Chhattisgarh

हादसा: दंतेवाड़ा में तेज रफ्तार कार पेड़ से टकराकर पलटी, सीएएफ जवान और इंजीनियर सहित 5 की मौत

दंतेवाड़ा | छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में गुरुवार देर रात हुए सड़क हादसे में सीएएफ जवान, पीएचई के सब इंजीनियर सहित पांच लोगों की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि तेज रफ्तार कार सड़क किनारे पेड़ से टकराने के बाद पलट गई। हादसे में कार सवार सभी लोग अंदर ही फंस गए और मौके पर ही दम तोड़ दिया। अगले दिन शुक्रवार सुबह लोगों हादसा देखा तो तो पुलिस को सूचना दी।

इसके बाद सीआरपीएफ जवान मौके पर पहुंचे और शवों को बाहर निकाला। घटना बारसूर क्षेत्र की है। जानकारी के मुताबिक, कार सवार पांच लोग गुरुवार रात गीदम की ओर से बारसूर की तरफ जा रहे थे। इसी दौरान गणेश बाहर नाला के पास कार पेड़ से टकराने के बाद कार पलट गई। रात को बारिश और धुंध के कारण हादसे का किसी काे पता ही नहीं चल सका। अगले दिन सुबह जब धुंध छंटी और ग्रामीण बाहर निकले तो उन्होंने सूचना दी।

इसके बाद सीआरपीएफ 195 बटालियन के जवान मौके पर पहुंचे और शवों को बाहर निकाला गया। कार की हालत देख कर अंदाजा लगाया जा रहा है कि उसकी रफ्तार काफी तेज रही होगी। मृतकों पीएचई विभाग में सब इंजीनियर सुरेंद्र ठाकुर, क्लर्क रामधर पांडे व अनिल परसुल, सीएएफ 21वीं वाहिनी आरक्षक सुखलाल पांडे और राजेश शामिल हैं। कार सवारों की पहचान उनके पास मिले आधार कार्ड से हुई है। सभी बीजापुर के रहने वाले थे।

जगदलपुर से विभागीय कार्य करने के पश्चात रात करीब 1 बजे सभी बीजापुर के लिए निकले थे। आरक्षक छुट्टी में घर जाने वाला था, इसलिए उसके भाई रामधर ने साथ चलने काे कहा था। जगदलपुर से वापसी के दौरान सुखलाल पांडे ने बारसूर निवासी अपने जीजा जगेंद्र कुमार नेगी को बुलाया था।

इसी सड़क पर 6 जनवरी में भी ऐसा ही हादसा हुआ था। पिकनिक मनाकर लौट रहे ग्रुप की एसयूवी कार पेड़ से टकरा गई थी। इसमें 6 दोस्तों की मौत हो गई थी। जबकि 13 लोग घायल हो गए थे। सभी लोग गीदम और जगदलपुर के ही रहने वाले थे। सड़क पर मार्गदर्शन पट्टिका, अंधा मोड़, गति नियंत्रण स्लोगन भी नहीं लिखा हुआ है।

Leave a Reply