pregnant-women-quarntine-center
Chhattisgarh Gondwana Special

रायपुर : ​​​​​​​क्वारंटाईन सेंटर में योग से आगाज और समापन अक्षर ज्ञान से

रायपुर. लॉकडाउन के दौरान अन्य राज्यों से लौटे प्रवासी श्रमिकों एवं अन्य लोंगों के ठहरने के लिए बनाए गए क्वारंेटाईन सेंटरों में राज्य सरकार द्वारा लगातार मॉनिटरिंग करने के साथ ही स्किल मैंपिग भी कराई जा रही है ताकि  हुनरमंद व्यक्तियों और नियोक्ता के बीच की दूरी कम हो। सरकार द्वारा इनका डाटाबेस तैयार कर उद्योग जगत के साथ साझा भी किया जा रहा है। इसके अलावा यहां पर ठहरे प्रवासियों के व्यक्तित्व विकास के लिए अनेक नवाचारी प्रयोग भी कराए जा रहे है। दुर्ग जिले के धमधा ब्लॉक के क्वारेंटाईन सेंटर में स्वास्थ्य लाभ और रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत रखने के लिए प्रतिदिन सुबह योग कराया जा रहा है। इसके साथ ही परिसर को हरा-भरा रखने के लिए श्रमिकों के द्वारा क्वारंेटाईन सेंटरों में वृक्षारोपण भी किया जा रहा है।

धमधा ब्लॉक के कुछ क्वारेंटाईन सेंटर में साक्षरता की अलख भी जलाई जा रही है। क्वारेंटाईन सेंटर में रह रही राजपुर की हीराबाई ने बताया कि यहां पहुंचने से पहले वे अक्षरों की दुनिया से नावाकिफ थी, लेकिन यहां आने के बाद वे अक्षरों की दुनिया से वाकिफ हुई, जो उनके लिए आने वाले समय में काफी मददगार साबित होगी। क्वारेंटाईन सेंटर में रह रहे कीर्ति नारायण एवं गोपाल ने बताया कि सुबह से क्वारेंटाईन सेंटर में योग कराया जाता है। यहां आने के बाद कई ऐसे आसन सीखे, जिनके बारे में पहले हमें पता नहीं था। उन्होंने बताया कि 14 दिनों में यह पूरी तरह से हमारी दैनिक दिनचर्या में आ जाएगा। ग्राम पंचायत झींट में क्वारंेटाईन पिरीयड में रह रहे ताम्रश्वर ने बताया कि मेरा क्वारंटाईन पीरीयड पूरा हो गया है और मुझे क्वारेंटाईन सेंटर में किसी तरह की परेशानी नहीं हुई।

क्वारेंटाईन सेंटर में मिल रही सुविधाओं और सेवा से खुश होकर प्रवासी श्रमिक परिसर को साफ-सुथरा रखने के साथ ही पौधा रोपण का कार्य भी कर रहे हैं। लगभग 1100 पौधे रोपे जा रहे हैं। उनका कहना है कि ये पौधे हमेशा के लिए लॉकडाउन पिरियड की यादगार निशानियों के रूप में स्थापित हो जाएंगे। पूरे धमधा ब्लॉक के क्वारेंटाईन केन्द्रों में इस तरह के नवाचारों को प्रोत्साहित किया जा रहा है। क्वारेंटाईन सेंटरों में दी जा रही सुविधाओं के लिए श्रमिकों ने मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल सहित जिला प्रशासन के प्रति आभार व्यक्त किया है।

Leave a Reply