बीजापुर में बाढ़ में फंसे सभी 13 ग्रामीणों का रेस्क्यू, रायपुर और बिलासपुर संभाग में आज भी भारी बारिश - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

बीजापुर में बाढ़ में फंसे सभी 13 ग्रामीणों का रेस्क्यू, रायपुर और बिलासपुर संभाग में आज भी भारी बारिश

जगदलपुर (एजेंसी) | राजधानी रायपुर समेत प्रदेश के कई जिलों में पिछले 24 घंटों से भारी बारिश जारी है। बीजापुर में गुरूवार को 78.9 एमएम बारिश हुई, जिसमें सबसे ज्यादा बारिश भैरमगढ़ ब्लॉक में 165 एमएम बारिश दर्ज की गई। ऐसे में यहां बहने वाले गुडरा नाले में बाढ़ के चलते 15 ग्रामीण रातभर फंसे रहे। इन ग्रामीणों को गुरूवार को रेस्क्यू कर लिया गया है।

तहसीलदार विनोद साहू ने बताया कि मंगनार के ये ग्रामीण बुधवार को शिकार खेलने बारसूर गए हुए थे। शिकार से वापस लौटने के दौरान अचानक भारी बारिश हुई और गुडरा नाला उफान पर आ गया। द्रोणिका की वजह से रायपुर और बिलासपुर संभाग में कुछ जगहों पर भारी बारिश की चेतावनी है।

राज्य के शेष हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश होने का अनुमान

राजधानी में दो दिन से लगातार हो रही बारिश से शुक्रवार को भी जारी रहेगी। पिछले 24 घंटे के दौरान बालोद में सबसे ज्यादा 300 मिमी पानी गिर गया, वहीं राजधानी में भी इस दौरान 184 मिमी पानी बरसा। माना एयरपोर्ट में भी 230 मिमी पानी रिकॉर्ड किया गया। उत्तरी छत्तीसगढ़ में बना अवदाब तो आगे बढ़ते हुए कमजोर हो रहा है, लेकिन द्रोणिका की वजह से रायपुर और बिलासपुर संभाग में कुछ जगहों पर भारी बारिश की चेतावनी है। राज्य के शेष हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश होने का अनुमान है। राज्य के अधिकांश हिस्सों में पिछले दोे दिन से बारिश हो रही है। तीन दिन पहले तक राज्य में बारिश की कमी औसत से 10 फीसदी तक थी, जो अब घटकर महज दोे फीसदी रह गई है।

रायपुर में नालियां भरीं, गंदा पानी लोगों के घरों में भरा

बारिश की वजह से राजधानी के इलाकों में जलभराव की स्थिति पैदा हो गई है। नालियां पूरी तरह पानी से लबालब हैं। जिससे गंदा पानी सड़कों पर बह रहा है। भारी बारिश ने नगर निगम की पोल खोलकर रख दी है। कई इलाकों में तो लोगों के घरों में भी पानी भर गया है। एयरपोर्ट मार्ग, जलविहार कॉलोनी, प्रोफेसर कॉलोनी, गांधी नगर, न्यू शांति नगर के कई जगहों पर पानी भराव से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा है। अभी भी जलभराव की स्थिति बनीं हुई है।

गरियाबंद में नहर का पानी घरों में भरा, दंतेवाड़ा में आधी रात कन्या आश्रम में चला रेस्क्यू ऑपरेशन

गरियाबंद के देवभोग में लगातार दो दिनों से मूसलाधार बारिश हो रही है। कई गांव में यातायात पूरी तरह ठप हो गया है। यहां खेतों से बहकर आने वाला पानी 100 से ज्यादा घरों में भर गया है। दरअसल सिंचाई विभाग द्वारा साल भर पहले उरमाल जलप्लावन के साखा नहर बनाया गया, जिसे गांव के मुहाने पर लाकर छोड़ दिया गया था। अब खेतों का पानी उसी नहर से होकर बस्ती तक पहुंच गया है। दंतेवाड़ा में हो रही बारिश से बच्चों को आधी रात सुरक्षित लोहंडीगुड़ा के कन्या आश्रम से निकाला गया। सभी बच्चे  सुरक्षित हैं। उन्हें पास के माध्यमिक स्कूल में शिफ्ट किया गया है। जगदलपुर में बारिश के चलते मकान गिरने से दो लोगों की मौत हो गई है।

ओडिशा तक बने गहरे अवदाब के कारण तेज बारिश

मौसम विभाग के अनुसार, बंगाल की खाड़ी से ओडिशा तक बने गहरे अवदाब के कारण बारिश हो रही है। वहां बनी द्रोणिका अब धीरे-धीरे छत्तीसगढ़ की ओर बढ़ रही है। बीजापुर, दंतेवाड़ा और सुकमा में बारिश आफत बन चुकी है। बीजापुर में सामान्य से 87 फीसदी ज्यादा बारिश हो चुकी है। जबकि दंतेवाड़ा और सुकमा में 41 व 68 फीसदी ज्यादा बारिश दर्ज की गई। रायपुर में 24 घंटों के दौरान 183.8 मिमी बारिश हुई है। फिर भी इस मानसून अब तक 44 फीसदी कम बारिश हुई है।

मौसम विभाग ने बुधवार को राजधानी रायपुर समेत कई जिलों में रेड अलर्ट जारी किया था। जिन जिलों के लिए अलर्ट है, उनमें रायपुर, बलौदा बाजार, महासमुंद, धमतरी, नारायणपुर, बस्तर, बीजापुर दंतेवाड़ा और सुकमा शामिल हैं। मौसम विभाग की माने तो पूरे राज्य में अच्छी बारिश होने की संभावना है। राज्य के अलग-अलग जिलों में खासकर छत्तीसगढ़ के मध्य क्षेत्र के इलाकों में अच्छी बारिश देखने को मिलेगी।

Leave a Reply