India

SBI: न्यूनतम बैलेंस रखने की अनिवार्यता खत्म, बचत खाते, एफडी पर ब्याज दरों में कटौती; होम लोन हो सकता है कम

नई दिल्ली | स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने होली बाद अपने ग्राहकों को बड़ी खुशखबरी दी है। दरअसल बुधवार यानी 11 मार्च को बैंक की तरफ से सभी तरह के सेविंग अकाउंट में प्रतिमाह न्यूनतम बैलेंस रखने की अनिवार्यता को खत्म कर दिया है। एसबीआई बैंक के इस फैसले से 44.51 करोड़ ग्राहकों को इसका फायदा होगा।

साथ ही देश के सबसे बड़े ऋणदाता भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड्स बेस्ड लेंडिंग रेट (MCLR) में 15 आधार अंकों की कटौती की है। ये 10 मार्च से लागू हो गया है। एमसीएलआर के कम होने से होम लोन सस्ता हो सकता है। एसबीआई ने एक साल के एमसीएलआर को 10 बेसिस प्वाइंट घटाकर 7.85% से 7.75% कर दिया है। चालू वित्त वर्ष में बैंक द्वारा एमसीएलआर में यह लगातार 10वीं कटौती है। ऋणदाता ने 10 फरवरी को सभी किरायेदारों के आधार पर एमसीएलआर दरों में 5 आधार अंकों की कटौती की थी।

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) की ब्याज दरों में कटौती की है। ये दूसरा मौका है जब इस महीने में ब्याज दरों में कटौती की गई हो। एफडी की नई दरें 10 फरवरी से लागू हो चुकी हैं। एसबीआई ने ये साफ किया है कि नई दरें नई एफडी पर ही लागू होंगी।

न्यूनतम बैलेंस रखने की अनिवार्यता खत्म

बता दें कि अभी तक एसबीआई खाताधारकों को सेविंग अकाउंट में प्रतिमाह एक तयशुदा राशि रखना अनिवार्य होता है। ऐसा न होने पर बैंक की तरफ से ग्राहकों से पेनल्टी के तौर पर 5 से 15 रुपए प्रतिमाह के हिसाब से काट लिए जाते थे।

प्रतिमाह न्यूनतम बैलेंस रखने की सीमा

शहरी इलाकों में एसबीआई खाताधारकों को न्यूनतम बैलेंस के तौर पर 3000 रुपए रखना होता है। वहीं कस्बों के लिए यह लिमिट 2000 रुपए है, जबकि ग्रामीण इलाकों के लिए न्यूनतम बैलेंस की लिमिट 1,000 रुपए थी।

सभी बचत खातों पर 3 फीसदी की दर से मिलेगा ब्याज

एसबीआई ने सभी बचत खातों पर ब्याज दर समान रुप से तीन प्रतिशत वार्षिक कर दिया है। मौजूदा वक्त में एसबीआई सेविंग अकाउंट पर एक लाख तक के डिपॉजिट पर 3.25 फीसदी के हिसाब से ब्याज मिलता है, जबकि एक लाख से ज्यादा के डिपॉजिट पर 3 फीसदी की दर से ब्याज मिलता है। इसके अलावा बैंक ने तिमाही आधार पर एसएमएस सेवा के लिए वसूले जाने वाले शुल्क को भी खत्म कर दिया है। एसबीआई संपत्तिस डिपॉजिट, ब्रांच और ग्राहक और कर्मचारी के मामले में भारत का बड़ा कामर्शियल बैंक है। यह गिरवी रखकर कर्ज देकर वाला सबसे बड़ा बैंक भी है। 31 दिसंबर 2019 तक बैंक की 21,959 ब्रांच में 31 लाख करोड़ रुपए का डिपॉजिट हुआ है।

होम लोन हो सकता है कम, ऋणधारकों को तुरंत नहीं होगा फायदा

एमसीएलआर दरें बैंक की अपनी लागत पर आधारित होती है। यदि आपका होम लोन एसबीआई की एमसीएलआर दर से जुड़ा है, तो नई कटौती आपकी ईएमआई को तुरंत नीचे नहीं ला सकती है, क्योंकि एमसीएलआर आधारित ऋण में आमतौर पर एक साल का रीसेट क्लॉज होता है। नए संशोधन से एसबीआई ने एक महीने की एमसीएलआर में 15 आधार अंकों की कमी करके इसे 7.45% कर दिया गया है।

तीन महीने के एमसीएलआर को 7.65% से संशोधित कर 7.50% कर दिया गया है। नए दो साल और तीन साल के एमसीएलआर 10 आधार अंकों की कमी के साथ क्रमशः 7.95% और 8.05% पर आ गए हैं।

7 से 45 दिन की एफडी पर अब 4% ब्याज मिलेगा

नए अपडेट के मुताबिक, एसबीआई की 7 से 45 दिन की अवधि वाली एफडी पर 4% का ब्याज मिलेगा, जो पहले 4.5% मिलता था। ठीक इसी तरह, 1 से 5 साल की अवधि वाली एफडी पर 5.9% का ब्याज मिलेगा, जो पहले 6% मिलता था। वहीं, 5 से 10 साल की एफडी पर अब 5.9% का ब्याज मिलेगा, जो पहले 6% मिलता था।

एसबीआई ने ब्याज दरों में कटौती को लेकर एक बयान में कहा था कि ‘सिस्टम में अतिरिक्त नकदी को देखते हुए एसबीआई रिटेल टर्म डिपोजिट (दो करोड़ रुपए तक) और बल्क टर्म डिपोजिट (दो करोड़ रुपए से अधिक) के ब्याज दरों में बदलाव कर रहा है। ये बदलाव 10 फरवरी, 2020 से लागू हो जाएंगे।

ऐसे समझें ब्याज की नई दरें

मान लीजिए आप स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में 1 लाख रुपए की एफडी 1 साल से 2 साल के बीच के लिए लेते हैं। तब नई दरों के हिसाब से इस पर 5.9% का ब्याज मिलेगा। तो इसका रिटर्न कुछ इस तरह होगा…

  • एफडी : 1,00,000 रुपए
  • अवधि : 1 साल
  • ब्याज दर : 5.9%
  • ब्याज मिलेगा : 6031 रुपए
  • कुल रिटर्न : 1,06,031 रुपए

पहले 6% का ब्याज मिलता था, तब 1 लाख की एफडी पर 6136 रुपए का ब्याज मिलता। यानी कुल रिटर्न 1,06,136 रुपए होता। जो नई ब्याज दरों की तुलना में 105 रुपए ज्यादा होता।

आम जनता के लिए एसबीआई एफडी की नई दरें

अवधि रेट
7 से 45 दिन 4%
46 से 179 दिन 5%
180 से 210 दिन 5.5%
211 से 1 साल से कम 5.5%
1 साल से 2 साल से कम 5.9%
2 साल से 3 साल से कम 5.9%
3 साल से 4 साल से कम 5.9%
5 साल से 10 साल से कम 5.9%

सीनियर सिटीजन के लिए एसबीआई एफडी की नई दरें

अवधि रेट
7 से 45 दिन 4.5%
46 से 179 दिन 5.5%
180 से 210 दिन 6%
211 से 1 साल 6%
1 साल से 2 साल से कम 6.4%
2 साल से 3 साल से कम 6.4%
3 साल से 4 साल से कम 6.4%
5 साल से 10 साल से कम 6.4%

Leave a Reply