Chhattisgarh

राइस मिल हादसा: मालिक के बेटे समेत दोनों मजदूरों की मौत, 16 घंटे बाद निकाले गए शव

दुर्ग (एजेंसी) | धमधा रोड के समोदा स्थित हरदास राइस मिल में रविवार को हुए हादसे में मिल मालिक के बेटे समेत दोनों मजदूरों की मौत हो गई। तीनों के शवों को एसडीआरएफ की टीम ने करीब 16 घंटे बाद मलबे से बाहर निकाला। मिल मालिक के बेटे सिंधी कॉलोनी निवासी रवि केशवानी (30) ने ही दोनों मजदूरों को टेक्निकल काम करने के लिए बिहार के फतेहपुर से बुलवाया था। अभी तक दोनों मजदूरों के शवों की पहचान नहीं हो सकी है।

शव मिले, लेकिन बिहार से बुलाए गए मजदूरों की शिनाख्त नहीं

जानकारी के मुताबिक, समोदा स्थित राइस मिल में रविवार सुबह करीब 11.30 बजे अचानक से ड्रायर गिर पड़ा। ड्रायर को मलबे में मालिक का बेटा रवि केशवानी और दो मजदूर दब गए थे। हादसे की जानकारी भी प्रशासन को करीब दो घंटे बाद मिली। इस पर पुलिस प्रशासन के साथ ही एसडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंची और राहत व बचाव कार्य शुरू किया। देर रात तक क्रेन से मलबा हटाने का प्रयास जारी रहा, लेकिन ड्रायर भारी होने और एक-दूसरे से जुड़े होने के कारण दिक्कत आ रही थी।

इसके बाद एसडीआरएफ की टीम तड़के करीब 3 बजे मलबे को हटाने में कामयाब रही। सबसे पहले मिल मालिक रवि केशवानी का शव मिला। उसकी पहचान होने के बाद सुबह करीब 8 बजे बाकी दोनों मजदूरों के शव निकाले जा सके। रवि के पिता ने बताया कि दोनों मजदूरों उपेंद्र और श्याम को उनके बेटे ने ही बुलवाया था। हालांकि दोनों मजदूरों में कौन उपेंद्र है और कौन श्याम इसकी जानकारी नहीं हो सकी है।

अब पुलिस उनके शवों को लेकर जानकारी जुटाने का प्रयास करेगी। इसके लिए बिहार पुलिस की भी मदद ली जा रही है और मजदूरों की भी आईडी का पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि मिल की रिपेयरिंग का काम चल रहा था, उसी दौरान ये हादसा हो गया। हालांकि अभी भी आशंका जताई जा रही है कि मलबे के नीचे और भी लोग दबे हो सकते हैं। ऐसे में बचाव कार्य को रोका नहीं गया है।

Advertisement
Rahul Gandhi Ji Birthday 19 June

Leave a Reply