special - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

special

रायपुर : मुख्यमंत्री ने भारत के प्रथम राष्ट्रपति भारतरत्न डॉ.राजेन्द्र प्रसाद को उनकी जयंती पर किया नमन

रायपुर : मुख्यमंत्री ने भारत के प्रथम राष्ट्रपति भारतरत्न डॉ.राजेन्द्र प्रसाद को उनकी जयंती पर किया नमन

india, special, छत्तीसगढ़
रायपुर. मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने स्वतंत्र भारत के प्रथम  राष्ट्रपति और स्वतंत्रता संग्राम सेनानी भारतरत्न डॉ.राजेन्द्र प्रसाद को उनकी जयंती 3 दिसम्बर पर नमन करते हुए श्रद्धा सुमन अर्पित किए हैं। श्री बघेल ने डॉ.राजेन्द्र प्रसाद के योगदान को याद करते हुए कहा है कि राजेन्द्र बाबू ने भारतीय स्वाधीनता संग्राम के महत्वपूर्ण राजनेताओं में से एक थे । उन्होंने संविधान सभा के अध्यक्ष के रूप में देश को एक मजबूत संविधान देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। डॉ.राजेन्द्र प्रसाद ने राष्ट्रपति रहते हुए कभी अपने संवैधानिक अधिकारों पर किसी को दखलंदाजी करने का अवसर नहीं दिया और स्वतंत्र  तथा निष्पक्ष रूप से कार्य किया। उनके श्रेष्ठ जीवन मूल्य और अमूल्य विचार हमें हमेशा प्रेरणा देते रहेंगे।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का फैसला: गुरु घासीदास राष्ट्रीय उद्यान बनेगा अब प्रदेश का चाैथा टाइगर रिजर्व

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का फैसला: गुरु घासीदास राष्ट्रीय उद्यान बनेगा अब प्रदेश का चाैथा टाइगर रिजर्व

special, छत्तीसगढ़
रायपुर (एजेंसी) | कोरिया जिले का गुरु घासीदास राष्ट्रीय उद्यान प्रदेश का चाैथा टाइगर रिजर्व घोषित हो गया है। इसके अलावा सीसीएफ वाइल्ड लाइफ से अलग अब हर टाइगर रिजर्व में फील्ड डायरेक्टर सीसीएफ की तैनाती होगी। ये फैसले किए गए हैं, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में हुई राज्य वन्य जीव बोर्ड की बैठक में, इसमें वनमंत्री मो. अकबर भी थे। बोर्ड द्वारा ये फैसले बाघों की संख्या बढ़ाने को ध्यान में रखकर किए गए हैं। प्रदेश में अब तक अचानकमार, उदंती सीतानदी और इंद्रावती में टाइगर रिजर्व थे। उदंती-सीतानदी के फील्ड डायरेक्टर का मुख्यालय गरियाबंद, अचानकमार टाइगर रिजर्व का मुख्यालय कोच और इंद्रावती टाइगर रिजर्व को फील्ड डायरेक्टर का मुख्यालय बीजापुर होगा। बैठक में लेमरू हाथी रिजर्व गठन की अधिसूचना जारी होने की जानकारी भी दी गई। इस रिजर्व का गठन कोरबा, कटघोरा, धरमजयगढ़ व सरगुजा वनमंडल के वनक्षेत्र
जनसम्पर्क संचालनालय में कार्यरत मनोज हेड़ाऊ का निधन, शोक की लहर – श्रद्धांजलि

जनसम्पर्क संचालनालय में कार्यरत मनोज हेड़ाऊ का निधन, शोक की लहर – श्रद्धांजलि

india, special, छत्तीसगढ़
रायपुर जनसम्पर्क संचालनालय में स्टेनो के पद पर कार्यरत 48 वर्षीय मनोज हेड़ाऊ नहीं रहे | शनिवार को उनका निधन हो गया | बताया जाता है कि कुछ माह से वो किडनी की बीमारी से ग्रसित थे | लगातार इलाज के चलते उन्हें कुछ दिनों तक स्वास्थ लाभ भी हुआ | लेकिन कुछ दिनों से उनका स्वास्थ लगातार गिरता रहा | मिलनसार और कामकाज के मामले में काफी सक्रिय मनोज हेड़ाऊ सहकर्मियों के बीच काफी लोकप्रिय थे | रायपुर के कबीरनगर स्थित शमशान घाट में रविवार की सुबह 10 बजे उनका अंतिम संस्कार होगा | मनोज हेड़ाऊ अपने पीछे भरा पूरा परिवार छोड़ गए है | जनसम्पर्क संचालनालय के समस्त स्टाफ ने उनके निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है | डायरेक्टर जनसंपर्क तारण सिन्हा ने उनके कार्यकाल को यादगार बताते हुए कहा कि दुःख की इस घडी में पूरा विभाग उनके परिवार के साथ है |  उन्होंने दिवंगत आत्मा के प्रति श्रद्धांजलि व्यक्त की | न्यूज टुडे छत
रायपुर : किसानों की सम्पन्नता से ही बाजारों में आती है रौनक – भूपेश बघेल

रायपुर : किसानों की सम्पन्नता से ही बाजारों में आती है रौनक – भूपेश बघेल

entertainment, special, छत्तीसगढ़
रायपुर | मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा है कि जहां किसान आर्थिक रूप से सशक्त और सम्पन्न होंगे वहां बाजारों में भी रौनक देखने को मिलती है। मुख्यमंत्री आज शाम यहां राजधानी रायपुर के रजबंधा मैदान स्थित दैनिक नवभारत समाचार पत्र के कार्यालय में पहुंचकर वहां के सम्पादकीय एवं समाचार प्रभाग के प्रतिनिधियों से मिले और समसायिक विषयों पर चर्चा की।मुख्यमंत्री ने चर्चा के दौरान कहा कि छत्तीसगढ़ में किसानों का धान दो हजार पांच सौ रूपए प्रति क्विंटल की दर से खरीदा गया। किसानों का कर्ज माफ किया और भी सहूलियते किसानों को मिली इसके कारण छत्तीसगढ़ में देशव्यापी मंदी का असर देखने को नहीं मिला। राज्य के ऑटोमोबाईल, सराफा तथा रीयल स्टेट जैसे व्यवसायों में लोगों ने अपना पैसा खर्च किया हैं। इससे बाजारों में रौनक देखने को मिल रही है। मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य सरकार ने आदिवासी भाईयों, तेन्
रायपुर : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने बाल दिवस की बधाई दी, नेहरू जी को जयंती पर याद किया

रायपुर : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने बाल दिवस की बधाई दी, नेहरू जी को जयंती पर याद किया

education, india, special, छत्तीसगढ़
रायपुर एजेंसी | मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों विशेषकर बच्चों को को बाल दिवस की बधाई दी है। उन्होने अपने बधाई संदेश में कहा है कि भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू को बच्चे बहुत प्रिय थे, वे बच्चों को देश का भावी निर्माता मानते थे। बच्चे भी पंडित नेहरू से बहुत स्नेह रखते थे और उन्हें चाचा नेहरू कहकर पुकारते थे। इसी स्नेह और प्रेम के कारण हर वर्ष हम पंडित जवाहर लाल नहरू के जन्मदिन को बाल दिवस के रूप में मनाते हैं। श्री बघेल ने कहा कि बाल दिवस बच्चों के लिए समर्पित दिन है। इस दिन को भावी पीढ़ी और राष्ट्र के भविष्य निर्माण के रूप में लें। सभी लोग बच्चों के पोषण, शिक्षा, विकास और चरित्र निर्माण के लिए सोचें और आवश्यक कदम उठाएं। श्री बघेल ने कहा कि बच्चों में कुपोषण विश्व की एक बड़ी समस्या है। कमजोर नींव पर मजबूत इमारत खड़ी नहीं हो सकती। कमजोर और कुपोषित बच्चों से ह
कौशल्या मंदिर को सुसज्जित करने विधायक द्वय ने मुख्यमंत्री को सौंपा 1.10-1.10 लाख रूपए का चेक

कौशल्या मंदिर को सुसज्जित करने विधायक द्वय ने मुख्यमंत्री को सौंपा 1.10-1.10 लाख रूपए का चेक

india, special, छत्तीसगढ़
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल को आज उनके निवास कार्यालय में आयोजित जनचौपाल भेंट मुलाकात कार्यक्रम में रायपुर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र के विधायक श्री विकास उपाध्याय और भिलाई के विधायक तथा महापौर श्री देवेन्द्र यादव ने चंदखुरी स्थित कौशल्या माता मंदिर को बेहतर ढ़ंग से व्यवस्थित करने और निर्माण कार्य के लिए 1.10-1.10 लाख रूपए का चेक सौंपा। इस अवसर पर वन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर और रायपुर उत्तर के विधायक श्री कुलदीप जुनेजा भी उपस्थित थे। उल्लेखनीय है कि राजधानी रायपुर से करीब 27 किमी दूरी पर आरंग विकासखंड के ग्राम चंद्रखुरी में माता कौशल्या का मंदिर है। मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम की माता कौशल्या का यह मंदिर पूरे भारत में एक मात्र होने के कारण प्रसिद्ध है। छत्तीसगढ़ को भगवान राम का ननिहाल माना जाता है। यह क्षेत्र रामवनगमन पथ में होने के कारण उनके यहां वनवास काल में आने की जनश्रुति मिलती है।
नेशनल ट्राइबल फेस्टिवल 2019: आठ राज्यों के आदिवासी करेंगे शिरकत, सैला, सुआ, कर्मा के साथ परंपरा की भी दिखेगी झलक

नेशनल ट्राइबल फेस्टिवल 2019: आठ राज्यों के आदिवासी करेंगे शिरकत, सैला, सुआ, कर्मा के साथ परंपरा की भी दिखेगी झलक

special, छत्तीसगढ़
रायगढ़ (एजेंसी) | पहली बार राज्य में नेशनल ट्राइबल डांस फेस्टिवल का आयोजन किया जा रहा है। यहां देश के लगभग सभी राज्यों से आदिवासी नृतक दल के कलाकार प्रस्तुति देने पहुंचेंगे। रायगढ़ जिले से भी पंथी, कर्मा और महोत्सव के तय कैटेगरी विवाह, फसल कटाई, परंपरागत त्योहारों पर निर्धारित कार्यक्रमों की तैयारी कर रहे हैं। आदिवासी विभाग पहले ब्लॉक स्तर पर कलाकारों की प्रस्तुतियों के आधार पर चयन करेगी। इसके बाद जिला और फिर संभाग स्तर पर चयन प्रक्रिया होगी। छत्तीसगढ़ के साथ ही एमपी, झारखंड, यूपी, बिहार, असम, कर्नाटक, केरल के कलाकार होंगे शामिल https://youtu.be/jN0B9_daER8 इन सब में बेहतर कलाकारों को नेशनल ट्राइबल फेस्टिवल में प्रस्तुति देने का मौका मिलेगा। इसमें छत्तीसगढ़ के अलावा झारखंड, मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, बिहार, असम, कर्नाटक, केरल, दक्षिण भारत के ढाई हजार से ज्यादा कलाकार हिस्सा लेंगे। इसके
राम जन्म भूमि अयोध्या: छत्तीसगढ़ के एकमात्र कारसेवक जिन्हें गोली लगी, भीख मांगकर अब गुजार रहे जिंदगी

राम जन्म भूमि अयोध्या: छत्तीसगढ़ के एकमात्र कारसेवक जिन्हें गोली लगी, भीख मांगकर अब गुजार रहे जिंदगी

special, छत्तीसगढ़
कोरबा (एजेंसी) | भगवान श्री राम का नाम लेकर कई लोगों ने अपने सियासी करियर में सितारे जोड़ लिए। मगर बहुत से अब भी गुमनामी की जिंदगी ही जी रहे हैं। छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले के सुदूर गांव में एक ऐसा ही शख्स इन दिनों भीख मांगकर जिंदगी बिता रहा है। इनका नाम है गेसराम चौहान। कोरबा जिले की करतला तहसील के ग्राम चचिया के मूलनिवासी हैं। वे छत्तीसगढ़ के ऐसे एक मात्र व्यक्ति हैं जिन्हें 1990 की कारसेवा के दौरान पेट में गोली लगी थी। उसके बाद 1992 की कारसेवा में भी शामिल हुए और लाठियां खाई। गेसराम उन लोगों में शामिल थे, जिन्होंने विवादित ढांचा गिराकर अयोध्या में राम मंदिर बनाने का आंदोलन किया। रो पड़े, पूछा - सच में मंदिर बनने वाला है क्या? गेसराम को जब सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बारे में बताया गया तब 65 साल का यह बुजुर्ग अवाक हो गया। हाथ में पकड़ी लाठी, भिक्षापात्र व झोला गिर पड़ा। भावावेश में वे रोने लग
छत्तीसगढ़: अयोध्या राम जन्म भूमि जमीन विवाद सुलझने के बाद अब भगवान राम के ननिहाल में भी बन रहा भव्य मंदिर

छत्तीसगढ़: अयोध्या राम जन्म भूमि जमीन विवाद सुलझने के बाद अब भगवान राम के ननिहाल में भी बन रहा भव्य मंदिर

special, video, छत्तीसगढ़
रायपुर (एजेंसी) | शनिवार को सुप्रीम कोर्ट ने राम मंदिर के मुद्दे पर फैसला सुना दिया। इसी के साथ राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ हो चुका है। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में भी भगवान राम का भव्य मंदिर बनाया जा रहा है। खास बात यह है कि इसका निर्माण चंदखुरी गांव में हो रहा है। इसे माता कौशल्या का गांव माना गया है, इस तरह भगवान राम के ननिहाल में भी साल 2020 के अंत तक राम मंदिर का काम पूरा कर लिया जाएगा। यहां पहले से ही एक छोटा राम मंदिर था, जिसे करीब 100 साल पहले दक्षिण भारतीय जमीदारों ने बनवाया था। यह था विवाद रायपुर के सांसद रहे रमेश बैस के परिवार के लोगों का इस प्राचीन मंदिर पर मालिकाना हक है। दक्षिण भारतीय जमीदार से अरसे पहले उन्होंने यह जमीन खरीद ली थी। 2019 के लोकसभा चुनावों से ठीक पहले यह बात सामने आई कि मंदिर के पुजारी परिवार से विवाद के चलते मंदिर में वर्षों से ताला लगा हुआ ह
सीताफल से आईसक्रीम, बेल व अम्बाड़ी से शरबत तैयार कर आर्थिक स्थिति मजबूत करें – बालोद, कलेक्टर

सीताफल से आईसक्रीम, बेल व अम्बाड़ी से शरबत तैयार कर आर्थिक स्थिति मजबूत करें – बालोद, कलेक्टर

special, छत्तीसगढ़
कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने कहा कि सीताफल से आईसक्रीम, बेल व अमारी (अम्बाड़ी) से शरबत तैयार व विक्रय कर आर्थिक-सामाजिक स्थिति मजबूत किया जा सकता है। श्रीमती साहू विगत दिनों जनपद पंचायत बालोद के परिसर में सीताफल से आईसक्रीम, बेल व अमारी (अम्बाड़ी) से शरबत बनाने आयोजित प्रशिक्षण में जिले के कृषक अभिरूचि समूहों की सदस्यों को सम्बोधित कर रही थी। प्रशिक्षण में जिले के सीता मैय्या महिला कृषक अभिरूचि समूह कोटागॉव विकासखण्ड डौण्डी, सौभाग्य महिला कृषक अभिरूचि समूह पेटेचुवा विकासखण्ड डौण्डी और ज्योति महिला कृषक अभिरूचि समूह पेटेचुवा विकासखण्ड डौण्डी को प्रशिक्षण दिया गया। कलेक्टर ने कहा कि कृषि विभाग के अंतर्गत अनेक योजनाए संचालित है, जिसका लाभ उठाकर अधिक आमदनी प्राप्त की जा सकती है। उन्होंने कहा कि स्थानीय रूप से उपलब्ध प्राकृतिक संसाधनों विशेषकर कृषि, वानिकी, जैविक उत्पादों के उपार्जन, प्र