politics

जोगी कांग्रेस के पांच नेताओं की होगी कांग्रेस में घर वापसी

जोगी कांग्रेस के पांच नेताओं की होगी कांग्रेस में घर वापसी

politics
रायपुर (एजेंसी) | जोगी कांग्रेस के पांच से ज्यादा नेता कांग्रेस में वापसी की तैयारी में लगे हैं। ऐसा माना जा रहा है कि राहुल गांधी के 28 जनवरी को होने वाले छत्तीसगढ़ दौरे के दौरान उनकी घर वापसी हो सकती है। इस संबंध में पार्टी के प्रदेश प्रभारी से उन नेताओं की बातचीत हो चुकी है। जो नेता घर वापसी के प्रयास में लगे हैं उनमें सियाराम कौशिक, चंद्रभान बारमते, चैतराम साहू , बृजेश साहू और संतोष कौशिक के नाम शामिल हैं। भूतपूर्व विधायक सियाराम कौशिक समेत पांच नेताओं ने भी फिर कांग्रेस का दरवाजा खटखटाया है। शनिवार को सबसे पहले डॉ. द्विवेदी के त्यागपत्र की खबर आई। हालांकि प्रदेश अध्यक्ष कौशिक ने कहा कि वे शिवनारायण से बात करेंगे। द्विवेदी पहले कांग्रेस में ही थे। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); उधर, कांग्रेस ने संकेत दिए हैं कि पूर्व कांग्रेस नेता जो पार्टी छोड़कर
भाजपा-कांग्रेस आमने सामने: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कसा तंज ‘अनुशासित पार्टी की कलई खुल गई है’, शिवरतन शर्मा की नसीहत, ‘अपना घर संभालें’

भाजपा-कांग्रेस आमने सामने: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कसा तंज ‘अनुशासित पार्टी की कलई खुल गई है’, शिवरतन शर्मा की नसीहत, ‘अपना घर संभालें’

politics
रायपुर (एजेंसी) | विधानसभा चुनाव में हार के बाद भाजपा और जोगी कांग्रेस में राजनीतिक उथल-पुथल मची है। भाजपा नेता- कार्यकर्ता तीखे बयानों के साथ संगठन पर हमला बोल रहे हैं तो शनिवार को प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य डॉ. शिव नारायण द्विवेदी ने भी इस्तीफा दे दिया। उन्होंने बड़े नेताओं को कटघरे में खड़ा किया। इसपर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भाजपाइयों द्वारा अपनी पार्टी के नेताओं पर हमले करने पर तंज कसा कि अनुशासित पार्टी की कलई खुल गई है। जवाब में भाजपा विधायक शिवरतन शर्मा ने भी बघेल को नसीहत दी कि वे अपना घर संभालें। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); भाजपा की कलाई खुल गई है: भूपेश बघेल मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पूर्व कृषिमंत्री चंद्रशेखर साहू के बयान के बाद भाजपा पर तंज कसा है। भूपेश ने मीडिया से कहा कि भाजपा बहुत अनुशासित पार्टी होने का दावा करती थी, लेकिन अब
जोगी कांग्रेस ने अपनी पार्टी के दो नेताओं को बाहर का रास्ता दिखाया

जोगी कांग्रेस ने अपनी पार्टी के दो नेताओं को बाहर का रास्ता दिखाया

politics
रायपुर (एजेंसी) | चुनाव में हार मिलने के बाद जोगी कांग्रेस में भी उथल-पुथल का माहौल है। पार्टी के पांच नेताओं के कांग्रेस में वापसी की चर्चा अभी चल ही रही थी इसी बीच शनिवार को जनता कांग्रेस सुप्रीमो अजीत जोगी ने दो नेताओं को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। दोनों नेताओं पर पार्टी विरोधी गतिविधियों और आंतरिक गुटबाजी को बढ़ावा में शामिल होने के आरोप है। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); अब्दुल हमीद हयात और बृजेश साहू को दिखाया बाहर का रास्ता जोगी कांग्रेस ने पार्टी के प्रभारी महामंत्री अब्दुल हमीद हयात और बिलासपुर से प्रत्याशी रहे बृजेश साहू को निष्कासित कर दिया गया है। वरिष्ठ नेता अब्दुल हमीद हयात कांग्रेस छोड़कर जोगी कांग्रेस में शामिल हुए थे। प्रभारी महामंत्री होने के नाते जोगी कांग्रेस के सभी प्रशासनिक निर्णय उनके ही हस्ताक्षर से जारी होते थे।
लोकसभा चुनाव में भाजपा की योजनाओं के खिलाफ आक्रामक प्रचार करेंगे कांग्रेसी

लोकसभा चुनाव में भाजपा की योजनाओं के खिलाफ आक्रामक प्रचार करेंगे कांग्रेसी

politics
रायपुर (एजेंसी) | आगामी लोकसभा चुनाव मेें कांग्रेस भाजपा सरकार की असफल योजनाओं और अपूर्ण घोषणाओं पर घेरेबंदी करेगी। चुनाव प्रचार के दौरान सभी नेताओ को मुद्दों के आधार पर आक्रामक रवैया अपनाना होगा। बुधवार को राजीव भवन में आयोजित बैठक में पार्टी के सभी मोर्चा-प्रकोष्ठों के पदाधिकारी शामिल हुए। कांग्रेस के प्रभारी महामंत्री गिरीश देवांगन और संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी की उपस्थिति में हुई इस बैठक में एआईसीसी के निर्देशों से सभी मोर्चा संगठन, प्रकोष्ठ विभाग के प्रदेश प्रमुखों को अवगत कराया। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); सभी पदाधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि 20 जनवरी तक प्रदेश,जिला,विधानसभा,ब्लाक स्तर तक संगठन के पदाधिकारियों की मोबाइल नंबर सहित अपडेट सूची देने को कहा गया है। उन्हें सभी मोर्चा संगठन, प्रकोष्ठ, विभाग के प्रदेश प्रमुखों क
हार के बाद के बाद हुई प्रदेश पदाशिकारियो की बैठक, भाजपाई बोले, ‘कांग्रेसी घोषणा पत्र में दम हमें अपने कार्यकर्ताओं ने भी वोट नहीं दिए’

हार के बाद के बाद हुई प्रदेश पदाशिकारियो की बैठक, भाजपाई बोले, ‘कांग्रेसी घोषणा पत्र में दम हमें अपने कार्यकर्ताओं ने भी वोट नहीं दिए’

politics
रायपुर (एजेंसी) | लोकसभा चुनाव 2019 मद्देनज़र एकात्म परिसर में बुधवार को भाजपा की तीन अहम बैठक हुईं। जिसमे कोर ग्रुप, प्रदेश पदाधिकारियों व भाजपा विधायक दल के सभी नेता शामिल हुए। इनमें नेताओं का दर्द छलका, उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में कांग्रेस घोषणा पत्र भाजपा से बेहतर था। साथ ही भाजपा के कार्यकर्ता कांग्रेस की तुलना में दमखम से नहीं लड़े। यहां तक कि खुद भाजपाइयों के वोट भी पार्टी को नहीं मिले। धरमलाल कौशिक, 'कांग्रेस का घोषणा पत्र अधिक प्रभावी था' भाजपा के नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक बोले कि हमारे घोषणा पत्र से उनका घोषणा पत्र प्रभावी रहा। कर्जमाफी का वादा हम पर भारी पड़ा। विधानसभा चुनाव में हमारे कार्यकर्ता वो दम नहीं दिखा सके, जो कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दिखाया। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); वही प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कहा कि हम
लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस का नया पीसीसी चीफ संभावित

लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस का नया पीसीसी चीफ संभावित

politics
रायपुर (एजेंसी) | बताया गया है कि लोकसभा चुनाव के पहले प्रदेश संगठन को नया मुखिया मिलने को लेकर सस्पेंस बरकरार है। कांग्रेस नेताओं का कहना है चूंकि चुनाव में ज्यादा समय नहीं बचा है इसलिए संगठन में फेरबदल करने से संगठन की वर्किंग में भी बदलाव आ सकता है। इसलिए शीर्ष नेतृत्व बघेल के कंधों पर ही पीसीसी चीफ की कमान रखना चाहता है ताकि विधानसभा चुनाव में जिस जोश-खरोश के साथ कार्यकर्ताओं ने काम किया है उसी जोश के साथ वे लाेकसभा चुनाव के मैदान में भी उतरें। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); किसानों पर छापा मारने वाले अफसरों पर नाराज हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अवैध धान बेचने के नाम पर किसानों के घर और पैरावट में छापा मार रह अफसरों पर नाराजगी जताते हुए कहा कि जो भी अफसर ऐसा कर रहे हैं वो गलत कर रहे हैं। बाहर से धान लेकर आने वाले बिचौलियों के खिलाफ अफसर कार्रवाई
सीएम बघेल बोले, ‘रमन ये क्यों भूल जाते हैं कि उन्हाेंने हमारी भी सुरक्षा हटाई थी’

सीएम बघेल बोले, ‘रमन ये क्यों भूल जाते हैं कि उन्हाेंने हमारी भी सुरक्षा हटाई थी’

politics
रायपुर (एजेंसी) | मुख्यमंत्री भूपेश बघेल दिल्ली से लौट आए हैं। उन्होंने दिल्ली में सोनिया गांधी, अहमद पटेल व प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया से मुलाकात की। उन्होंने प्रदेश में लोकसभा चुनावों की तैयारियों की जानकारी दी। बताया गया है कि इस दौरान बड़े नेताओं से राहुल गांधी के प्रदेश दौरे को लेकर चर्चा होने के संकेत भी मिले हैं। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); हालांकि बघेल की कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात नहीं हो पाई है। लेकिन फिर प्रदेश कांग्रेस संगठन में बदलाव के संकेत मिल रहे हैं। दिल्ली से लौटे बघेल ने एयरपोर्ट पर मीडिया को दिए बयान में कहा कि दिल्ली में शीर्ष नेताओं से मुलाकात हुई है। राहुल गांधी चूंकि देश से बाहर हैं इसलिए उनसे मुलाकात नहीं हो पाई है। उन्होंने विधायकों की सुरक्षा हटाए जाने को लेकर रमन सिंह द्वारा उठाए गए सवाल के जवाब में कहा कि रमन
चुनाव खर्च का हिसाब नहीं देने वाले 132 प्रत्याशियों को नोटिस

चुनाव खर्च का हिसाब नहीं देने वाले 132 प्रत्याशियों को नोटिस

politics
रायपुर (एजेंसी) | विधानसभा चुनाव के खर्च का ब्योरा नहीं देने पर आयोग ने 123 प्रत्याशियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। संबंधित जिला निर्वाचन कार्यालय की तरफ से ये नोटिस जारी किए गए हैं। प्रत्याशियों से 10 जनवरी तक खर्च का हिसाब किताब मांगा गया था, लेकिन ये सभी प्रत्याशी तय समय पर ब्योरा नहीं दे पाए। प्रदेश के 27 जिलों में से केवल 10 जिलों में सभी उम्मीदवारों ने तय समय पर अपने खर्च का हिसाब दे दिया। 17 जिलों में नोटिस जारी किए गए हैं। उम्मीदवारों को नोटिस मिलने के 20 दिन के अंदर जवाब देना होगा। अगर प्रत्याशी हिसाब नहीं देने की सही वजह नहीं बता पाए तो उनको तीन साल तक चुनाव लड़ने से प्रतिबंधित भी किया जा सकता है। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});
भूपेश सरकार के 30 दिन पुरे हुए, 30 दिन में लिए 15 बड़े फैसले

भूपेश सरकार के 30 दिन पुरे हुए, 30 दिन में लिए 15 बड़े फैसले

politics
रायपुर (एजेंसी) | आज 17 जनवरी 2019 को भूपेश सरकार के एक माह पूरे होने पर खुद मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता के नाम एक पत्र लिख सबका आभार जताया है। वहीं विपक्ष सरकार के एक माह पूरे होने पर कटाक्ष कर रहा है। छत्तीसगढ़ में 15 सालों बाद सत्ता में आई कांग्रेस पार्टी की सरकार ने 30 दिनों में 15 बड़े फैसले कर सबको बताने की कोशिश की है कि वो किस गति से चलने वाली सरकार है। बता दे आज ही के दिन एक माह पहले यानि 17 दिसम्बर को छत्तीसगढ़ प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में भूपेश बघेल ने शपथ ली थी। आज उनके कार्यकाल को 30 दिन पुरे हो चुके है। इस दौरान उन्होंने तमाम 15 बड़े निर्णय भूपेश सरकार ने अपने 30 दिनों के कार्यकाल में लिए हैं। सरकार के इन्हीं कार्यों के दम पर छत्तीसगढ़ कांग्रेस इसे गांव-गरीब और आमजनों की सरकार कह रही है। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); वहीं विपक्षीय
मकर संक्रांति पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को तिल के लड्‌डुओं से तौला

मकर संक्रांति पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को तिल के लड्‌डुओं से तौला

politics
रायपुर (एजेंसी) | मकर संक्राति के मौके पर शहर में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को तराजू के एक पलड़े पर बैठाकर लोगों ले तिल के लड्‌डुओं से तौला। मुख्यमंत्री ने अपने हाथों से लोगों को तिल के लड्‌डू खिलाकर त्यौहार की बधाई दी। इस मौके पर नगरीय प्रशासन एवं श्रम मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया, विधायक सत्यनारायण शर्मा, बृहस्पत सिंह और अनिता शर्मा को भी सम्मानित किया गया। किसी गरीब की झोपड़ी नहीं तोड़ी जाएगी- बघेल शहर के पुजार पार्क में सोमवार को मकर संक्राति का आयोजन किया गया। यहां मुख्यमंत्री ने कहा कि लोकसभा की सभी 11 सीटें कांग्रेस के खाते में आएंगी। उन्होंने कहा कि घोषणा पत्र में एक ही दिन में सारे वादे पूरे नहीं किए जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि किसी गरीब की झोपड़ी नहीं तोड़ी जाएगी। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); शुद्ध पेयजल के लिए दिया आश्वासन सीएम बघेल ने बीरगा