education - Page 2 of 4 - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

education

Exam Alert: छत्तीसगढ़ बोर्ड (CGBSE) परीक्षाओं के टाइम-टेबल जारी, 10वीं के 3.90 और 12वीं के 2.70 लाख विद्यार्थी होंगे शामिल

Exam Alert: छत्तीसगढ़ बोर्ड (CGBSE) परीक्षाओं के टाइम-टेबल जारी, 10वीं के 3.90 और 12वीं के 2.70 लाख विद्यार्थी होंगे शामिल

education, छत्तीसगढ़
रायपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ के स्टेट बोर्ड ने परीक्षाओं का एलान कर दिया है। मार्च 2020 में प्रदेश के स्कूलों के लाखों बच्चे जुट जाएंगे मिशन एग्जाम को फतह करने में। 2 मार्च से 12वीं और 3 मार्च से 10वीं कक्षाओं की परीक्षाएं होंगी। इन कक्षाओं के विषय वार परीक्षा की तरीखें तय कर दी गई हैं। गुरुवार को माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) ने परीक्षा की समय-सारणी जारी की। दसवीं और बारहवीं दोनों कक्षाओं के परीक्षा की शुरुआत प्रथम भाषा विशिष्ट जैसे हिंदी, अंग्रेजी, उर्दू, मराठी के साथ होगी। अमूमन परीक्षा 1 मार्च की तरीख से शुरू हो जाती है।  इस बार 1 मार्च 2020 को रविवार है, इसलिए परीक्षा 2 मार्च से शुरू होगी। माशिमं के अफसरों का कहना है कि परीक्षा केंद्रों का निर्धारण भी जल्द होगा। पिछली बार करीब ढ़ाई हजार केंद्रों पर बोर्ड परीक्षा हुई थी। बोर्ड परीक्षा के लिए आवेदन की प्रक्रिया खत्म हो चुकी है। दसवी
Job Alert: पूर्वी तट रेलवे अप्रेंटिस ट्रेनिंग के 1216 पद खाली, 6 जनवरी 2020 तक कर सकते हैं आवेदन

Job Alert: पूर्वी तट रेलवे अप्रेंटिस ट्रेनिंग के 1216 पद खाली, 6 जनवरी 2020 तक कर सकते हैं आवेदन

education, india
एजुकेशन डेस्क | पूर्वी तट रेलवे (East Coast Railway) ने अप्रेंटिस के 1,216 रिक्त पदों पर भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी किया है। जिसके लिए उचित योग्यता रखने वाले आवेदक 6 जनवरी 2020 तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आवेदकों का दसवीं पास होना जरूरी है, साथ ही उनके पास संबंधित ट्रेड में आईटीआई सर्टिफिकेट का होना भी जरूरी है। चयन के बाद आवेदकों की पोस्टिंग ईस्ट कोस्ट रेलवे के अंतर्गत आने वाले शहरों में होगी। महत्वपूर्ण तारीखें ऑनलाइन आवेदन शुरू होने की तारीख- 7 दिसंबर 2019 ऑनलाइन आवेदन करने की आखिरी तारीख- 6 जनवरी 2020 कुल रिक्त पद- 1216 आयुसीमा (28 दिसंबर 2019 को) न्यूनतम आयु- 15 साल अधिकतम आयु- 24 साल अधिकतम आयुसीमा में छूट एससी-एसटी आवेदक- 5 साल ओबीसी आवेदक- 3 साल दिव्यांग आवेदक- 10 साल न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता कम से कम 50% अंकों के साथ दसवीं कक्षा पास साथ में संबंधित ट्रेड मे
अब मोबाइल पर मिलेगी सरकारी व निजी नौकरियों की जानकारी, युवाओं की सुविधा के लिए शासन का मोबाइल एप

अब मोबाइल पर मिलेगी सरकारी व निजी नौकरियों की जानकारी, युवाओं की सुविधा के लिए शासन का मोबाइल एप

education, छत्तीसगढ़
रायपुर (एजेंसी) | प्रदेश में अब रोजगार पंजीयन कार्यालय निजी प्लेसमेंट एजेंसियों की तर्ज पर काम करेंगे। यही नहीं, नौकरी तलाश करने वाले युवाओं के लिए शासन दो हफ्ते के भीतर करियर मित्र के नाम से मोबाइल एप लांच करने जा रहा है। इस मोबाइल एप पर जॉब ढूंढने वाले और नौकरियां देने वाले एक प्लेटफॉर्म पर रहेंगे। प्राइवेट और सरकारी नौकरियों से जुड़ी तमाम जानकारियां ही नहीं, पीएससी, यूपीएससी, रेलवे, बैंक समेत केंद्र सरकार से जुड़ी नौकरियों का ब्योरा भी इस एप पर होगा। करियर मित्र की लांचिंग के साथ ही युवाओं को नौकरी के लिए अलग-अलग वेबसाइट पर जाने की जरूरत खत्म की जा रही है। यह एप्लीकेशन इस तरह डिजाइन हुई है, ताकि प्रदेश और देश ही नहीं, विदेशों में भी सेक्टर में कोई नौकरी होगी, उम्मीदवार सिर्फ क्लिक से उस नौकरी के लिए जरूरी आवेदन और डीटेल हासिल कर सकेंगे। इसी एप से अप्लाई भी किया जा सकेगा। करियर
छत्तीसगढ़ पीएससी: डिप्टी कलेक्टर, डीएसपी समेत 199 पदों के लिए निकली भर्ती, 1384 असिस्टेंट प्रोफेसर भी होंगे नियुक्त

छत्तीसगढ़ पीएससी: डिप्टी कलेक्टर, डीएसपी समेत 199 पदों के लिए निकली भर्ती, 1384 असिस्टेंट प्रोफेसर भी होंगे नियुक्त

education, छत्तीसगढ़
रायपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग ने राज्य सेवा परीक्षा-2019 के लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। इस बार 15 विभागों में 199 पदों के लिए भर्ती निकाली गई है। डिप्टी कलेक्टर के लिए 15 और डीएसपी के 30 पदों को निकाला गया है। इसके अलावा उच्च शिक्षा विभाग ने भी 1384 असिस्टेंट प्रोफेसरों के लिए भी भर्ती प्रक्रिया होगी। इससे पहले करीब 966 पदों के लिए असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए भर्ती प्रक्रिया हुई थी और इसमें से 524 पद खाली रह गए थे। इस बार सभी बैकलॉग पदों को मिलाकर उच्च शिक्षा विभाग ने बड़ी संख्या में भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। आयोग ने दोनों ही नोटिफिकेशन शनिवार को ही जारी किए हैं। आयोग ने पीएससी-2019 के लिए 6 दिसंबर से ऑनलाइन आवेदन मांगा है। आवेदन की अंतिम तिथि 4 जनवरी है। 7 से 13 जनवरी तक आवेदन में किसी तरह की त्रुटि सुधार कर सकेंगे। जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक प्रारंभिक
CGPSC: सिविल जज परीक्षा और परिणाम को हाईकोर्ट ने किया निरस्त, बिना फीस लिए दोबारा परीक्षा कराने के आदेश

CGPSC: सिविल जज परीक्षा और परिणाम को हाईकोर्ट ने किया निरस्त, बिना फीस लिए दोबारा परीक्षा कराने के आदेश

education, छत्तीसगढ़
बिलासपुर (एजेंसी) | बिलासपुर हाईकोर्ट ने शुक्रवार को बड़ा फैसला देते हुए छत्तीसगढ़ लोकसेवा आयोग (सीजीपीएससी) की सिविल जज परीक्षा और परिणाम को निरस्त करने का आदेश दिया है। साथ ही कोर्ट ने सीजीपीएससी को उन्हीं छात्रों की बिना फीस लिए दोबारा परीक्षा कराने के भी आदेश दिए हैं। इस परीक्षा को लेकर छात्रों की ओर से याचिका लगाई गई थी। इसमें कहा गया था कि आयोग की ओर से ली गई परीक्षा के अधिकांश प्रश्नों में त्रुटी थी। सुनवाई के बाद हाईकोर्ट की जस्टिस गौतम भादुड़ी की सिंगल बेंच ने यह फैसला दिया है। आयोग ने आंसर की पर आपत्ति मांगी, लेकिन बिना निराकर किए परिणाम जारी कर दिए दरअसल, छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग ने 6 फरवरी 2019 को विधि एवं विधायी कार्य विभाग के तहत सिविल जज के 39 पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन प्रकाशित किया था। इसके बाद 7 मई 2019 को ऑनलाइन प्रारंभिक परीक्षा का आयोजन किया गया। परीक्षा के अगले ही
आरक्षण पर स्टे: पीएससी को विभागाें ने नहीं दी खाली पदों की जानकारी, इसलिए 2019 जीरो ईयर

आरक्षण पर स्टे: पीएससी को विभागाें ने नहीं दी खाली पदों की जानकारी, इसलिए 2019 जीरो ईयर

education, छत्तीसगढ़
रायपुर (एजेंसी) | प्रदेश में नए आरक्षण फॉर्मूले के कारण इस साल पीएससी एक भी पद पर भर्ती नहीं कर पाएगा। भर्तियों के लिहाज से 2019 जीरो ईयर होने की कगार पर है। यानी डिप्टी कलेक्टर-डीएसपी से लेकर अन्य विभागों की परीक्षा के लिए तैयारी कर रहे युवा एक साल पिछड़ जाएंगे। इस स्थिति को देखते हुए पीएससी चेयरमैन केआर पिस्दा ने राज्यपाल अनुसुइया उइके से मुलाकात कर हस्तक्षेप करने की मांग रखी है, जिससे भर्तियों के आवेदन निकाले जा सकें। छत्तीसगढ़ पीएससी राज्य सेवा के खाली पदों को भरने हर साल 26 नवंबर को विज्ञापन जारी करने के साथ ही प्रक्रिया शुरू कर देता है। इन भर्तियों में करीब 11 महीने लगते हैं। इसके लिए सरकार के 54 विभागों से सितंबर-अक्टूबर मध्य तक पदों की मांग पीएससी को भेज दी जाती है। 2019 पीएससी के लिए विभागों ने रिक्तियों का प्रस्ताव पीएससी को नहीं भेजा है। इसका कारण 22 अक्टूबर से शैक्षणिक
रायपुर : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने बाल दिवस की बधाई दी, नेहरू जी को जयंती पर याद किया

रायपुर : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने बाल दिवस की बधाई दी, नेहरू जी को जयंती पर याद किया

education, india, special, छत्तीसगढ़
रायपुर एजेंसी | मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों विशेषकर बच्चों को को बाल दिवस की बधाई दी है। उन्होने अपने बधाई संदेश में कहा है कि भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू को बच्चे बहुत प्रिय थे, वे बच्चों को देश का भावी निर्माता मानते थे। बच्चे भी पंडित नेहरू से बहुत स्नेह रखते थे और उन्हें चाचा नेहरू कहकर पुकारते थे। इसी स्नेह और प्रेम के कारण हर वर्ष हम पंडित जवाहर लाल नहरू के जन्मदिन को बाल दिवस के रूप में मनाते हैं। श्री बघेल ने कहा कि बाल दिवस बच्चों के लिए समर्पित दिन है। इस दिन को भावी पीढ़ी और राष्ट्र के भविष्य निर्माण के रूप में लें। सभी लोग बच्चों के पोषण, शिक्षा, विकास और चरित्र निर्माण के लिए सोचें और आवश्यक कदम उठाएं। श्री बघेल ने कहा कि बच्चों में कुपोषण विश्व की एक बड़ी समस्या है। कमजोर नींव पर मजबूत इमारत खड़ी नहीं हो सकती। कमजोर और कुपोषित बच्चों से ह
मुख्यमंत्री की घोषणा: जांजगीर-चांपा जिले में बनेंगी चार नयी तहसीलें, बम्हनीडीह, सारागांव, बाराद्वार और अड़भार को मिलेगा तहसील का दर्जा

मुख्यमंत्री की घोषणा: जांजगीर-चांपा जिले में बनेंगी चार नयी तहसीलें, बम्हनीडीह, सारागांव, बाराद्वार और अड़भार को मिलेगा तहसील का दर्जा

education, छत्तीसगढ़
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज जांजगीर के पटेल उद्यान में लौह पुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल की 144वीं जयंती के अवसर पर उनकी प्रतिमा के अनावरण समारोह को संबोधित करते हुए जांजगीर-चांपा जिले में चार नई तहसीलों की घोषणा की। उन्होंने कहा कि बम्हनीडीह, बाराद्वार, सारागांव और अड़भार को तहसील का दर्जा मिलेगा। मुख्यमंत्री ने सरदार वल्लभ भाई पटेल को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि आजादी के बाद भारत की देशी रियासतों का एकीकरण एक चुनौती थी, किन्तु इस चुनौती को स्वीकार कर सरदार वल्लभ भाई पटेल ने रियासतों के एकीकरण का काम सफलतापूर्वक किया जो उनके राजनैतिक जीवन की ऐतिहासिक और महत्वपूर्ण राष्ट्रीय उपलब्धि है। समारोह की अध्यक्षता विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कुर्मी क्षत्रिय समाज की मांग पर जांजगीर जिला मुख्यालय में एक सर्वसुविधा युक्त सामुदायिक भवन क
रायपुर : छत्तीसगढ़ में पहली बार राज्य स्तरीय प्लेसमेंट कैंप का आयोजन 21 अक्टूबर को

रायपुर : छत्तीसगढ़ में पहली बार राज्य स्तरीय प्लेसमेंट कैंप का आयोजन 21 अक्टूबर को

education, छत्तीसगढ़
रायपुर. छत्तीसगढ़ के युवाओं को राष्ट्रीय स्तर पर राष्ट्रीय स्तर की कम्पनियों में रोजगार उपलब्ध कराने राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में पहली बार राज्य स्तर पर प्लेसमेंट कैंप का आयोजन किया जा रहा है। यह प्लेसमेंट कैंप रायपुर सेजबहार स्थित शासकीय इंजीनियरिंग महाविद्यालय में 21 अक्टूबर 2019 को किया जाएगा। तकनीकी शिक्षा संचालनालय द्वारा शासकीय इंजीनियरिंग महाविद्यालय के अधिक से अधिक विद्यार्थियों का प्लेसमेंट राष्ट्रीय एवं राज्य स्तरीय प्रतिष्ठित कंपनियों में करवाने हेतु अवसर प्रदान करने के लिए राज्य स्तरीय प्लेसमेंट कैंप का आयोजन किया जा रहा है। राज्य के तीन शासकीय इंजीनियरिंग महाविद्यालय रायपुर, बिलासपुर एवं जगदलपुर में तीन हजार 370 विद्यार्थी अध्ययनरत हैं। सत्र 2018-19 में तीनों शासकीय इंजीनियरिंग महाविद्यालय रायपुर से 82, बिलासपुर से 15 एवं जगदलपुर से मात्र 13 विद्यार्थियों का कैंपस प्लेसमे
रायपुर : बच्चों के लिए 46वीं जवाहर लाल नेहरू राष्ट्रीय विज्ञान गणित एवं पर्यावरण प्रदर्शनी लोगों के आकर्षण का केन्द्र बनी हुई है

रायपुर : बच्चों के लिए 46वीं जवाहर लाल नेहरू राष्ट्रीय विज्ञान गणित एवं पर्यावरण प्रदर्शनी लोगों के आकर्षण का केन्द्र बनी हुई है

education, छत्तीसगढ़
रायपुर. बच्चों के लिए 46वीं जवाहर लाल नेहरू राष्ट्रीय विज्ञान गणित एवं पर्यावरण प्रदर्शनी लोगों के आकर्षण का केन्द्र बनी हुई है। यहां देशभर से आए बाल वैज्ञानिकों ने जीवन की चुनौतियों के समाधान को मॉडल के माध्यम से अपनी सोच के आधार पर प्रस्तुत किया है। शंकर नगर बीटीआई मैदान में आयोजित चलित विज्ञान प्रदर्शनी का रायपुर, सूरजपुर, तिल्दा-नेवरा आदि जगहों के स्कूलों से 700 बच्चों ने अवलोकन किया। प्रदर्शनी का मुख्य विषय ‘‘जीवन में चुनौतियों के लिए वैज्ञानिक समाधान’’ है। मॉडल एवं प्रादर्शो का प्रदर्शन छह भागों-कृषि एवं जैविक खेती, स्वास्थ्य एवं स्वच्छता, संसाधन प्रबंधन, अपशिष्ट प्रबंधन, परिवहन और संचार तथा गणितीय प्रतिरूपण में किया गया है। छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले से प्रस्तुत प्रादर्श जिसमें हाथी के आक्रमण से बचाव के उपाय सुझाए गए है आर्कषण का केंद्र रहा। उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ के कोरबा, ज