Chhattisgarh Gondwana Special

रायपुर : क्वारेंटाइन में रह रहे लोगों पर कड़ी नजर रखने के निर्देश, दिशा-निर्देशों का कड़ाई से हो पालन

रायपुर. स्वास्थ्य विभाग की सचिव श्रीमती निहारिका बारिक सिंह ने आज यहां वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए सभी जिलों के कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से चर्चा कर कोविड-19 का संक्रमण रोकने किए गए उपायों की समीक्षा की। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के क्वारेंटाइन सेंटर्स और होम-क्वारेंटाइन में रह लोगों की लगातार निगरानी के निर्देश दिए। उन्होंने क्वारेंटाइन के मानकों और दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करवाने कहा। स्वास्थ्य सचिव ने सभी जिलों को 3-प्लाई और एन-95 मास्क तथा पी.पी.ई. (Personal Protection Equipment) का जरूरत के मुताबिक ही सावधानीपूर्वक इस्तेमाल करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने डॉक्टरों और स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं के लिए पर्याप्त संसाधन सुरक्षित रखने कहा। उन्होंने जिले की मौजूदा स्वास्थ्य सेवाओं और मेडिकल स्टॉफ की उपलब्धता की समीक्षा कर कोविड-19 का संक्रमण रोकने तथा इलाज की सभी तैयारियां रखने के बारे में भी आवश्यक निर्देश दिए।

श्रीमती सिंह ने कहा कि आई.सी.एम.आर. (Indian Council of Medical Research) के दिशा-निर्देशों के मुताबिक प्रदेश में ज्यादा से ज्यादा सैंपलों की जांच की व्यवस्था की जा रही हैं। उन्होंने दिशा-निर्देशों के अनुसार सैंपल संकलित करने के साथ ही जिनका सैंपल भेजा जा रहा है, उनके बारे में पूरी जानकारी भी निर्धारित प्रारूप में भेजने कहा। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग की टीम भेजकर पूरी सावधानी के साथ सैंपल संकलित करने के निर्देश दिए। स्वास्थ्य सचिव ने मास्क के उपयोग के बाद मानकों के अनुसार इसका समुचित डिस्पोजल सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए।

स्वास्थ्य सचिव ने वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में बताया कि कोरोना वायरस का समुदाय में फैलाव रोकने टीम बनाकर व्यापक स्क्रीनिंग की जाएगी। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी की अगुवाई में इसके लिए स्वास्थ्य, महिला एवं बाल विकास, नगरीय प्रशासन, स्कूल शिक्षा विभाग और चिप्स के अधिकारियों-कर्मचारियों की टीम बनाई जाएगी। उन्होंने दूसरे राज्यों की सीमा से सटे जिलों के पुलिस अधीक्षकों को अंतर्राज्यीय आवाजाही पर खास निगरानी के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि दूसरे राज्यों से लौटकर आ रहे स्थानीय ग्रामीणों की जिला अस्पताल, सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में स्क्रीनिंग कर अमिट स्याही से मार्किंग की जा रही है। उन्हें होम-क्वारेंटाइन में रहने और इसका कड़ाई से पालन करने कहा जा रहा है।

स्वास्थ्य सचिव ने पुलिस से धारा-144 और लॉक-डाउन के चलते स्वास्थ्य कर्मियों, सर्विलॉंस टीमों, अस्पतालों और मेडिकल सुविधा से संबंधित वाहनों को निर्बाध यातायात की अनुमति देने कहा है। उन्होंने स्वास्थ्य और मेडिकल उत्पादों के निर्माण से जुड़े कार्यों को बंद नहीं करवाने भी कहा है। खाद्य एवं औषधि नियंत्रक श्री एस.एन. राठौर ने वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में बताया कि दो स्थानीय निर्माताओं द्वारा सैनिटाइजर की आपूर्ति शुरू कर दी गई है। प्रदेश में अब इसकी कमी नहीं होगी। स्वास्थ्य सचिव ने सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को शिशुओं और गर्भवती महिलाओं का नियमित टीकाकरण पूर्ववत जारी रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कोरोना वायरस संक्रमण के खतरों के मद्देनजर इसमें पर्याप्त सावधानी बरतने कहा। वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में संचालक, स्वास्थ्य सेवाएं श्री नीरज बंसोड़ और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की संचालक डॉ. प्रियंका शुक्ला भी मौजूद थीं।

Leave a Reply