Chhattisgarh India

शहीद जवान गणेश कुंजाम के पार्थिव शरीर को मुख्यमंत्री ने दिया कंधा, जहां पढ़ाई की अब वो स्कूल होगा शहीद के नाम पर

cm-bhupesh-tributes-to-ganesh-kunjam

रायपुर. लद्दाख के गलवान घाटी में चीन के सैनिकों से हिंसक झड़प में शहीद हुए जवान गणेशराम कुंजाम का पार्थिव शरीर गुरुवार दोपहर बाद रायपुर पहुंचा। विशेष विमान से रायपुर एयरपोर्ट पहुंचे उनके शव को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कंधा दिया। इसके बाद राजकीय सम्मान के साथ उसे लोगों के दर्शन के लिए रखा गया।

सेना के जवान एयरपोर्ट के अंदर से ट्रक में लेकर शहीद जवान गणेशराम के शव ओल्ड टर्मिनल में लाए। यहां पर उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इसके बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, कैबिनेट मंत्री रविंद्र चौबे, प्रेमसाय सिंह टेकाम, मेयर एजाज ढेबर, भाजपा विधायक बृजमोहन अग्रवाल सहित कई लोगों ने उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, जिस स्कूल में जवान गणेशराम कुंजाम ने पढ़ाई की थी, उसका नाम शहीद जवान के नाम पर रखा जाएगा। शहीद श्री कुंजाम के परिवार के एक सदस्य को शासकीय नौकरी दी जाएगी।


गृहग्राम में राजकीय सम्मान से होगा अंतिम संस्कार

इसके बाद मीडिया से बात करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, जिस स्कूल में जवान गणेशराम कुंजाम ने पढ़ाई की थी, उसका नाम शहीद जवान के नाम पर रखा जाएगा।एयरपोर्ट पर श्रद्धांजलि देने के बाद उनकी पार्थिव देह कांकेर में उनके गृहग्राम कुरुटोला भेजी जाएगी। जहां पर राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार होगा।

एक महीने पहले ही चीन बॉर्डर पर हुई थी पोस्टिंग

जवान गणेशराम की एक महीने पहले ही चीन के बॉर्डर पर पोस्टिंग हुई थी। हिंसक झड़प में गणेश बुरी तरह से घायल हो गए थे। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन बचाया नहीं जा सका। मंगलवार देर शाम कैंप से एक अधिकारी ने जवान के चाचा तिहारू राम कुंजाम को फोन कर इसकी जानकारी दी। बेहद गरीब परिवार से आने वाले गणेश कुंजाम ने 12वीं के बाद साल 2011 में आर्मी ज्वाॅइन कर ली थी। वह परिवार में इकलौते बेटे थे।

Leave a Reply