corona-virus-meeting-01-april-2021
Chhattisgarh

कोविड के विरूद्ध टीकाकरण में तेजी लाएं : मुख्य सचिव ने वेक्सीनेशन एवं कोविड अस्पतालों की स्थिति की समीक्षा

मुख्य सचिव श्री अमिताभ जैन ने आज यहां मंत्रालय (महानदी भवन) से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये कलेक्टरों एवं पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिए है कि सभी जिलों में कोविड के विरूद्ध टीकाकरण करने में तेजी लाये। मुख्य सचिव ने जिलों में डेडिकेटेड कोविड अस्पतालों में आई.सी.यू. और एच.डी.यू. की क्रियाशीलता एवं जिलों में कोविड के विरूद्ध टीकाकरण की विस्तृत समीक्षा की। मुख्य सचिव ने कहा कि मुख्यमंत्री स्वयं इसकी लगातार मॉनिटरिंग कर रहे हैं। मुख्यमंत्री के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री सुब्रत साहू ने भी इस मौके पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। बैठक में स्वास्थ्य विभाग की अपर मुख्य सचिव श्रीमती रेणुजी पिल्ले ने वैक्सीनेशन एवं कोविड अस्पतालों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी।

मुख्य सचिव ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि जहां पर भी कन्टेनमेंट जोन बनाया जाए, वहां पर लोगों को इस बात की जानकारी दी जाए कि यहां कन्टेनमेंट जोन क्यों बनाया गया है। कन्टेनमेंट जोन में नियमों का कड़ाई से पालन किया जाए। मुख्य सचिव ने कहा कि लोग मास्क अनिवार्य रूपा से लगाएं इस बात का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाना चाहिए। बिना मास्क के सार्वजनिक स्थानों पर आने-जाने वाले लोगों पर 500 रूपए का आर्थिक दण्ड वसूल किया जाए। मुख्य सचिव ने अधिकारियों को निर्देश दिए है कि टीकाकरण के लिए लोगों को जागरूक किया जाए कि सभी पात्र व्यक्ति टीका जरूर लगवायें। उन्होंने कहा कि शासन-प्रशासन का यह दायित्व है कि वह इस बात का व्यापक प्रचार-प्रसार करें कि कोविड संक्रमण से बचाव के लिए टीका लगवाना जरूरी है। टीका लग जाने से इससे बचाव होगा। मुख्य सचिव ने अधिकारियों को निर्देश दिए है कि कोविड के विरूद्ध टीकाकरण के जनजागकरण के लिए मंत्रीगणों, महापौर, जिला पंचायत अध्यक्ष एवं अन्य जनप्रतिनिधियों का जरूरी सहयोग लिया जाए।

मुख्य सचिव ने अधिकारियों को पड़ोसी जिलों एवं राज्यों में कोविड के संक्रमण की स्थिति की जानकारी रखने के लिए निर्देश दिए। बैठक में निजी अस्पतालों की स्थिति, प्रतिदिन 150 से अधिक टीकाकरण प्रति केन्द्र करने एवं मास्क न लगाने पर जुर्माना अधिरोपित करने तथा कोविड की रोकथाम के सभी जरूरी उपायों की तैयारी की विस्तृत समीक्षा की गई। इस अवसर पर वित्त विभाग की सचिव श्रीमती अलरमेल मंगई डी., मुख्यमंत्री के सचिव श्री सिद्धार्थ कोमल परदेशी, राज्य स्वास्थ्य मिशन की संचालक डॉ. प्रियंका शुक्ला एवं संचालक स्वास्थ्य श्री नीरज बंसोड सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी सहित प्रदेश के समस्त संभागायुक्त, पुलिस महानिरीक्षक, कलेक्टर, एस.पी. जिला पंचायतों के सीईओ, नगर निगम आयुक्त, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एवं समस्त नोडल ऑफिसर एवं वैक्शिनेशन ड्राइव शामिल हुए।

Leave a Reply