India Video

रोशन हुआ उम्मीदों का दिया: पीएम मोदी ने असम का गमछा, नॉर्थ का कुर्ता और साउथ की धोती पहन जलाया दीपक

दिल्ली | पीएम मोदी ने असम का गमछा, नॉर्थ का कुर्ता और साउथ की धोती पहन कर दीपक जलाया था जिसके पीछे बहुत बड़ा राज छुपा है। इसके बाद से प्रधानमंत्री मोदी की ड्रेस पर सोशल मीडिया पर जबरदस्त रिएक्शन देखने को मिल रहा है और उनकी तरीफें भी हो रही हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किस अवसर पर क्या पहनते हैं और किस तरह का संदेश देते हैं, इसको लेकर हमेशा चर्चा जारी रहती है। ऐसा ही कुछ रविवार को भी हुआ, जब दीप प्रज्वल्लन के मौके पर पीएम मोदी नीला कुर्ता, सफेद धोती और गमछा डाले हुए नज़र आए। सोशल मीडिया पर लोगों की ओर से इसको लेकर अपने-अपने तर्क दिए गए।

देखे वीडियो

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किस अवसर पर क्या पहनते हैं और किस तरह का संदेश देते हैं, इसको लेकर हमेशा चर्चा जारी रहती है। ऐसा ही कुछ रविवार को भी हुआ, जब दीप प्रज्वल्लन के मौके पर पीएम मोदी नीला कुर्ता, सफेद धोती और गमछा डाले हुए नज़र आए। सोशल मीडिया पर लोगों की ओर से इसको लेकर अपने-अपने तर्क दिए गए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किस अवसर पर क्या पहनते हैं और किस तरह का संदेश देते हैं, इसको लेकर हमेशा चर्चा जारी रहती है। ऐसा ही कुछ रविवार को भी हुआ, जब दीप प्रज्वल्लन के मौके पर पीएम मोदी नीला कुर्ता, सफेद धोती और गमछा डाले हुए नज़र आए। सोशल मीडिया पर लोगों की ओर से इसको लेकर अपने-अपने तर्क दिए गए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किस अवसर पर क्या पहनते हैं और किस तरह का संदेश देते हैं, इसको लेकर हमेशा चर्चा जारी रहती है। ऐसा ही कुछ रविवार को भी हुआ, जब दीप प्रज्वल्लन के मौके पर पीएम मोदी नीला कुर्ता, सफेद धोती और गमछा डाले हुए नज़र आए। सोशल मीडिया पर लोगों की ओर से इसको लेकर अपने-अपने तर्क दिए गए।

इन सभी के अलावा भी प्रधानमंत्री के परिधान पर कई तरह की मीम बनते हुए दिखे। जबकि कई ट्विटर हैंडल पर इसे दक्षिण में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों से जोड़ा गया।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक वीडियो संदेश जारी करते हुए लोगों से रविवार की रात को नौ बजे नौ मिनट तक दीया, मोमबत्ती या टॉर्च जलाने की अपील की थी। जिसके बाद रविवार की रात देश के अलग-अलग इलाकों से भव्य नज़ारा दिखा, करोड़ों लोगों ने अपने घरों की लाइटें बंद करके बालकनी या गेट पर दीया जलाया।

Leave a Reply