गरियाबंद (एजेंसी) | घटना गरियाबंद जिले की है, जहा दुग्ध उत्पादक किसानो ने वाजिब दाम नहीं मिलने और दूध की बिक्री नहीं होने से भड़क गए। और उसके बाद गुस्साए किसानों ने बुधवार को सारा दूध नाले में बहा दिया। किसानों ने दूध खरीदने वाले ठेकेदार पर आरोप लगते हुए कहा कि वह अपनी मनमर्जी करता है। वह उन्हें दूध के उचित दाम नहीं दे रहा हैं और कई बार सही दूध को भी गुणवत्ताहीन बताकर एक दिन बाद वापस लौटा दिया जाता है।

किसान अर्द्धशासकीय कंपनी देवभाेग को बेचते हैं दूध

गरियाबंद जिले के दुग्ध उत्पादक किसान दूध स्थानीय अर्द्धशासकीय कंपनी देवभोग को बेचते हैं। कंपनी के लिए किसानो से दूध खरीदने का काम एक ठेकेदार करता है। किसानों का आरोप है कि ठेकेदार ने मुनाफा कमाने के लिए अपने अलग नियम और शर्तें बना रखी हैं और उसी आधार पर दूध की खरीदी की जाती है। किसानों का कहना है कि सही दूध को भी गुणवत्ताहीन बताकर एक दिन बाद लौटा दिया जाता है जिससे उनको भारी नुकसान होता है।




कंपनी अधिकारी किसानो से बात करने को तैयार नहीं

किसानों ने ये भी आरोप लगाया है कि उन्होंने समस्या से निपटने के लिए कई बार दुग्ध कंपनी के अधिकारियों से भी बात करने की कोशिश की। लेकिन अधिकारियों ने उन्हें कोई तवज्जों नहीं दी। किसानों का आराेप है कि ठेकेदार भी इस मामले में उनको ही गलत साबित करने की कोशिश में लगा हुआ है।

छह माह में ये तीसरी बार है जब किसानो ने दूध बहाया

ये कोई पहला मौका नहीं है जब गरियाबंद के दुग्ध उत्पादक किसानों ने दूध को इस तरह नाले में बहा दिया। इससे पहले भी किसान पिछले छह माह में दो बार दूध पानी में बहाकर अपनी नाराजगी व्यक्त कर चुके हैं। जिले के हजारों दुग्ध उत्पादक किसान पिछले कई महीने से घाटे में चल रहे हैं।

20 रुपए में पानी की बोतल, 22 रुपए में दूध

प्रदेश में एक ओर जहाँ 20 रुपए प्रति लीटर पानी की बोतलें बिक रही हैं, वहाँ किसानों को दूध 22 रुपए प्रति लीटर बेचना पड़ रहा है। ऐसे में किसानों को होने वाले नुकसान का अंदाजा लगाया जा सकता है। यह बात तकलीफदेह है जबकि सरकार 2022 तक प्रदेश में किसानों की आय दोगुना करने का दावा करती है।



Leave a Reply