Corona-Virus-1
Chhattisgarh India

छत्तीसगढ़ में मिले 4 नए ओमिक्रॉन मरीज, 10 दिनों में 14 गुना बढ़े मरीज, 4120 नए कोरोना मरीज मिले

छत्तीसगढ़ में कोरोना की यह तीसरी लहर नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की वजह से है। यह नतीजा अभी आए जीनोम सीक्वेंसिंग की रिपोर्ट पर आधारित है। मंगलवार को प्रदेश के 4 नए ओमिक्रॉन मरीज मिले हैं। जिन लोगों में ओमिक्रॉन वैरिएंट की पुष्टि हुई है उनमें स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव भी एक हैं। सिंहदेव 2 जनवरी को कोरोना पाॅजिटिव पाए गए थे। चार में से दो तो यूनाइटेड अरब अमीरात (UAE) से लौटे थे। लेकिन स्वास्थ्य मंत्री और एक अन्य को बीमारी यहीं लग गई।

छत्तीसगढ़ के एपिडेमिक कंट्रोल विभाग के डायरेक्टर डॉ. सुभाष मिश्रा ने बताया, हमने जिन लोगों के सैंपल जीनोम सीक्वेंसिंग की जांच के लिए ओडिशा के भुवनेश्वर भेजे थे, उनमें चार की रिपोर्ट आई है। उनमें ओमिक्रॉन वैरिएंट का संक्रमण पाया गया है। सभी रायपुर के हैं। इनमें से दो की ट्रैवल हिस्ट्री है। वे लोग UAE-दुबई से वापस लौटे थे। यहां जांच हुई तो वे पॉजिटिव पाए गए। उसके बाद उनके नमूनों को जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजा गया था।

छत्तीसगढ़ में कोरोना की तीसरी लहर की रफ्तार बहुत तेज है। पिछले 10 दिनों में ही मरीजों की रोज मिलने वाली संख्या में 14 गुना का इजाफा हुआ है। एक जनवरी को प्रदेश भर में 279 नए मरीज मिले थे। 10 जनवरी को 4 हजार 120 नए मरीज मिले हैं। वहीं 358 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। इनमें से 136 लोगों को अस्पतालों से छुट्‌टी दी गई है। वहीं 222 लोगों को होम आइसोलेशन से डिस्चार्ज किया गया है।