politics - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

politics

छत्तीसगढ़: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के हेलीकॉप्टर को नहीं मिली लैंडिंग की इजाज़त,आरएसएस-भाजपा पर लगाए आरोप

छत्तीसगढ़: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के हेलीकॉप्टर को नहीं मिली लैंडिंग की इजाज़त,आरएसएस-भाजपा पर लगाए आरोप

politics
रायपुर ( एजेंसी) | छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के हेलीकॉप्टर को लैंडिंग की इजाज़त नहीं दी गई। मामला महाराष्ट्र के सकोली का है। मंगलवार को सीएम का चुनावी कार्यक्रम तय था, लेकिन ऐन मौके पर उन्हें वहां हेलीकॉप्टर से जाने पर जिला प्रशासन ने रोक दिया। भंडारा में कार्यक्रम के बाद सीएम बघेल को सकोली पहुंचना था। इस पर मीडिया से चर्चा करते हुए सीएम ने कहा कि जिस स्थान पर दो दिन पहले प्रधानमंत्री सभा करके गए, उस स्थान पर एक निर्वाचित मुख्यमंत्री का हेलीकॉप्टर न उतरने देना लोकतंत्र की हत्या है। जिला प्रशासन चुनाव को लेकर निष्पक्ष नहीं है। भाजपा और आरएसएस ने आज फिर दिखा दिया कि उनका राष्ट्रवाद हिटलर और मुसोलिनी से प्रेरित है। इससे एक दिन पहले मुख्यमंत्री ने नागपुर में चुनावी सभाओं को संबोधित किया था। उन्होंने नागपुर पूर्व विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी पुरुषोत्तम हजारे के लिए प्रचार कि
छत्तीसगढ़: सीएम भूपेश बघेल ने कहा- निर्दोष आदिवासियों को रिहा करने का काम कर रही कांग्रेस

छत्तीसगढ़: सीएम भूपेश बघेल ने कहा- निर्दोष आदिवासियों को रिहा करने का काम कर रही कांग्रेस

politics
जगदलपुर (एजेंसी) | चित्रकोट उपचुनाव के प्रचार के लिए सीएम भूपेश बघेल लोहांडीगुड़ा के गड़िया बुधवार की दोपहर पहुंचे। सभा को संबोधित करने आए सीएम भूपेश बघेल ने पहले नारा लगाया और लोगों में जोश भरा, इसके बाद उन्होंने लोगों से अपनी दस महीने की सरकार के कामों के आधार पर कांग्रेस को वोट देने की बात कही। उन्होंने कहा कि एक ओर भाजपा है जो किसानों की जमीन छीनने का काम करती है आदिवासियों को जेलों में भेजने का काम करती है तो दूसरी ओर कांग्रेस है जो जमीन वापस करती है और निर्दोष आदिवासियों को रिहा करने का काम कर रही है। पंद्रह साल में भाजपा जो नहीं कर पाई वह हमने किया। सीएम भूपेश की मौजूदगी में सांसद दीपक बैज भाजपा और पार्टी के प्रत्याशी के खिलाफ जमकर आक्रामक बयान दिया और उन्होंने भाजपा प्रत्याशी को बूढा कुकड़ा (मुर्गा) बताया। इसके अलावा यहां गृहमंत्री ताम्रध्वज साहु और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के
छत्तीसगढ़: नगर पालिका चुनाव: ईवीएम की जगह बैलेट पेपर से होंगे निकाय चुनाव, पार्षद ही चुनेंगे महापौर

छत्तीसगढ़: नगर पालिका चुनाव: ईवीएम की जगह बैलेट पेपर से होंगे निकाय चुनाव, पार्षद ही चुनेंगे महापौर

politics
रायपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ में होने वाले निकाय चुनाव बैलेट पेपर से होंगे। इसमें अब इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन का इस्तेमाल नहीं होगा। यह फैसला छत्तीसगढ़ सरकार की सब कैबिनेट कमेटी ने लिया। मंगलवार को यह अहम बैठक नवा रायपुर स्थित मंत्रालय में हुई। इस बैठक में मंत्री शिव डहरिया, मो अकबर और रविंद्र चौबे शामिल हुए। मंत्रियों ने पत्रकारों को बताया कि यह फैसले स्थानीय सरकार को मजबूत करने के लिए, हुए हैं। इससे पार्षद ताकतवर होंगे। इस फैसले को अब कैबिनेट में रखा जाएगा उसके बाद अध्यादेश लाकर इसे पूरा कर लिया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक दो दिनों के भीतर या आने वाले सप्ताह में कैबिनेट की बैठक हो सकती है। चुनाव प्रक्रिया में बदलाव के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तीन मंत्रियों की उपसमिति गठित की थी। सीएम भूपेश, महापौर अथवा अध्यक्ष के सीधे निर्वाचन प्रक्रिया को बदलने के संकेत पहले ही दे चुके थे। अवि
छत्तीसगढ़: प्रदेश में पार्षद ही चुनेंगे मेयर और अध्यक्ष; सीएम भूपेश ने बनाई तीन मंत्रियों की कमेटी

छत्तीसगढ़: प्रदेश में पार्षद ही चुनेंगे मेयर और अध्यक्ष; सीएम भूपेश ने बनाई तीन मंत्रियों की कमेटी

politics
रायपुर (एजेंसी) | अब छत्तीसगढ़ में पार्षद ही महापौर, पालिकाध्यक्ष तथा नपं अध्यक्ष का चुनाव करेंगे। चुनाव प्रक्रिया में बदलाव के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तीन मंत्रियों की उपसमिति गठित कर दी है। मंत्रिमंडलीय उपसमिति 15 अक्टूबर तक अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी। समिति की अनुशंसा के आधार पर फैसला लिया जाएगा। खबर है कि सरकार के वरिष्ठ मंत्रियों के बीच इस मामले में प्रारंभिक चर्चा हो चुकी है। सीएम भूपेश, महापौर अथवा अध्यक्ष के सीधे निर्वाचन प्रक्रिया को बदलने के संकेत पहले ही दे चुके हैं। अब मंत्रियों की समिति की रिपोर्ट के आधार पर कैबिनेट में इस पर फैसला लिया जाएगा। इसके बाद प्रदेश सरकार अध्यादेश लाएगी। गौरतलब है कि अविभाजित मध्यप्रदेश में 1994 में महापौर-अध्यक्षों का निर्वाचन पार्षदों के जरिए होता था। इसके बाद व्यवस्था बदली और फिर 1999 में महापौर और अध्यक्ष के सीधे चुनाव होने लगे। इस
छत्तीसगढ़: सीएम भूपेश बघेल के पिता ने की दशानन और महिषासुर की पूजा, 124 गांवों में रावण दहन नहीं करने का संकल्प

छत्तीसगढ़: सीएम भूपेश बघेल के पिता ने की दशानन और महिषासुर की पूजा, 124 गांवों में रावण दहन नहीं करने का संकल्प

politics, छत्तीसगढ़
राजनांदगांव (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पिता नंदकुमार बघेल ने दशहरे के दिन रावण की पूजा की। सर्व आदिवासी समाज के कार्यक्रम में उन्होंने महिषासुर और मेघनाद का शहादत दिवस मनाया। आदिवासी नेता सुरजू टेकाम ने रावण दहन न करने का प्रस्ताव रखा। कार्यक्रम में तय किया गया कि क्षेत्र के 124 गांवों में रावण दहन में कोई भी आदिवासी शामिल नहीं होगा, न ही कोई सहयोग देगा, क्योंकि आदिवासी रावण को अपना पुरखा मानते हैं। वोट हमारा राज तुम्हारा, यह नहीं चलेगा: नंद कुमार वोट हमारा-राज तुम्हारा, यह नहीं चलेगा। प्रदेश में आए तमाम उच्च वर्ग के लोगों गिन-गिन के दफ्तरों से निकाला जाए और हमारे बच्चों को नौकरी दी जाए। यह हमारी अंतिम लड़ाई है। अब चाहे इसे नक्सलवाद कहिए या कोई भी वाद कहिए। हम हक और अधिकार की लड़ाई लडेंगे। जब भी आप पर कोई संकट आए मैं यहां आने के लिए तैयार हूं। आप लोगों (आदिवासियों
भाजपा और देश के राष्ट्रवाद में अंतर, ये खिलाफ जाने वाले को ठहरा देते हैं देशद्रोही: भूपेश बघेल

भाजपा और देश के राष्ट्रवाद में अंतर, ये खिलाफ जाने वाले को ठहरा देते हैं देशद्रोही: भूपेश बघेल

politics
रायपुर (एजेंसी) | मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, जिन्होंने कभी आजादी की लड़ाई में हिस्सा नहीं लिया, वह हमें राष्ट्रवाद का सर्टिफिकेट बांट रहे हैं। उनका राष्ट्रवाद गांधी का राष्ट्रवाद नहीं है। भाजपा के राष्ट्रवाद और देश के राष्ट्रवाद में अंतर है। जो इससे असहमति प्रकट करता है उसे देशद्रोही करार दिया जाता है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल गुरुवार को रायपुर पहुंची गांधी विचार पदयात्रा के दौरान डूंडा में हुई सभा को संबोधित कर रहे थे। महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर कंडेल से 4 अक्टूबर को इस 7 दिवसीय पदयात्रा की शुरुआत की गई थी। बारिश में भीगते 10 किमी पैदल चले मुख्यमंत्री, साधा संघ और भाजपा पर निशाना पदयात्रा डूंडा, संतोषी नगर, संजय नगर, कालीबाड़ी होते हुए गांधी मैदान पहुंची। इस दौरान हल्की-हल्की बारिश भी हो रही थी। करीब 8 से 10 किमी की इस दूरी को सीएम भूपेश बघेल ने पैदल बिना रुके तय किया। इससे प
छत्तीसगढ़: मुख्यमंत्री ने केंद्र को लिखा खत, कांग्रेस ने लगाए किसानों के 728 करोड़ दबाने के आरोप

छत्तीसगढ़: मुख्यमंत्री ने केंद्र को लिखा खत, कांग्रेस ने लगाए किसानों के 728 करोड़ दबाने के आरोप

politics
रायपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री को पत्र लिखा है। यह पत्र प्रदेश के किसानों के लिए शुरू की गई योजना, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि से जुड़ा है। इस चिट्‌ठी में लिखा गया है कि इस योजना में प्रदेश के ऐसे किसान परिवार जिन्हें प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय किश्त की राशि स्वीकृत किया जाना बाकि, उन्हें यह राशि जल्द दी जाए। किसान विरोधी है भाजपा - कांग्रेस दरअसल प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत, पात्र किसान परिवारों को हर साल 6000 रूपए तीन समान किश्तों में दिया जाना है। इस योजना के लिए प्रदेश से कुल 18 लाख 16 हजार 881 किसान रजिस्टर्ड हैं। इस राशि की पहली किश्त सिर्फ 13 लाख 77 हजार 437 किसान परिवारों को मिली। द्वितीय किश्त 4 लाख 14 हजार 28 किसान परिवारों को और तृतीय किश्त 23 हजार 859 किसान परिवारों को मिली है। कांग्रेस पा
राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने छत्तीसगढ़ की नरवा, गरवा, घुरवा एवं बाड़ी योजना की जमकर प्रशंसा की

राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने छत्तीसगढ़ की नरवा, गरवा, घुरवा एवं बाड़ी योजना की जमकर प्रशंसा की

politics, छत्तीसगढ़
राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत अपने मंत्रीमंडल के सहयोगियों और मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के साथ आदर्श गौठान बनचरौदा देखने पहुंचे। श्री गहलोत और उनके साथ आए मंत्रीगणों ने महुएं पेड़ के छांव तले गौठान में एक साथ मौजूद सैकड़ों गायों, स्व-सहायता समूह की महिलाओं द्वारा गौठान के गोबर से बनाये पूजन सामग्री, सौंदर्य प्रसाधन, जैविक खाद, औषधि, कुटीर उद्योग के माध्यम से दोना-पत्तल तैयार करने के साथ आत्म निर्भरता की ओर ग्रामीण महिलाओं के बढ़ते कदम को देखकर सराहना की। रायपुर जिले के विकासखण्ड आरंग में सुराजी गांव योजना के तहत बनाए गए इस आदर्श गौठान के अवलोकन के दौरान राजस्थान के कृषि मंत्री श्री लालचंद कटारिया, गौ-पालन मंत्री श्री प्रमोद जैन भाया एवं विधायक श्री रोहित वोहरा भी उनके साथ थे। राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री गहलोत ने मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की पहल पर नरवा, गरूवा, घुरवा एवं
दंतेवाड़ा उपचुनाव परिणाम बीजेपी का सूपड़ा साफ़,प्रदेश में 14 सीटों पर सिमटी। कांग्रेस प्रत्याशी देवती कर्मा विजयी घोषित

दंतेवाड़ा उपचुनाव परिणाम बीजेपी का सूपड़ा साफ़,प्रदेश में 14 सीटों पर सिमटी। कांग्रेस प्रत्याशी देवती कर्मा विजयी घोषित

politics, छत्तीसगढ़
दन्तेवाड़ा। बहुप्रतिक्षित दंतेवाड़ा विधानसभा उपचुनाव रिजल्ट परत दर परत सामने आया। हालांकि इस सीट के लिए कुल 9 प्रत्याशी मैदान में आमने-सामने भीड़े, लेकिन मतगणना के पहले चरण से ही असली लड़ाई कांग्रेस की देवती कर्मा व बीजेपी के अजस्वी भीमा मंडावी के बीच चल रही थी, जो अंतिम चरण के गिनती तक बनी रही। इस तरह कांग्रेस की देवती कर्मा ने 20वें राउंड की समाप्ति के बाद 11 हजार 331 मतों से विजय हो गई है। पूरे मतगणना के दौरान जिस तरह से देवती कर्मा लगभग सभी राउंडों में अपना दबदबा बनाए रखी थी, उससे उनकी जीत तय माना जा रहा था, लेकिन देखना यह था कि देवती अपनी लीड दस हजार से अधिक रख पाती हैं या नहीं। अब परिणाम के साथ ही ये स्पष्ट हो गया है कि देवती ने एक बड़ी विजय प्राप्त किया है। कांग्रेस की इस जीत के बाद रायपुर के राजीव भवन में ढोल बजाकर जश्न मनाया गया। 12 सौ से अधिक कर्मचारियों व जवानों की छत्रछा
सिंधिया ने पीएम मोदी को लिखा पत्र; बाढ़ प्रभावितों के लिए जल्द मांगा 10 हज़ार करोड़ का राहत पैकेज

सिंधिया ने पीएम मोदी को लिखा पत्र; बाढ़ प्रभावितों के लिए जल्द मांगा 10 हज़ार करोड़ का राहत पैकेज

politics, मध्य प्रदेश
भोपाल (एजेंसी) | बारिश और बाढ़ से बुरी तरह से प्रभावित मध्य प्रदेश के मंदसौर, नीमच, ग्वालियर-चम्बल संभाग का दौरा करने बाद कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर जल्दी से जल्दी आर्थिक सहायता राशि जारी करने की अपील की है। सिधिंया ने प्रदेश में बाढ़ और बारिश से हुई तबाही को देखते हुए प्रदेश के लिए आर्थिक सहायता को जल्द जारी करने की मांग की है। सिंधिया ने मंदसौर में बाढ़ प्रभावित इलाके के दौरे के दौरान स्थानीय प्रशासन की कार्यशैली से भी नाखुशी जाहिर की थी। उन्होंने स्थानीय अधिकारियों को जैसा हुआ है, वैसी ही रिपोर्ट देने की हिदायत दी थी। साथ ही किसानों से कहा था कि वह सरकार की सर्वे रिपोर्ट को सही नहीं मानते हैं। सिंधिया ने पीएम मोदी को लिखे पत्र में कहा है, "जैसा कि आप को जानकारी है कि मध्य प्रदेश में अतिवृष्टि और बाढ़ से भारी तबाही मचाई है। प्रद