Chhattisgarh

दुर्ग: अवैध शराब फैक्ट्री का भंडाफोड़, किराए के मकान में इंजीनियरिंग छात्र बनवा रहा था नकली शराब, निकाय चुनाव में बांटने की थी तैयारी

दुर्ग (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ के दुर्ग में पुलिस ने मंगलवार देर शाम अवैध शराब फैक्ट्री का भंडफोड़ किया है। बोरसी क्षेत्र की पैराडाइज कॉलोनी स्थित एक किराये के मकान में चलाई जा रही इस फैक्ट्री में चुनाव में बांटने के लिए शराब बनाई जा रही थी। पुलिस ने इस मामले में मास्टर माइंड सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। पकड़ा गया मास्टर माइंड बिहार का रहने वाला है और राजस्थान के उदयपुर में कंप्यूटर साइंस के इंजीनियरिंग का छात्र है। मार्केट से कम दाम में शराब बेचने की सूचना पर पुलिस ने छापा मारा था।

महीने भर से चला रहे थे अवैध फैक्ट्री, 94 बॉटल शराब, 45 लीटर स्प्रिट जब्त

पुलिस ने बताया कि गिरोह का मास्टरमाइंड दीपक है। वह बालोद निवासी ओमेंद्र और गुंडरदेही निवासी वासुदेव के साथ मिलकर अवैध शराब बनाने के काम को अंजाम दे रहा था। आरोपियों के कब्जे से 94 बॉटल बनी हुई शराब और करीब 45 लीटर स्प्रिट बरामद हुई है। पुलिस को सूचना मिली कि कुछ युवक शराब दुकानों और सार्वजनिक जगहों पर मार्केट से कम कीमत पर देशी शराब उपलब्ध करा रहा है। आरोपी किराए के खाली मकान में करीब महीनेभर से शराब की अवैध फैक्ट्री का संचालन कर रहे थे।

चुनावी समर का उठाना चाहता था पूरा फायदा

मास्टर माइंड दीपक ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि उसे शराब बनाने में महारत हासिल है। कम समय में ज्यादा पैसे कमाने ऐसा किया। छापेमारी के दौरान पुलिस को मौके से कुल 40 लीटर शुद्ध स्प्रिट जप्त किया गया साथ ही 70 लीटर बनी हुई शराब जप्त की। करीब 20 लीटर कच्ची शराब बनाई जा सकती है। 50 लाख रुपए तक की शराब बनाई जा सकती थी। पुलिस को मौके से डिग्री जांच करने के लिए थर्मामीटर हाइड्रो मीटर बोतल सील करने की मशीन भी मिली है।

Advertisement
Rahul Gandhi Ji Birthday 19 June

Leave a Reply