Education & Jobs

विश्वविद्यालय में पढ़ाई के लिए नवाचार की शुरुआत:क्लास होगी अपडेट, सीएसवीटीयू में स्मार्ट क्लास शुरू, अब होगी स्क्रीन टीचिंग

छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय में स्मार्ट क्लास शुरू हो गया है। विद्यार्थियों को ब्लैक बोर्ड के स्थान पर टच स्क्रीन से पढ़ाया जाएगा। यहां प्रत्येक विद्यार्थियों के पास रिमोट होगा, जिसकी सहायता से क्लास रूम से बाहर पढ़ा रहे शिक्षकों से भी सीधे पूछ सकेंगे।

अपनी जिज्ञासाओं को शांत कर सकेंगे। नई बिल्डिंग में चार विषयों की स्मार्ट क्लास शुरू की जा रही हैं। इसमें दो कक्षाएं बीटेक की आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और डाटा साइंस तथा डिप्लोमा की फायर सेफ्टी और माइनिंग कोर्स की कक्षाएं लगेंगी। यह कक्षाएं पूरी तरह सेल्फ फाइनेंस में शुरू की गई हैं। विवि की नई बिल्डिंग एक 60 सीटर और 3 40-40 सीटर रूम बनवाए गए हैं। यह पूरी तरह वातानुकूलित हैं। यहां संचार के सारे आधुनिक यंत्र लगाए गए हैं। यहां पढ़ाने के लिए विदेशी शिक्षकों की सेवाएं ली जाएंगी। यहां पर उन्हें प्रोजेक्ट मिलेगा और उसे यहीं पर उन्हें पूरा करना होगा। कुलपति डॉ. एमके वर्मा ने कहा छात्रों को सारी सुविधाएं दी जाएंगी। यहां पढ़कर निकलने वाले विद्यार्थियों के प्लेसमेंट की व्यवस्था की जाएगी। उन्हें रोजगार के लिए तैयार किया जाएगा।

विदेशी कंपनियों से किया जाएगा अनुबंध
यहां पढ़ने वाले विद्यार्थियों के प्लेसमेंट के लिए विदेशी और देशी कंपनियों से अनुबंध किया जा रहा है। छात्रों को उन कंपनियों की मांग के अनुसार पढ़ाया जाएगा। उसके अनुसार ही उन्हें प्रशिक्षण दिया जाएगा, ताकि पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्हें रोजगार के लिए भटकना न पड़े। इसके लिए विवि प्रशासन ने अभी तक चार कंपनियों से बात की है। दो से उनकी बातें अंतिम दौर पर हैं। इन सारी चीजों की जानकारी पिछले दिनों से चल रहे इंडक्शन प्रोग्राम में विद्यार्थियों को दी गई।

टाइम मैनेजमेंट के बारे में बताया गया
यहां चले इंडक्शन प्रोग्राम में विद्यार्थियों को टाइम मैनजेमेंट के तरीके भी बताए गए। विद्यार्थियों को सफलता-असफलता में अंतर, कम्युनिकेशन स्किल, हिंदी और अंग्रेजी माध्यम के विद्यार्थियों को बातचीत करने का तरीका तथा मुख्य रूप से न्यूजपेपर रीडिंग पर फोकस करने प्रेरित किया। मोटिवेशनल भाषण को कुछ प्रेरक वीडियो भी प्रस्तुत किए गए। इस तरह विद्यार्थियों को पहले दिन से ही तैयारी कराई जा रही है, ताकि उन्हें भविष्य के लिए तैयार किया जा सके। एमएसएमई में काम करने, एमएसएमई से प्रोजेक्ट करने के तरीके बताए जाएंगे। इसके विभिन्न कोर्स और लाभ की जानकारी दी जाएगी। एआई और डेटा साइंस के लिए उद्योग की उपयोगिता बताएंगे।

Leave a Reply