Chhattisgarh

बिलासपुर: ग्रामीणों ने सिम्स में 5 घंटे हंगामा किया, पुलिस-डॉक्टर पर मिलीभगत का आरोप, फिर हुआ पोस्टमाॅर्टम

बिलासपुर | छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में सकरी थाने के करीब ग्राम संबलपुर में अधेड़ का शव मिलने के बाद सिम्स में शुक्रवार को दोबारा पोस्टमाॅर्टम कराया गया। इस दौरान परिजन और ग्रामीणों ने 5 घंटे तक हंगामा मचाया। आरोप था कि सकरी थाने की पुलिस और सिम्स के डॉक्टर आरोपियों से मिले हुए हैं।

पुलिस ने एक मुख्य संदेही को पकड़ लिया है। हालांकि, इसकी पुष्टि नहीं की है। पुलिस ने परिजनों को आश्वासन दिया कि पूरे मामले की निष्पक्ष जांच की जाएगी। शाम को मृतक का अंतिम संस्कार कर दिया गया।

धमकी मिली थी हत्या की, फिर थाने के पास 13 फरवरी को मिला शव

सकरी पुलिस थाना के ग्राम संबलपुर निवासी राधेश्याम साहू का शव गुरुवार को थाने के करीब ही मिला था। मृतक के माथे, गले व हाथ पर चोट के निशान थे। परिजन ने हत्या का आरोप लगाते हुए गांव के ही कुछ लोगों के नाम पुलिस को बताए थे। जिनके नाम पुलिस को बताए गए वह युवक के बड़े भाई हरिनारायण साहू की हत्या के आरोप में जेल जा चुके हैं और जमानत पर छूटे हुए हैं। राधेश्याम साहू के परिजन और ग्रामीणों ने दोबारा पोस्टमाॅर्टम कराने और संदेहियों की गिरफ्तारी को लेकर गुरुवार को भी प्रदर्शन किया था।

आरोपियों को दो फांसी या करो हमारे हवाले

महिला ने बताया कि मेरे जेठ की हत्या के बाद जब आरोपी जेल से छूटकर आए तो हमें हत्या करने की धमकी देने लगे। हमने पुलिस से मदद मांगी पर नहीं मिली। आरोपी एक भाजपा नेता की धमकी देते हैं। मेरे पति की हत्या में राजाराम यादव, रघु यादव, सोहन यादव, मोहन यादव व उसके परिवार का हाथ हैं।

पुलिस का कुत्ता भी उसी के घर के सामने जाकर रुका था। डॉ. धर्मेन्द्र ने भी गलत रिपोर्ट देते हुए कह दिया कि हार्ट अटैक से मौत हुई है। हमें न्याय चाहिए । या तो आरोपियों को फांसी की सजा हो या फिर उन्हें हमारे हवाले किया जाए।

Leave a Reply