दिनांक : 27-Nov-2022 03:24 AM   रायपुर, छत्तीसगढ़ से प्रकाशन   संस्थापक : पूज्य श्री स्व. भरत दुदानी जी
Follow us : Youtube | Facebook | Twitter English English Hindi Hindi
Shadow

मनेन्द्रगढ़ : सबसे ज्यादा खाद बनाने और बेचने वाले समूह को किया जाएगा पुरस्कृत : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

29/06/2022 posted by Priyanka (Media Desk) Chhattisgarh, India    

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने आज मनेन्द्रगढ़ विधानसभा के ग्राम पाराडोल में आयोजित भेंट-मुलाकात कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि गौठानों में सबसे अधिक वर्मी कम्पोस्ट बनाने वाले और बेचने वाले समूह को पुरस्कृत किया जाएगा। पहले तीन स्थान पर आने वाले समूह को प्राईज देंगे।

मुख्यमंत्री ने छतीसगढ़ महतारी का पूजन कर की कार्यक्रम की शुरुआत की। पाराडोल में गृह मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू, राजस्व मंत्री श्री जयसिंह अग्रवाल और मनेन्द्रगढ़ विधायक डॉ. विनय जायसवाल भी मौजूद थे। कार्यक्रम की शुरुआत में मुख्यमंत्री को साफ़ा पहनाकर उनका पारम्परिक स्वागत किया गया।

योजनाओं का जमीनी स्तर पर क्रियान्वयन देखने आया हूं

मुख्यमंत्री ने भेंट-मुलाकात में कहा कि मैं जमीनी स्तर पर योजनाओं का क्रियान्वयन देखने आया हूं। जनप्रतिनिधि विधानसभा में योजना बनाते है, तो अधिकारी उसको क्रियान्वित करते है.. योजनाओं का लाभ लोगों को मिल रहा है या नहीं, इसका पता लगाने अधिकारियों को साथ लेकर आया हूं। कार्यक्रम के दौरान नीलोफर नायक ने बताया कि डेयरी का व्यवसाय करती हैं और गोबर बिक्री कर 6000 रुपये महीने कमाती हैं।

पाराडोल की लक्ष्मी ने बताया 100 क्विंटल धान बेचा, पैसा मिला तो मोटर साइकल ख़रीदी। तेंदूपत्ता संग्राहक खोंगापानी के ओमप्रकाश रजवाड़े ने बताया 4000 मानक बोरा रेट मिल रहा है, जो पूरे देश में सबसे ज्यादा है। उन्होंने बताया तेंदूपत्ता से 31 हजार 200 कमाए। जैनुद्दीन ने बताया कि हाट बाजार क्लिनिक से घर के पास ही मुफ्त इलाज की सुविधा मिल रही है। ममता परस्ते ने बताया की बच्चों का जाति प्रमाणपत्र नहीं बना है, मुख्यमंत्री ने बच्चों के जाति प्रमाणपत्र के लिए नियमानुसार करवाई करने के निर्देश कलेक्टर को दिए। पाराडोल देवमंती ने कहा कि गौठान में वे लोग मुर्गीपालन कर रहे हैं। पाराडोल में मुख्यमंत्री ने वनाधिकार पट्टा वितरण का फीडबैक भी लिया।

श्री श्याम जायसवाल ने बताया कि गोधन न्याय योजना के कारण उनकी शादी हुई है। उन्होंने बताया कि डेयरी के व्यवसाय से उन्हें कम आमदनी होती थी, फिर उन्होंने गोधन न्याय योजना में गोबर बेचना शुरू किया। इससे मिली राशि से उन्होंने डेयरी का व्यवसाय और आगे बढ़ाया, उनकी आर्थिक स्थिति भी सुधरी और विवाह भी हो सका। इस पर मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि छतीसगढ़ सरकार पर विश्वास कर लड़की वालों ने शादी कराई है। विश्वास है कि गोबर तो सरकार खरीदेगी ही, लड़की सुखी रहेगी। मनेन्द्रगढ़ की प्रीति टोप्पो ने बताया कि गौठान में उनका समूह केंचुआ खाद का उत्पादन कर रहा है।

मुख्यमंत्री ने क्षेत्र के विकास के लिए अनेक घोषणाएं की

मुख्यमंत्री ने पाराडोल भेंट-मुलाकात में तेंदुडांड पाराडोल में हसदेव नदी पर उच्चस्तरीय पुल का निर्माण, पाराडोल स्थित हाईस्कूल तक पक्की सड़क का निर्माण, ग्राम भवता मुख्य मार्ग से बड़का भवता पहुंच मार्ग लगभग 07 किमी पक्की सड़क का निर्माण, हसदेव नदी पर एनीकट का निर्माण, नगर पंचायत झगराखांड में मिनी स्टेडियम का निर्माण, ग्राम पंचायत नारायणपुर मुख्यमार्ग से घुईपानी तक 03 किमी पक्की सड़क और छिपछिपी हाई स्कूल हेतु नये भवन के निर्माण की घोषणा की।

खुद हल चलाकर खेत की जुताई भी की

छत्तीसगढ़ के किसान मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल खेत में नांगर-बइला (हल और बैल) देखकर खुद को रोक नहीं पाए। पाराडोल पहुंचे मुख्यमंत्री कार्यक्रम स्थल से सटे खेत में धान बुवाई होते देख वहां पहुंच गए। उन्होंने खेत में हल चलाकर जुताई की और ‘सोनम’ धान की बुवाई की। यह खेत गांव के कोटवार श्री भागीरथी को कोटवारी जमीन के रुप में मिली है। किसान के घर किया भोजन- पाराडोल में मुख्यमंत्री ने किसान मनकेश्वर सिंह के घर दोपहर का भोजन किया। पारम्परिक व्यंजन बथुआ के सुक्सी भाजी, मुनगा सब्जी, तोरई सब्जी और लकड़ा चटनी का स्वाद लिया।

Author Profile

Priyanka (Media Desk)
Priyanka (Media Desk)प्रियंका (Media Desk)
"जय जोहार" आशा करती हूँ हमारा प्रयास "गोंडवाना एक्सप्रेस" आदिवासी समाज के विकास और विश्व प्रचार-प्रसार में क्रांति लाएगा, इंटरनेट के माध्यम से अमेरिका, यूरोप आदि देशो के लोग और हमारे भारत की नवनीतम खबरे, हमारे खान-पान, लोक नृत्य-गीत, कला और संस्कृति आदि के बारे में जानेगे और भारत की विभन्न जगहों के साथ साथ आदिवासी अंचलो का भी प्रवास करने अवश्य आएंगे।