sports - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

sports

एथलेटिक्स: केन्या के इलिउद किपचोगे 2 घंटे से कम समय में मैराथन पूरी करने वाले पहले धावक

एथलेटिक्स: केन्या के इलिउद किपचोगे 2 घंटे से कम समय में मैराथन पूरी करने वाले पहले धावक

sports
खेल डेस्क (एजेंसी) | केन्या के इलिउद किपचोगे दो घंटे से कम समय में मैराथन पूरी करने वाले दुनिया के पहले धावक बन गए। उन्होंने शनिवार को 42.195 किलोमीटर की दूरी को एक घंटा 59 मिनट और 40 सेकंड में तय किया। हालांकि, उनकी उपलब्धि को आधिकारिक तौर पर दर्ज नहीं किया गया, क्योंकि ये ओपन कम्पटीशन नहीं था। 34 साल के किपचोगे ने रोटेटिंग पेसमेकर्स का उपयोग किया था। किपचोगे के नाम मैराथन का वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज है। उन्होंने पिछले साल 16 सितंबर को बर्लिन में 2 घंटे 1 मिनट और 39 सेकंड में मैराथन पूरी की थी। वहीं, किपचोगे ने मई 2017 में एक मैराथन में 2 घंटे 25 सेकंड का समय निकाला था। https://youtu.be/G3lxgmtw6rI मैराथन पूरी करने के बाद पत्नी को गले लगाया मैराथन के दौरान किपचोगे की मदद के लिए 42 पेसमेकर्स शामिल किए गए थे। इनमें 1500 मीटर ओलिंपिक चैम्पियन मैथ्यू सेंट्रोविट्ज, ओलिंपिक 5000 मीटर रजत
विश्व मुक्केबाज़ी चैंपियनशिप: मंजू रानी पहुंची फाइनल में, थाईलैंड की रकसत को हराया

विश्व मुक्केबाज़ी चैंपियनशिप: मंजू रानी पहुंची फाइनल में, थाईलैंड की रकसत को हराया

sports
खेल डेस्क (एजेंसी) | भारत की महिला बॉक्सर मंजू रानी रूस में खेले जा रहे वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिप के 48 किलोग्राम भार वर्ग के फाइनल में पहुंच गईं। शनिवार को उन्होंने सेमीफाइनल में थाईलैंड की सी. रकसत को हराया। मंजू ने ये मुकाबला 4-1 से अपने नाम किया। दूसरी ओर मैरी कॉम 51 किलोग्राम भार वर्ग और जमुना बोरो 54 किलोग्राम भार वर्ग के सेमीफाइनल में हार गईं। https://youtu.be/G1MxK2Q4fzQ मैरी को यूरोपियन चैम्पियन तुर्की की बुसेनाज कैकिरोग्लू ने 4-1 से हराया। वहीं, जमुना चीनी ताइवे की शीर्ष वरीयता प्राप्त हुआंग हसिआओ-वेन के खिलाफ हार गईं। उनके बाद लोवलिना बोरगोहेन भी हार गईं। उन्हें 69 किलोग्राम भार वर्ग में यांग लियू ने हराया। दोनों को चीन की बॉक्सर को कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा।
बैडमिंटन वर्ल्ड चैम्पियनशिप:	सिंधु वर्ल्ड चैम्पियनशिप जीतने वाली पहली भारतीय, पूर्व चैम्पियन ओकुहारा को फाइनल में सीधे सेट से हराया

बैडमिंटन वर्ल्ड चैम्पियनशिप: सिंधु वर्ल्ड चैम्पियनशिप जीतने वाली पहली भारतीय, पूर्व चैम्पियन ओकुहारा को फाइनल में सीधे सेट से हराया

sports
खेल डेस्क | भारत की स्टार शटलर पीवी सिंधु ने रविवार को वर्ल्ड बैडमिंटन चैम्पियनशिप के फाइनल में जापान की नोजोमी ओकुहारा को हरा दिया। सिंधु ने स्विट्जरलैंड के बासेल में हुआ खिताबी मुकाबला  21-7, 21-7 से 38 मिनट में अपने नाम कर लिया। वे इस टूर्नामेंट के 42 साल के इतिहास में चैम्पियन बनने वाली पहली भारतीय बन गईं। सिंधु 2018, 2017 में रजत और 2013, 2014 में कांस्य पदक जीती थीं। इससे पहले भारतीय खिलाड़ियों में साइना नेहवाल 2015 के फाइनल में हार गई थीं। पुरुषों में 1983 में प्रकाश पादुकोण और इस साल बी साई प्रणीत कांस्य पदक जीते थे। ज्वाला गुट्टा और अश्विनी पोनप्पा की जोड़ी 2011 में महिला डबल्स में कांस्य जीती थी। प्रधानमंत्री मोदी ने सिंधु को बधाई दी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिंधु को इस जीत पर बधाई दी। उन्होंने कहा- आश्चर्यजनक रूप से प्रतिभाशाली पीवी सिंधु ने फिर भारत को गर्व महस
वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप आज से, भारत का 19 सदस्यीय दल टूर्नामेंट में उतरेगा

वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप आज से, भारत का 19 सदस्यीय दल टूर्नामेंट में उतरेगा

sports
स्पोर्ट्स डेस्क (एजेंसी) | वर्ल्ड बैडमिंटन चैम्पियनशिप आज यानि सोमवार से बासेल (स्विट्जरलैंड) में शुरू हो रही है। यह चैम्पियनशिप का 25वां सीजन है। 1995 के बाद पहली बार चैम्पियनशिप स्विट्जरलैंड में हो रही है। इस प्रतियोगिता में 45 देशों के 357 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। भारत का 19 सदस्यीय दल चैम्पियनशिप में हिस्सा ले रहा है। सिंगल्स में भारत के 6 खिलाड़ी, डबल्स में 8 जोड़ियां उतर रही हैं। महिला सिंगल्स में पीवी सिंधु, साइना नेहवाल भारतीय चुनौती संभालेंगी। पुरुष सिंगल्स में किदांबी श्रीकांत, एचएस प्रणय, बीसाई प्रणीत और समीर वर्मा उतरेंगे। अगर सिंधु और साइना अपने-अपने शुरुआती मैच जीत जाती हैं तो सेमीफाइनल में दोनों का सामना हो सकता है। हाल ही में थाईलैंड ओपन जीतने वाली भारत की पुरुष डबल्स जोड़ी सात्विकसाईराज रैंकीरेड्‌डी और चिराग शेट्‌टी ने चोट के कारण टूर्नामेंट से नाम वापस ले लिया है।
“देश के हीरे को स्वर्ण मिला” महज 18 दिनों में 5 स्वर्ण पदक जीतकर हिमा दास ने रचा इतिहास

“देश के हीरे को स्वर्ण मिला” महज 18 दिनों में 5 स्वर्ण पदक जीतकर हिमा दास ने रचा इतिहास

sports
दिल्ली (एजेंसी) | भारतीय स्प्रिंटर हिमा दास इन दिनों शानदार प्रदर्शन के कारण चर्चाओं में हैं। हिमा ट्रैक स्पर्धा में विश्व स्तर पर भारत के लिए गोल्ड मेडल जीतने वालीं पहली महिला खिलाड़ी हैं। इस उपलब्धि पर हिमा को कई बड़ी हस्तियों से बधाई और शुभकामनाएं संदेश मिल रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री बघेल ने ट्वीट कर बधाई दी। India is very proud of @HimaDas8’s phenomenal achievements over the last few days. Everyone is absolutely delighted that she has brought home five medals in various tournaments. Congratulations to her and best wishes for her future endeavours. — Narendra Modi (@narendramodi) July 21, 2019 अद्भुत! अविश्वसनीय! अकल्पनीय महज 18 दिन में 5 "स्वर्ण पदक" जीतकर बेटी हिमा दास (@HimaDas8) ने स्वयं को "हिम्मत और हौसला" का पर्याय स्थापित कर दिखाया है। द
132 करोड़ भारतीयों के सपने पर न्यूज़ीलैंड के गेंदबाज़ों ने फेरा पानी, 18 रन से जीतकर लगातार दूसरी बार फाइनल में

132 करोड़ भारतीयों के सपने पर न्यूज़ीलैंड के गेंदबाज़ों ने फेरा पानी, 18 रन से जीतकर लगातार दूसरी बार फाइनल में

sports
खेल समाचार (एजेंसी) | चौथी बार वर्ल्ड कप फाइनल खेलने का भारत का सपना बुधवार को टूट गया। रवींद्र जडेजा और महेंद्र सिंह धोनी की कोशिशों के बावजूद न्यूजीलैंड ने भारत को 18 रन से हरा दिया। इस जीत के साथ ही वह लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंच गया। वहीं, भारतीय टीम लगातार दूसरी बार सेमीफाइनल में हारकर बाहर हो गई। पिछली बार उसे ऑस्ट्रेलिया ने हराया था। मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड स्टेडियम में खेले गए सेमीफाइनल में 240 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम 221 पर सिमट गई। टॉप ऑर्डर पूरी तरह फेल रहा। रोहित शर्मा, लोकेश राहुल और विराट कोहली केवल 1-1 रन बनाकर आउट हुए। निचले क्रम ने मैच में वापसी की कोशिश की, लेकिन अंतिम ओवरों में जडेजा (77 रन) और धोनी (50 रन) के आउट होने से फैसला न्यूजीलैंड के पक्ष में गया। न्यूजीलैंड ने 50 ओवर में 8 विकेट पर 239 रन बनाए। उसके लिए रॉस टेलर ने 74 और कप्तान क
एशियन कप फुटबॉल 2019 :भारतीय टीम टूर्नामेंट के बाहर होने के बाद कोच कॉन्सटेन्टाइन का इस्तीफा

एशियन कप फुटबॉल 2019 :भारतीय टीम टूर्नामेंट के बाहर होने के बाद कोच कॉन्सटेन्टाइन का इस्तीफा

sports
खेल समाचार | फुटबॉल के एशियन कप में भारतीय टीम की हार के बाद कोच स्टीफेन कॉन्सटेन्टाइन ने पद से इस्तीफा दे दिया। सोमवार को भारतीय टीम ग्रुप दौर के आखिरी मुकाबले में बहरीन से 0-1 से हार गई। इस हार के बाद भारत तीन अंकों के साथ ग्रुप में तीसरे स्थान पर रहा। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); बहरीन की टीम फीफा रैंकिंग में भारत से 16 स्थान नीचे है। भारत 97वें और बहरीन 113वें पायदान पर है। ऐसे में उम्मीद थी कि भारतीय टीम कम से कम मैच ड्रॉ कराकर नॉकआउट में स्थान बना लेगी। कॉन्सटेन्टाइन 2002 से 2005 तक भी थे कोच 56 वर्षीय कॉन्सटेन्टाइन 2015 में टीम के मुख्य कोच बने थे। उनकी कोचिंग में टीम इंडिया ने आठ साल बाद एशियन कप के लिए क्वालीफाई किया था। वे 2002 से 2005 के बीच भी भारतीय टीम के कोच रहे थे। Mr. @StephenConstan has announced his resignation as the Head C
World Boxing Championship 2018: मैरीकॉम 6 गोल्ड जीतने वाली दुनिया की पहली महिला बॉक्सर बनीं

World Boxing Championship 2018: मैरीकॉम 6 गोल्ड जीतने वाली दुनिया की पहली महिला बॉक्सर बनीं

sports
एमसी मैरीकॉम ने विश्व महिला मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में छठी बार स्वर्ण पदक जीता। उन्होंने 48 किलोग्राम भारवर्ग के फाइनल में यूक्रेन की हना ओखोता को 5-0 से हराया। वे विश्व चैम्पियनशिप में छह गोल्ड जीतने वाली दुनिया की पहली महिला बॉक्सर बनीं। इससे पहले मैरीकॉम और आयरलैंड की केटी टेलर के नाम पांच-पांच गोल्ड थे। केटी अब प्रोफेशनल बॉक्सर बन गई हैं। इस कारण वे इस बार टूर्नामेंट में नहीं उतरीं। विश्व में सबसे ज्यादा पदक जीतने वाली मुक्केबाज बनीं मैरीकॉम विश्व चैम्पियनशिप (महिला और पुरुष) में सबसे ज्यादा पदक जीतने वाली मुक्केबाज भी बनीं। उन्होंने छह स्वर्ण और एक रजत जीतकर क्यूबा के फेलिक्स सेवोन (91 किलोग्राम भारवर्ग) की बराबरी की। फेलिक्स ने 1986 से 1999 के बीच छह स्वर्ण और एक रजत पदक जीता था। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); जीत के बाद मैरीकॉम ने कहा, 'यह म
यामागुची को हराकर साइना डेनमार्क ओपन के क्वार्टर फाइनल में, चार साल बाद जापानी शटलर से जीतीं

यामागुची को हराकर साइना डेनमार्क ओपन के क्वार्टर फाइनल में, चार साल बाद जापानी शटलर से जीतीं

sports
स्पोर्ट्स न्यूज़ (एजेंसी) | ओडेंस (डेनमार्क) में हो रहे डेनमार्क ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के साइना नेहवाल गुरुवार को क्वार्टर फाइनल में पहुंच गईं। उन्होंने प्री-क्वार्टर फाइनल में दुनिया की नंबर दो शटलर जापान की अकाने यामागुची को 21-15, 21-17 से हराया। साइना चार साल बाद यामागुची के खिलाफ जीत हासिल करने में सफल हुईं। इससे पहले उन्हें लगातार छह मुकाबलों में यामागुची के खिलाफ हार झेलनी पड़ी थी। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); अगले दौर में भी जापानी शटलर से मुकाबला साइना और यामागुची के बीच अब तक आठ मुकाबले हुए हैं। इनमें से साइना दो और यामागुची छह मुकाबले जीतने में सफल रहीं। साइना ने इससे पहले आखिरी बार यामागुची को 16 नवंबर 2014 को चाइना ओपन में हराया था। साइना का अगले दौर में जापान की नोजोमी ओकुहारा से होगा। ओकुहारा ने हमवतन साएना कावाकामी को 21-15, 21-1
INDvsWI 2018: 1st Test, अपने पहले ही डेब्यू मैच में पृथ्वी शॉ ने जड़ा शतक

INDvsWI 2018: 1st Test, अपने पहले ही डेब्यू मैच में पृथ्वी शॉ ने जड़ा शतक

sports
स्पोर्ट्स न्यूज़ (एजेंसी) | भारत और वेस्टइंडीज के बीच राजकोट में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच में 18 वर्षीय पृथ्वी शॉ ने अपने टेस्ट करियर के पहले ही मैच में शानदार शतक लगाया। शॉ ने पारी के 33वें ओवर में ही 15 चौकों के साथ केवल 99 गेंदों में अपना शतक पूरा कर लिया। भारतीय टीम में पृथ्वी शॉ ने बल्लेबाजी की शुरुआत  की। उनके साथ केएल राहुल क्रीज पर थे। टीम इंडिया के स्कोर की शुरुआत पृथ्वी ने अपने टेस्ट करियर की दूसरी गेंद पर 3 रन लेकर की। पहले ओवर की तीसरी गेंद में ही टीम इंडिया को बड़ा झटका लगा जब केएल राहुल शेनन गैब्रियल की गेंद पर एलबीडब्ल्यू हो गए। राहुल अपना खाता भी नहीं खोल पाए। उन्होंने रिव्यू भी लिया लेकिन वह भी बेकार गया। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); दूसरे सत्र में खेलते हुए पृथ्वी शॉ और चेतेश्वर पुजारा ने अपनी पारी पहले सत्र के अंदाज में जारी रखी