दिनांक : 05-Dec-2022 09:40 AM   रायपुर, छत्तीसगढ़ से प्रकाशन   संस्थापक : पूज्य श्री स्व. भरत दुदानी जी
Follow us : Youtube | Facebook | Twitter English English Hindi Hindi
Shadow

Raipur

IAS ट्रांसफर : गौरव द्विवेदी को केंद्र में जिम्मेदारी, आदेश जारी

IAS ट्रांसफर : गौरव द्विवेदी को केंद्र में जिम्मेदारी, आदेश जारी

Chhattisgarh, Raipur
योजना आर्थिक सांख्यिकी विभाग के प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी दिल्ली जा रहे हैं। दरअसल करीब 5 सालों तक द्विवेदी केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर रहेंगे। अब उनकी जगह उनके विभागों का जिम्मा दूसरे IAS अफसर को सौंपा जा रहा है। इसे लेकर आदेश जारी कर दिया गया है। अब तक वाणिज्य कर, योजना आर्थिक सांख्यिकी जैसे विभाग गौरव द्विवेदी के पास थे। इनका अतिरिक्त प्रभार 2007 बैच के IAS हिमशिखर गुप्ता को दिया गया है। सामान्य प्रशासन विभाग ने इसे लेकर आदेश जारी कर दिया है। आदेश में द्विवेदी को कार्यमुक्त किए जाने की बात भी लिखी है। दिसम्बर 2018 में कांग्रेस सरकार के सत्ता में आते ही गाैरव द्विवेदी का कद तेजी से बढ़ा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने उन्हें अपना सचिव बना लिया। मुख्यमंत्री सचिवालय में रहते हुए उनको प्रमुख सचिव का प्रमोशन मिला। यह पदोन्नति एक साल से लटकी हुई थी। गौरव को जन संपर्क विभाग का भी प्रमुख बनाय...
छत्तीसगढ़ में कई जिलों में शीतलहर: जानिए कहां कितना लुढ़का पारा

छत्तीसगढ़ में कई जिलों में शीतलहर: जानिए कहां कितना लुढ़का पारा

Chhattisgarh, Raipur
उत्तर और दक्षिण छत्तीसगढ़ में कड़ाके की ठंड शुरू हो गई है। मौसम विभाग ने बताया कि अंबिकापुर, पेंड्रा रोड, कोरिया सहित कुछ जिलों में शीतलहर के हालात बन गए हैं। गौरेला-पेंड्रा-मरवाही (GPM) जिले में नवंबर के महीने से ही कड़ाके की ठंड पड़ने लगी है। यहां पारा 11 डिग्री सेल्सियस तक लुढ़क गया है। पेंड्रा से सटे मध्यप्रदेश के अमरकंटक में पारा 10 डिग्री तक जा पहुंचा है। इसका असर भी जिले के मौसम पर पड़ रहा है। वहीं जिले का अधिकतम तापमान 27 डिग्री तक है। शुक्रवार सुबह राजधानी रायपुर में भी हल्के बादल छाए रहे। गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले में हवा की रफ्तार 7 से 11 किलोमीटर प्रतिघंटा दर्ज की गई। ठंडी और शुष्क हवा के आने से लोगों को ज्यादा दिक्कत हो रही है। शाम से ही सड़कों पर सन्नाटा दिखने लगा है। शीतलहर के बने हालात उत्तर से शुष्क व ठंडी हवाओं के कारण न्यूनतम तापमान में गिरावट हो रही है। आने वा...
नदी-नालों के पुनर्जीवन से बदलने लगी लोगों की तकदीर, मक्का और साग-सब्जी बढ़ा उत्पादन

नदी-नालों के पुनर्जीवन से बदलने लगी लोगों की तकदीर, मक्का और साग-सब्जी बढ़ा उत्पादन

Chhattisgarh, Raipur
जल संरक्षण का व्यापक स्तर पर फायदा पर्यावरण, जैवविविधता के साथ किसानों और आम नागरिकों को मिल सकता है। इसी सोच के साथ राज्य सरकार ने प्रदेश में नरवा संरक्षण की पहल की। नई सरकार बनने के साथ आई महत्वाकांक्षी नरवा विकास योजना आज अपनी सार्थकता साबित कर रही है। नदी, नालों के पुनर्जीवन से जहां जल संरक्षण और भू-जल स्तर में वृद्धि हुई है, वहीं नरवा में बने जल संरक्षण संरचनाओं से किसानों की सिंचाई सुविधा में बढ़ोत्तरी हुई है। प्रदेश के सुदूर दक्षिण कोण्डागांव वनमंडल द्वारा बोटी कनेरा उप परिक्षेत्र में किये गये चियोर बहार नरवा विकास कार्य ने क्षेत्र के किसानों की खुशहाली और समृद्धि के द्वार खोल दिये हैं। कैम्पा मद की वार्षिक कार्ययोजना 2021-22 के तहत वनाच्छादित क्षेत्र से निकलने वाले चियोर बहार नाला में नरवा उपचार किया गया है। इसमें वन प्रबन्धन समिति के माध्यम से काकड़गांव के ग्रामीणों ने भी सक्रिय सह...
छत्तीसगढ़ में औषधीय प्रजातियों के कृषिकरण कार्य को बढ़ावा: आई.आई.आई.एम. जम्मू द्वारा प्रशिक्षण जारी

छत्तीसगढ़ में औषधीय प्रजातियों के कृषिकरण कार्य को बढ़ावा: आई.आई.आई.एम. जम्मू द्वारा प्रशिक्षण जारी

Chhattisgarh, Raipur
राज्य में छत्तीसगढ़ आदिवासी, स्थानीय स्वास्थ्य परंपरा एवं औषधि पादप बोर्ड द्वारा संचालित विभिन्न योजनांतर्गत औषधीय प्रजातियों के कृषिकरण कार्य को विशेष रूप से बढ़ावा दिया जा रहा है। इसके तहत वर्तमान में राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में जलवायु के अनुकूल प्रजातियों का चयन कर 1000 एकड़ से अधिक रकबा में औषधीय प्रजातियों का कृषिकरण कार्य किया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की मंशा के अनुरूप वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर के कुशल मार्गदर्शन में वर्तमान में पायलट परियोजना अंतर्गत लेवेंडर की खेती के लिए छत्तीसगढ़ के उत्तरी भाग में अम्बिकापुर, मैनपाट, जशपुर और रोजमेरी मध्य क्षेत्र बस्तर तथा मोनाड्रा सिट्रोडोरा का कृषिकरण कार्य को बढ़ावा देने चिन्हांकित किया गया है। औषधीय एवं सुगंधित प्रजातियों के कृषिकरण कार्य से किसानों को परंपरागत खेती से दोगुना अथवा इससे भी अधिक लाभ प्राप्त ...
आयुर्वेद एवं होम्योपैथी औषधि तथा पंचकर्म क्रिया द्वारा 82397 हितग्राहियों को औषधि वितरण कर निःशुल्क उपचार किया गया

आयुर्वेद एवं होम्योपैथी औषधि तथा पंचकर्म क्रिया द्वारा 82397 हितग्राहियों को औषधि वितरण कर निःशुल्क उपचार किया गया

Chhattisgarh, Raipur
जिले में आयुष विभाग के द्वारा आयुष पॉलीक्लीनिक, आयुष विंग, थेरेपी सेंटर, क्लीनिक, आयुर्वेद, होम्योपैथी औषधालय, सी.एच.सी., पी.एच.सी. में आयुर्वेद, होम्योपैथी, यूनानी पद्धति से लोगों को उपचार कर निःशुल्क औषधि वितरण किया जा रहा है। जिले में विभाग अंतर्गत 58 अधीनस्थ संस्थाएं संचालित हैं। अप्रैल 2022 से अक्टूबर 2022 तक संस्थाओं के द्वारा आयुर्वेद एवं होम्योपैथी औषधि तथा पंचकर्म क्रिया द्वारा कुल 82397 हितग्राहियों को औषधि वितरण कर निःशुल्क उपचार किया गया। आयुष विभाग के द्वारा वृहत रूप से प्रचार-प्रसार किया गया। मौसमी बीमारियों एवं उनसे बचाव के लिये हितग्राहियों को घरेलू उपचार के संबंध में जन-जागरूकता लायी गयी तथा वृद्धावस्था योगा, संतुलित आहार विहार, मुनगा, रक्ताल्पता, कुपोषण से मुक्ति के संबंध में पम्पलेट, ब्रोशर अधिक से अधिक मात्रा में वितरण किये गये। मुख्यमंत्री हाट-बाजार योजना अंतर्गत प्रत...
ग्रेट छत्तीसगढ़ रन में दौड़े तीन हज़ार से अधिक धावक, तीन लाख रुपये से अधिक के पुरस्कार भी जीते

ग्रेट छत्तीसगढ़ रन में दौड़े तीन हज़ार से अधिक धावक, तीन लाख रुपये से अधिक के पुरस्कार भी जीते

Chhattisgarh, Raipur
छत्तीसगढ़ की सबसे बड़ी रनिंग कम्युनिटी लेट्स रन के तत्वाधान हर साल की तर्ज़ पर ‘दा ग्रेट छत्तीसगढ़ रन‘ का आयोजन तीन हज़ार से ज्यादा धावकों के साथ नया रायपुर में किया गया। यह लेट्स रन के अंतर्गत आयोजित हुई वार्षिक मैराथन का सातवां संकरण है। यह हर साल की तरह छह कि.मी, दस कि.मी, 21 कि.मी मैराथन के आयोजन के अलावा मध्य भारत एवं छत्तीसगढ़ में पहली बार 42 कि.मी  की फुल मैराथन का आयोजन किया गया। यह मैराथन नया रायपुर में आयोजित हुई और विशाल जन समूह ने इसमें भाग लिया। लेट्स रन कोई व्यावसायिक नहीं बल्कि दौड़ने से जुड़े हुए समाज के विभिन्न भागों से आए हुए धावकों का समूह हैं, जिन्हे दौड़ना और शारीरिक रूप से अपने को तंदरुस्त रखना पसंद हैं। इस समूह में रायपुर के हर वर्ग से और अलग अलग उम्र के लोग भी जुड़े हुए हैं, जो साल में तीन-चार बड़े-छोटे ऐसे आयोजन करवाते रहते हैं। दा ग्रेट छत्तीसगढ़ रन, हर साल छत्तीसगढ़ की एक ...
मुख्यमंत्री दाई दीदी क्लीनिक: 1.27 लाख से ज्यादा महिलाओं का हुआ निःशुल्क इलाज

मुख्यमंत्री दाई दीदी क्लीनिक: 1.27 लाख से ज्यादा महिलाओं का हुआ निःशुल्क इलाज

Chhattisgarh, Raipur
मुख्यमंत्री दाई दीदी मोबाइल क्लीनिकों के माध्यम से अब तक राज्य में करीब 1709 कैम्प लगाएं जा चुके हैं। इनसे रायपुर, बिलासपुर एवं भिलाई नगर निगम क्षेत्र की गरीब स्लम बस्तियों में रहने वाली एक लाख 27 हजार 558 महिलाओं एवं बच्चियों का उनके घर के पास ही दाई-क्लीनिक कैंप के माध्यम से इलाज किया गया है। गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ शासन के नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग द्वारा मुख्यमंत्री दाई-दीदी क्लिनिक योजना संचालित की जा रही है। योजना के तहत दाई-दीदी क्लिनिक की मोबाइल मेडिकल यूनिट के वाहन में महिला चिकित्सकों और स्टॉफ की टीम पहुंचती है तथा जरूरतमंद महिलाओं एवं बच्चियों की विभिन्न बीमारियों का निःशुल्क इलाज करती है। इन मोबाइल मेडिकल यूनिट द्वारा 22 हजार 831 महिलाओं का लैब टेस्ट किया गया तथा एक लाख 22 हजार 169 महिलाओं को निःशुल्क दवाईयां दी गई। इससे गरीब स्लम क्षेत्र में रहने वाली मेहनत मजदूरी करने वाली...
गरीब-अमीर सभी परिवारों को पात्रतानुसार वितरित किया जा रहा है राशन: मंत्री अमरजीत भगत

गरीब-अमीर सभी परिवारों को पात्रतानुसार वितरित किया जा रहा है राशन: मंत्री अमरजीत भगत

Chhattisgarh, Raipur
खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री अमरजीत भगत ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के अंतिम छोर तक गरीब-अमीर सभी परिवारों को राशन मुहैया कराया जा रहा है। प्रदेश के 63.24 लाख गरीब राशनकार्डधारी परिवार हैं, जिन्हें निःशुल्क चावल का प्रदाय किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत शासकीय उचित मूल्य की दुकानों के माध्यम से राशन कार्डधारियों को राशन वितरण का कार्य निरंतर जारी है। प्रदेश में माह नवम्बर में राशन कार्डधारी अंत्योदय, प्राथमिकता वाले परिवारों तथा सामान्य परिवारों को राशन वितरण किया जा रहा है। साथ ही पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत माह अक्टूबर और नवम्बर का चावल भी दिया जा रहा है। मंत्री श्री भगत ने प्रदेश के शासकीय उचित मूल्य दुकानों में राशन वितरण एवं राशन भंडारण आदि की विस्तारपूर्वक समीक्षा की एवं ...
भारत रत्न पंडित जवाहर लाल नेहरू की जयंती: मुख्यमंत्री ने किया नमन, ’नेहरू का भारत डॉटकॉम’ वेबसाईट का किया लोकार्पण

भारत रत्न पंडित जवाहर लाल नेहरू की जयंती: मुख्यमंत्री ने किया नमन, ’नेहरू का भारत डॉटकॉम’ वेबसाईट का किया लोकार्पण

Chhattisgarh, Raipur
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज यहां अपने निवास कार्यालय में भारत के प्रथम प्रधानमंत्री भारत रत्न पंडित जवाहर लाल नेहरू की जयंती पर उनके छायाचित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया । उन्होंने बाल दिवस पर सभी बच्चों सहित प्रदेशवासियों को बधाई देते हुए कहा कि पंडित नेहरू को बच्चे बहुत प्रिय थे, बच्चे भी उन्हें प्यार से चाचा नेहरू कहते थे। इसी स्नेह और प्रेम के कारण पंडित नेहरू का जन्मदिन बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है। खैरागढ़ विधायक यशोदा वर्मा भी इस अवसर पर उपस्थित थीं। साथ ही मुख्यमंत्री ने भारत के प्रथम प्रधानमंत्री भारत रत्न पंडित जवाहरलाल नेहरू की जयंती के अवसर पर उनके विचारों, व्यक्तित्व और कृतित्व पर ’नेहरू का भारत डॉट कॉम http://nehrukabharat.com वेबसाईट का लोकार्पण किया। गौरतलब है कि पंडित नेहरू के विचारों और उनके ’आइडिया ऑफ इंडिया’ से आम जनता को परिचित कराने और जन-जन तक ...
रायपुर में 20वां निःशुल्क नियमित योगाभ्यास केंद्र खुला, छत्तीसगढ़ योग के अध्यक्ष ज्ञानेश शर्मा ने किया शुभारंभ

रायपुर में 20वां निःशुल्क नियमित योगाभ्यास केंद्र खुला, छत्तीसगढ़ योग के अध्यक्ष ज्ञानेश शर्मा ने किया शुभारंभ

Chhattisgarh, Raipur
योग आयोग के अध्यक्ष श्री ज्ञानेश शर्मा ने बुधवार को राजधानी रायपुर के 20वें निःशुल्क योगाभ्यास केन्द्र का शुभारंभ किया। छत्तीसगढ़ योग आयोग द्वारा रायपुर के शहीद पंकज विक्रम वार्ड क्र. 58 के नरैया तालाब गार्डन, टिकरापारा, रायपुर में यह केंद्र शुरू किया गया है। उल्लेखनीय है कि योग आयोग द्वारा रायपुर नगर निगम नियमित योगाभ्यास कार्यक्रम के अंतर्गत शहर के नागरिकों को शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ रखने तथा उनके दिनचर्या में योग को शामिल करने के उद्देश्य से लगातार शहर के विभिन्न स्थानों में निःशुल्क योगाभ्यास केन्द्र प्रारंभ किये जा रहे हैं। श्री ज्ञानेश शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की मंशा अनुसार योग के प्रचार प्रसार तथा इसका लाभ आमजनों तक पहुंचने के लिए छत्तीसगढ़ योग आयोग निरंतर प्रयासरत व प्रतिबद्ध है। सभी लोगों की सहभागिता व सहयोग नियमित योगाभ्यास केंद्र की सफलता हेतु महत्वपू...