Chhattisgarh

दंतेवाड़ा : सरकारी हाॅस्टल में अधीक्षिका ने करा दी 11वीं की छात्रा की डिलीवरी, हालत बिगड़ने पर छात्रा को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया

दंतेवाड़ा | जिले के सरकारी पातररास कन्या शिक्षा परिसर के हॉस्टल में एक छात्रा (19) के प्रसव का मामला सामने आया है। शुक्रवार को अधीक्षिका हेमलता नाग ने स्टाफ की मदद से 11वीं की छात्रा का प्रसव कराया। इस दौरान वहां अन्य छात्राएं भी मौजूद थीं। मामले की लीपापोती के लिए हेमलता ने पहले कहा कि छात्रा की तबीयत खराब थी, उसे घर भेजा गया है। फिर कहा कि परिजन उसे मेडिकल कॉलेज जगदलपुर ले गए हैं।

जबकि डिलीवरी के बाद हालत बिगड़ने पर छात्रा को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। रजिस्टर में उसके पति का नाम दर्ज कराया गया है। हॉस्टल स्टाफ के मुताबिक जन्मा शिशु मृत था। अस्पताल प्रशासन ने भी स्वीकारा कि घर पर प्रसव होने के बाद एक महिला को भर्ती कराया गया है।

हेमलता मैडम ने सभी से कहा था- किसी को ये बताना नहीं

सुबह 4 बजे मुझे हेमलता मैडम का फोन आया कि हॉस्टल आ जाओ। मुझे लगा किसी की तबीयत खराब है। पहुंची तो स्टाफ नीला, कुंती एक छात्रा को घेर खड़ी थीं। वहां करीब 10 छात्राएं भी थीं। मेरे पहुंचने तक प्रसव हो चुका था। शिशु की मौत हो गई थी। वहां हेमलता मैडम भी थीं। उन्होंने बाद में सबसे बोला- किसी को ये बताना नहीं। लेकिन मैं बयान दूंगी। -जैसा कि भृत्य श्यामबती मरकाम ने बताया

सहेली ने कहा कि रात में उसने बताया कि उसे ठीक नहीं लग रहा है। उसे दवाई दी गई तब तक मैं सो चुकी थी। सुबह पता चला कि उसकी तबीयत ज्यादा बिगड़ने के कारण बाहर ले जाया गया है।

Leave a Reply