Chhattisgarh

अवैध खनन रुका, महानदी का बहाव रोकने को बनाई मुरुम की सड़क तोड़ी

धमतरी | फिलहाल रेत का अवैध खनन रुक गया है। पिछले करीब एक सप्ताह से यह काम रुका हुआ है। इस कारण रेत के भाव करीब डेढ़ गुना तक बढ़ गए हैं। जोरातराई में जिला पंचायत सदस्य के साथ मारपीट के बाद भास्कर ने 21 जून को इस मुद्दे को प्रमुखता से उठाया था। ‘रेत माफिया हर रोज निकाल रहे हजारों ट्रॉली रेत, नदी में मुरुम की सड़क भी बना ली’.. खबर प्रकाशित की थी। इसके बाद से रेत के अवैध कारोबार में लगे लोगों को काम रोक देने को कहा गया है।

कोलियारी में रेत माफिया द्वारा महानदी में बनाई गई बनाई मुरुम की सड़क तोड़ दी गई है। यहां अब ट्रैक्टरों की कतार नहीं लग रही है। सूत्रों के मुताबिक जिला पंचायत सदस्य के साथ मारपीट होने के बाद सीएम ने भी रेत के अवैध कारोबारियों पर नकेल कसने कहा था। सत्ताधारी दल बैकफुट पर था। इसके बाद से अफसरों पर भारी दबाव है। सूत्रों के मुताबिक अफसरों को हर स्थिति में रेत के अवैध कारोबार को रोकने कहा गया था। इसके बाद यह काम पूरी तरह रुक गया है।

शहर के आसपास महानदी में हर रोज दिखाई देने वाले सैकड़ों पिछले एक सप्ताह से नजर नहीं आ रहे हैं। भास्कर टीम शनिवार को फिर उन्हीं स्थानों पर गई जहां 20 जून को जाकर ग्राउंड रिपोर्ट की थी। अवैध खनन के स्थान बताए थे। इसके बाद से अफसरों ने इस कारोबार को पूरी तरह रोक दिया है। अछोटा पुल के नीचे, कोलियारी, खरेंगा आदि गांवों में अब ट्रैक्टर ट्रालियों में रेत भरती नजर नहीं आ रहा है। सूत्रों के मुताबिक जिले पर सीएम की नजर है इस कारण अफसर कोई जोखिम नहीं ले रहे हैं। कांग्रेस पदाधिकारियों व जनप्रतिनिधियों ने भी रेत के अवैध कारोबार के विरुद्ध आवाज उठाई थी। इसके बाद से इस अवैध कारोबार पर नकेल कस गई है।

कोलियारी में थी माफिया की मनमानी

बारिश के कारण नदी में पानी भी आ गया है। यह भी अवैध खनन रोकने में सहयोग कर रहा है। कोलियारी में सबसे ज्यादा अवैध खनन होता रहा है। यहां रेत माफिया ने नदी में सड़क तक बना ली थी। सैकड़ों ट्रैक्टरों की कतार लगी रहती थी। अब यहां सड़क को तोड़ दिया गया है। पानी बह रहा है।

अवैध खनन में शामिल 21 गाड़ियां जब्त तीन चेन माउंटेन मशीन भी: खनिज अफसर

खनिज अधिकारी सनत साहू ने बताया है कि पिछले एक सप्ताह में लगातार कार्रवाई करके कुल 21 वाहन जब्त किए हैं। इनमें 13 ट्रैक्टर, 2 ट्रेलर, 3 डंपर व तीन चेन माउंटेन मशीन शामिल हैं। 1 चेन माउंटेन मशीन सरगी व 2 जोरातराई खदान से जब्त की गईं हैं। डपंर राजपुर व बंजारी से जब्त किए हैं। यहां रेत का अवैध भंडारण करके रखा गया था। वाहनों को जब्त करके अलग-अलग स्थानों पर रखा गया है। इनमें से 3 ट्रैक्टर पर 31,800 रुपए जुर्माना लगाया गया है। इन्हें छोड़ दिया है। जिले में कुल 23 रेत खदानों की अनुमति है। इनमें से 17 खदानें चल रहीं हैं। 6 की प्रक्रिया चल रही है।

डेढ़ गुना बढ़े रेत के दाम

रेत खदानों में काम बंद होने व अवैध खनन रुकने से रेत के भाव डेढ़ गुना तक बढ़ गए हैं। एक ट्रैक्टर-ट्रॉली रेत 1000 रुपए में मिल रही है। पहले यह 700 तक मिल रही थी। डंपर 4 से 4500 तक मिल रहा। पहले एक डंपर रेत की कीमत 3 हजार तक थी। हालांकि इस समस्या को कम करने के लिए खनिज विभाग ने जिले में 1718 स्थान तय किए हैं। यहां रेत डंप करके रखी गई है। इसे खरीदा जा सकता है।

Advertisement
Rahul Gandhi Ji Birthday 19 June

Leave a Reply