chhattisgarh

स्काई मोबाइल योजना: 6 लाख मोबाइल का क्या होगा, 3 दिन में बताएंगे सीएस

स्काई मोबाइल योजना: 6 लाख मोबाइल का क्या होगा, 3 दिन में बताएंगे सीएस

chhattisgarh
रायपुर (एजेंसी) | स्काय मोबाइल योजना के छह लाख मोबाइल फोन का क्या होगा, तीन दिन के भीतर मुख्य सचिव सुनील कुजुर को इसकी समीक्षा कर रिपोर्ट देने के लिए कहा गया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सूचना प्रौद्योगिकी विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान कहा कि इन मोबाइलों का क्या उपयोग किया जा सकता है इसकी उपयोगिता क्या हो सकती है इस पर चर्चा की गई। इसके अलावा बघेल ने कहा कि आईटी से लोगों का जनजीवन सरल बनाने की दिशा में प्रयास करना चाहिए। व्यापक पारदर्शिता के लिए सभी निर्माण कार्यों की जानकारी ऑनलाइन किए जाएं। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); 50 लाख मोबाइल बांटने की योजना में खर्च होने थे लगभग 14 सौ करोड़ स्काई योजना के अंतर्गत महिलाओं और स्टूडेंट्स को 50 लाख मोबाइल बांटने थे। यह योजना पहले से ही कांग्रेस के निशाने पर थी। कांग्रेस ने मोबाइल चार्ज करते समय गर्म होने औ
मुख्यमंत्री ने सोनाखान की लीज पर रोक के साथ-साथ डीएमएफ फंड के ढाई हजार करोड़ के काम पर भी लगाई रोक

मुख्यमंत्री ने सोनाखान की लीज पर रोक के साथ-साथ डीएमएफ फंड के ढाई हजार करोड़ के काम पर भी लगाई रोक

chhattisgarh
रायपुर (एजेंसी) | भूपेश सरकार ने सोनाखान की लीज पर रोक लगा दिया है। यह फैसला सीएम बघेल ने खनिज विभाग की समीक्षा बैठक में लिया। साथ ही बघेल ने डिस्ट्रिक्ट मिनरल फाउंडेशन (डीएमएफ) फंड के ढाई हजार करोड़ के काम पर भी रोक लगा दी है। उन्होंने शहीद वीर नारायण सिंह की धरती को खोदने की अनुमति देने पर हैरानी जताते हुए खनन लीज की जांच के निर्देश दिए। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); आपको बता दे सोनाखान में हुई इस नीलामी को देश में सोने की किसी खान की पहली नीलामी बताया गया था। अब विभाग रिपोर्ट तैयार कर सरकार को देगा, इसके बाद तय होगा कि खान में माइनिंग होगी या नहीं। पिछले साल ही सोनाखान में माइनिंग की नीलामी हुई थी। दावा किया गया था ये सरकार की सबसे महंगी नीलामी है। वेदांता को करीब 600 करोड़ में माइनिंग लीज दी गई। अनुमान के मुताबिक सोनाखान में 2700 किलो स्वर्ण भंडार है
वार्षिक परीक्षा के लिए रविवि को मिले एक लाख आवेदन 

वार्षिक परीक्षा के लिए रविवि को मिले एक लाख आवेदन 

chhattisgarh
रायपुर (एजेंसी) | पं.रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय की वार्षिक परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया पिछले 15 दिनों से चल रही है। रविवि को अब तक करीब एक लाख आवेदन मिले हैं। बीए के लिए सबसे अधिक फार्म आए हैं। बीए प्रथम, द्वितीय व तृतीय वर्ष की परीक्षा के लिए करीब 53 हजार छात्रों ने आवेदन किया है। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); बीएससी में यह संख्या 21 हजार और बीकॉम में करीब 16 हजार है। पिछली बार रविवि को वार्षिक परीक्षा के लिए 1.38 लाख छात्रों के आवेदन मिले थे। विवि के अफसरों का अनुमान था कि इस बार आवेदन की संख्या बढ़कर 1.50 लाख तक होगी।वार्षिक परीक्षा के लिए पिछली बार भी बीए में सबसे अधिक परीक्षार्थी थे। बीए प्रथम वर्ष के छात्रों की संख्या ही 35 हजार से अधिक थी। बीए के तीनों वर्ष मिलाकर करीब 70 हजार परीक्षार्थी थे। इस बार 53 हजार छात्र परीक्षा के लिए ऑ
छत्तीसगढ़ में स्कूलों में मोबाइल बैन पर सख्ती, अगर बच्चों के पास फोन मिला तो प्रबंधन की होगी जिम्मेदारी

छत्तीसगढ़ में स्कूलों में मोबाइल बैन पर सख्ती, अगर बच्चों के पास फोन मिला तो प्रबंधन की होगी जिम्मेदारी

chhattisgarh
रायपुर (एजेंसी) | स्कूलों में मोबाइल बैन पर सख्ती शुरू हो गई है। अब शिक्षा विभाग की टीम अचानक स्कूलों में पहुंचकर बच्चों के बैग की जांच करेगी। किसी भी स्कूल के बच्चे के पास मोबाइल मिलने पर प्रबंधन से जवाब तलब किया जाएगा। अफसरों का कहना है कि स्कूल को यह तय करना है कि बच्चे मोबाइल लेकर न आएं। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); इसके लिए वे उन्हें समझाइश दें। साथ ही पैरेंट्स से भी बात करें। शिक्षा विभाग 12वीं तक की कक्षाओं के छात्रों के लिए मोबाइल बैन है। इसके बावजूद शिक्षा विभाग के अफसरों को लगातार शिकायत मिल रही है कि कई स्कूलों में बच्चे मोबाइल लेकर आ रहे हैं। मोबाइल के उपयोग से बच्चों की पढ़ाई पर असर पड़ रहा है। उन शिकायतों के बाद ही सरकारी और प्राइवेट स्कूल प्रबंधन को पत्र जारी किया गया है। चिट्ठी में ये भी स्पष्ट कर दिया गया है कि अफसरों की एक टीम मोब
कंपनी को लौटाए जाएंगे स्काई योजना के 6 लाख शेष मोबाइल, मजदूरों को मिलने वाले 1 लाख टिफिन हैं डंप

कंपनी को लौटाए जाएंगे स्काई योजना के 6 लाख शेष मोबाइल, मजदूरों को मिलने वाले 1 लाख टिफिन हैं डंप

chhattisgarh
रायपुर (एजेंसी) | भूपेश सरकार ने स्काई योजना बंद करने के बाद अब कंपनी से खरीदे गए मोबाइल उसे लौटाने की तैयारी कर ली है। मोबाइल करीब 6 लाख हैं। इसलिए सरकार ने कंपनी का करीब 1300 करोड़ रुपए का भुगतान रोक दिया है। स्काई पिछली भाजपा सरकार की महत्वाकांक्षी योजना थी। कनेक्टिविटी बढ़ाने और 10 हजार लोगों को रोजगार मिलने के दावे के साथ इसे शुरू किया गया था। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); विधानसभा चुनाव से पहले 29 लाख से अधिक हैंडसेट बांटे गए, 6 लाख माइक्रोमैक्स कंपनी के गोदाम में रखे हैं। साथ ही मनरेगा मजदूरों को मुफ्त में टिफिन देने की पंचायत विभाग की योजना भी अधर में है। इसके तहत ऐसे मजदूर जिन्होंने वर्ष 2016 में कम से कम 30 दिन काम किया हो चार डिब्बे वाला टिफिन मिलना था। इनकी संख्या करीब 10.85 लाख है। खर्च करीब 1500 करोड़ रुपए होना था, प्रदेश की 50.15 लाख म
गोंडवाना महोत्सव में बिखरी छत्तीसगढ़ की छटा

गोंडवाना महोत्सव में बिखरी छत्तीसगढ़ की छटा

chhattisgarh
रायपुर (एजेंसी) | राजधानी के शंकर नगर स्थित बीटीआई ग्राउंड में शुक्रवार को गोंडवाना महोत्सव का आयोजन किया गया है। बिहान लोक कला मंच के करीब 22 कलाकारों ने यहां सांस्कृतिक कार्यक्रमों के जरिए छत्तीसगढ़ी संस्कृति को दिखाया।  इसके साथ ही तरह-तरह के बस्तर लोक कला और व्यंजनों का लुफ्त भी उठा सकते है। https://www.youtube.com/watch?v=_iUwqnNKZYw मंच के अध्यक्ष रोहित कोसरिया ने बताया कि दल को इससे पहले तीन बार राज्य स्तरीय पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});
सीएम भूपेश की बड़ी घोषणा, छत्तीसगढ़ में पूरी तरह से आउटसोर्सिंग होगी बंद 

सीएम भूपेश की बड़ी घोषणा, छत्तीसगढ़ में पूरी तरह से आउटसोर्सिंग होगी बंद 

chhattisgarh
रायपुर (एजेंसी) | मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने साफ कर दिया है कि अब प्रदेश में आउट सोर्सिंग के माध्यम से किसी भी तरह की कोई नियुक्ति नहीं होगी। भाजपा की रमन सिंह की सरकार ने अमूमन सभी विभागों में प्लेसमेंट एजेंसियों के माध्यम से आउट सोर्सिंग करके दूसरे राज्यों के युवाओं को रोजगार दिलाया। लेकिन कांग्रेस की सरकार में अब आउट सोर्सिंग बिलकुल नहीं होगी। किसी भी विभाग में प्लेसमेंट एजेंसी के माध्यम से नियुक्तियां नहीं की जाएंगी। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); सीएम बघेल ने कांग्रेस भवन में मीडिया से कहा कि प्लेसमेंट एजेंसी के माध्यम से आउट सोर्सिंग का फायदा बिचौलियों ने उठाया है। बीच में बैठे हुए लोगों ने कमिशन खोरी करके करोड़ों रुपए का वारा न्यारा किया है। इसका फायदा भी बाहरी राज्य के लोगों को हुआ। रमन सिंह की सरकार में उच्च पद से लेकर निचले पद तक में आउट सोर्सिं
मगरमच्छ ‘गंगाराम’ जो खाता था दाल-चावल, 125 साल बाद मरा तो अंतिम विदाई में रोया पूरा गांव

मगरमच्छ ‘गंगाराम’ जो खाता था दाल-चावल, 125 साल बाद मरा तो अंतिम विदाई में रोया पूरा गांव

chhattisgarh
बेमेतरा (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ के बेमेतरा जिले में एक गांव है बवामोहतरा। यहां तालाब में रहने वाले मगरमच्छ की मौत हुई तो पूरा गांव रो पड़ा। गांव के तालाब में रहने वाले 'गंगाराम' नाम के मगरमच्छ से लोगों काआत्मीय रिश्ता था। लोग गंगाराम को घर से लाकर दाल चावल भी खिलाते थे और वह बड़े चाव से खाता था। मंगलवार को गंगाराम की मौत हो गई, जिसके बाद पूरा गांव उसके अंतिम दर्शन के लिए उमड़ पड़ा। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); मंगलवार सुबह अचानक गंगाराम पानी के ऊपर आ गया। जब मछुआरों ने पास जाकर देखा तो गंगाराम की सांसे थम चुकी थी। जिसके बाद पूरे गांव में मुनादी करवाई गई। गंगाराम का शव तालाब से बाहर निकाला गया। ग्रामीणों ने सजा-धजाकर ट्रैक्टर पर उसकी अंतिम यात्रा निकाली। उसे श्रद्धा सुमन अर्पित करने लोगों का तांता लग गया। दूर-दूर से लोग गंगाराम के अंतिम दर्शन के लिए पहुंचे।
छत्तीसगढ़ में सीबीआई बैन; आंध्रप्रदेश और पश्चिम बंगाल के बाद अब छत्तीसगढ़ सरकार ने वापस ली सहमति

छत्तीसगढ़ में सीबीआई बैन; आंध्रप्रदेश और पश्चिम बंगाल के बाद अब छत्तीसगढ़ सरकार ने वापस ली सहमति

chhattisgarh
रायपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ में राज्य सरकार ने सीबीआई को बैन कर दिया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर गृह विभाग ने गुरुवार को केंद्रीय कार्मिक, जनशिकायत एवं पेंशन मामले तथा केंद्रीय गृह मंत्रालय को पत्र भेजकर कहा है कि प्रदेश का गृह विभाग सीबीआई के संबंध में वर्ष 2001 में केंद्र को दी गई सहमति वापस लेता है, जिसके तहत केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा सीबीआई को छत्तीसगढ़ में प्रकरणों की जांच के लिए अधिकृत करने की अधिसूचना जारी की गई थी। इससे पहले आंध्रप्रदेश और पश्चिम बंगाल सरकार ने अपने-अपने राज्य में सीबीआई की एंट्री बैन कर दी थी। Chhattisgarh govt requests central govt that 'the CBI be instructed not to exercise jurisdiction for investigation of any fresh matter' in the state. The Home Department of the state govt has withdrawn its consent given to the centre, in 2001. pic.twitte
दूसरी पत्नी मिक्की मेहता की मौत के मामले में डीजी मुकेश गुप्ता के खिलाफ होगी जांच, सीएम ने सदन में की घोषणा

दूसरी पत्नी मिक्की मेहता की मौत के मामले में डीजी मुकेश गुप्ता के खिलाफ होगी जांच, सीएम ने सदन में की घोषणा

chhattisgarh
रायपुर (एजेंसी) | मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने डीजी मुकेश गुप्ता के खिलाफ जांच के आदेश दे दिए हैं। बघेल ने गुरुवार को सदन में इसकी घोषणा करते हुए कहा कि जांच अधिकारी की नियुक्ति जल्द की जाएगी। पूर्व गृहमंत्री मंत्री और भाजपा विधायक ननकीराम कंवर ने बुधवार को मुख्यमंत्री से मिलकर गुप्ता के खिलाफ जांच की मांग करते हुए एक पत्र सौंपा था। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); पत्र में मिक्की मेहता की मौत की जांच की मांग की गई थी जो मुकेश गुप्ता की दूसरी पत्नी थीं। गुप्ता ने मिक्की से गंधर्व विवाह किया था। राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा का जवाब देते हुए बघेल ने पूर्व सीएम रमन सिंह और उनकी कार्यशैली पर जमकर हमले किए। बघेल ने कहा कि आपके (रमन) मंत्री रहे कंवर ने आपसे एक अधिकारी की शिकायत की थी। लेकिन आपने उसे रद्दी की टोकरी में डाल दिया। आपने उनका सम्मान नहीं किया, लेकिन