Chhattisgarh Tourism

धमतरी: नरहरा धाम में पर्यटन स्थल विकसित किया जायेगा, कलेक्टर ने क्षेत्र का किया दौरा

धमतरी | कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने सोमवार 13 जुलाई की शाम को नगरी विकासखण्ड की ग्राम पंचायत झूरातराई के आश्रित ग्राम कोटरवाही में स्थित नरहरा धाम में पर्यटन की संभावनाएं तलाशकर उसे व्यवस्थित ढंग से विकसित करने स्थल का निरीक्षण एवं अवलोकन किया। कलेक्टर ने पर्यटन क्षेत्र के विकास के लिए ग्राम पंचायत और वहां की स्वसहायता समूहों को पूरी तरह संलग्न कर पार्किंग जोन व प्रवेश शुल्क आदि के जरिए आय अर्जित करने के निर्देश जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती नम्रता गांधी को दिए।

कलेक्टर मौर्य ने सोमवार को नैसर्गिक सौंदर्य से भरपूर रमणीय स्थल नरहरा धाम पर्यटन स्थल का अवलोकन एवं निरीक्षण कर इसे बेहतर ढंग से संचालन के लिए निर्देश दिए। विशेष तौर पर बाहर से आने वाले पर्यटकों से पार्किंग शुल्क लेने, स्वच्छता बरतने तथा पूरे क्षेत्र को मदिरापान निषिद्ध जोन बनाकर सुरक्षात्मक उपाय सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

इसके अलावा पर्यटकों को डेंजर पाइंट में प्रवेश नहीं देने, जंगल के प्राकृतिक सौंदर्य को नुकसान नहीं पहुंचाने व प्लास्टिक फ्री जोन बनाने के लिए महिला स्वसहायता समूहों को प्रशिक्षित करके उन्हें व्हिसिल, एप्रन, परिचय-पत्र आदि प्रदान करने के लिए कहा तथा इसका स्वत्वाधिकार ग्रामसभा को सौंपे जाने के संबंध में कलेक्टर ने निर्देशित किया।

उन्होंने ग्रामीणों की बैठक लेकर उन्हें बताया कि नरहरा को पर्यटन के तौर पर विकसित करने से ग्रामीणों को बड़े पैमाने पर सुनिश्चित आय प्राप्त होगी। इसके चलते स्वरोजगार के अवसर तथा स्थानीय उत्पादों को भी बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने टोल नाके को गांव के प्रवेश स्थल के बजाय पर्यटन क्षेत्र में स्थापित करने के निर्देश सचिव को दिए। साथ ही ग्राम पंचायत के सचिव को वहां वाहनों की संख्या निर्धारित करने के लिए निर्देशित किया कि यहां पर आने वाले दुपहिया, तिपहिया, चारपहिया तथा भारी वाहनों की एक सप्ताह में कितनी आवाजाही और उनसे शुल्क की कितनी वसूली होती है, की जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए, जिससे आगे की कार्ययोजना तैयार की जा सके।

उल्लेखनीय है कि पर्यटन के दृष्टिकोण से तेजी से विकसित हो रहे नरहरा धाम में सैलानियों की लगातार बढ़ती भीड़ व आवाजाही को दृष्टिगत करते हुए वहां पर पर्यावरणीय सुरक्षा, स्वच्छता, पर्यटन का समय, सुरक्षा बलों की तैनाती, प्लास्टिक फ्री जोन तैयार करने के उद्देश्य से कलेक्टर ने आदेश जारी किया है, जिसके तहत सुबह नौ बजे से शाम 5.30 बजे पर्यटकों को प्रवेश दिया जाएगा। टोल नाका बेरियर में दुपहिया वाहनों से 20 रूपए, चारपहिया वाहनों से 50 तथा भारी वाहनों से 100 रूपए (पेयजल, स्वच्छता एवं शौचालय शुल्क सहित) लिए जाने संबंधी आदेश जारी किया गया है।

इसी तरह शनिवार व रविवार को पुलिस के जवान तैनात करने, पर्यटन क्षेत्र में मदिरापान नहीं करने तथा पर्यटकों को 15 रूपए में मास्क उपलब्ध कराने के लिए आदेश जारी किया गया है। इसके अलावा पर्यटन क्षेत्र में स्वच्छता, मंदिर, वॉटरफॉल पाइंट, शौचालय आदि के संचालन एवं संधारण की जिम्मेदारी पंचायत द्वारा गठित समितियों को सौंपी गई है।

Leave a Reply