Chhattisgarh India

मुख्यमंत्री ने 3 घंटे तक लखनऊ एयरपोर्ट पर धरना दिया, बाहर निकलने की इजाजत नहीं मिली, वापस दिल्ली गए

उत्तर प्रदेश की सरकार ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को लखनऊ हवाईअड्‌डे से वापस लौटा दिया है। मुख्यमंत्री वापस दिल्ली जा रहे हैं, जहां अगली रणनीति तय होगी। भूपेश बघेल 2 बजे के करीब लखनऊ हवाई अड्‌डे पहुंचे थे। वहां से बाहर निकलने की इजाजत नहीं मिली तो फर्श पर ही धरने पर बैठ गए। वहीं से उन्होंने जूम एप के जरिए पत्रकारों से चर्चा भी की।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, वे जब हवाई अड्‌डे से निकल रहे थे तो पुलिस ने उन्हें रोक लिया। कहा गया धारा-144 लगी है, इसलिए वे हवाई अड्‌डे से बाहर नहीं निकल सकते। मैंने उनसे पूछा कि धारा-144 तो लखीमपुर में लगी है, लखनऊ में प्रदेश कांग्रेस के दफ्तर जाने से कैसे रोका जा सकता है। अधिकारियों ने कहा- लखनऊ में भी धारा-144 लगी है। मैंने पूछा कि जब यहां धारा-144 लगी है तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कार्यक्रम कैसे हो गया। उसके बाद अधिकारियों के पास कोई जवाब नहीं था, लेकिन उन लोगों ने हवाई अड्‌डे से बाहर नहीं जाने दिया। बताया जा रहा है, काफी मशक्कत के बाद अफसरों ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को दिल्ली जाने के लिए मनाया। उसके बाद मुख्यमंत्री विशेष विमान से दिल्ली लौट रहे हैं।

इससे पहले मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से चर्चा में कहा, लंबे राजनीतिक जीवन में उन्होंने बहुत से आंदोलनों में हिस्सा लिया। धरना-प्रदर्शन किया। जेल भरो आंदोलन किए, लेकिन हवाई अड्‌डे के भीतर धरना देने का यह पहला अवसर है। मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने यह अवसर भी दे दिया। उन्होंने कहा, जब तक उन्हें लखनऊ और सीतापुर जाकर अपने नेताओं-कार्यकर्ताओं से मिलने की अनुमति नहीं मिलती वे यहीं बैठेंगे। यह उत्तर प्रदेश सरकार को तय करना है कि वह क्या चाहती है। उन्होंने कहा, भाजपा अंग्रेजों की समर्थक रही है। वैचारिक रूप से वह अंग्रेजों को ही फॉलो करती है। अंग्रेजों ने किसानों का दमन किया। भाजपा भी किसानों की विरोधी है। इन लोगों ने प्रियंका गांधी पर बिना किसी अपराध के तीन धाराएं लगाई हैं। हो सकता है मुझे भी गिरफ्तार कर ले।

Advertisement
Rahul Gandhi Ji Birthday 19 June